Chief Ministers Property: अरविंद केजरीवाल, योगी आदित्यनाथ और भगवंत मान सब करोड़पति, जानिए सबसे कम संपत्ति वाले 9 मुख्यमंत्रियों के नाम

शेयरों का चुनाव- India TV Hindi

आर्नोल्ड होल्डिंग्स लिमिटेड

आर्नोल्ड होल्डिंग्स लिमिटेड (Arnold Holdings) वित्त (एनबीएफसी क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न सहित) क्षेत्र की कंपनी है। कंपनी का कुल मूल्यांकन (मार्केट वैल्यू) क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न ₹69 करोड़ है। कंपनी के एक शेयर की कीमत बीएसई बाजार में आज ₹23.50 है और एनएसई बाजार में आज लिस्टेड नहीं है। कंपनी की स्थापना वर्ष 1981 में की गई थी।

कंपनी द्वारा प्रदान की गई रिपोर्ट के अनुसार अंतिम वर्ष की कुल आय क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न 24.139 करोड़ रुपये रही तथा कुल बिक्री 24.131 करोड़ रुपये क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न रही । कंपनी का शुद्ध लाभ 1.565 करोड़ रुपये रहा। आर्नोल्ड होल्डिंग्स लिमिटेड ने चालू वर्ष में -0.559 करोड़ रुपये टैक्स का भुगतान किया हे।

Tags: Arnold Holdings Share Price, एनएसई लिस्टेड नहीं, आर्नोल्ड होल्डिंग्स लिमिटेड Share Price, एनएसई आर्नोल्ड होल्डिंग्स लिमिटेड

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल इस शेयर में आई तेज क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न गिरावट, जानिए आपको क्या करना चाहिए

Share Market Latest News 4 Feb 2022

Share Market Latest News 4 Feb 2022: दोपहर के कारोबार में सेंसेक्स में करीब 230 प्वाइंट की गिरावट के साथ 58,560 के स्तर पर कारोबार करते हुए देखा गया. वहीं निफ्टी में 50 प्वाइंट की गिरावट के साथ 17,510 के स्तर पर कारोबार दर्ज किया गया. पिछले सत्र के दौरान तेज गिरावट के बाद शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में भारतीय शेयर स्थिर कारोबार कर रहे थे. गुरुवार की गिरावट सप्ताह के पहले बड़े लाभ के बाद निवेशकों द्वारा मुनाफावसूली के कारण थी. सुबह 09.37 बजे, सेंसेक्स 58,790 अंक पर, निफ्टी 17,565 अंक पर कारोबार कर रहा था. बता दें कि आज टाइटन (Titan) में सबसे ज्यादा 1.39 फीसदी की गिरावट दर्ज की क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न गई.

Infosys Dividend : ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता मूर्ति को इन्फोसिस के अंतरिम डिविडेंड से होगी 64 करोड़ की कमाई

Updated: October 28, 2022 10:25 AM IST

Britain PM Rishi Sunak Wife Akshata Murty to earn Rs 64 Crores from Infosys Interim Dividend.

Infosys Dividend : भारतीय आईटी कंपनी इन्फोसिस लिमिटिड ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए अपने शेयरधारकों को 16.50 रुपये प्रति शेयर का डिविडेंड देने की घोषणा की है. इसका मतलब है कि 28 अक्टूबर तक जिसके पास इन्फोसिस के शेयर होंगे उन्हें इस अंतरिम डिविडेंड का लाभ दिया जाएगा.

Also Read:

इन्फोसिस के इस अंतरिम डिविडेंड से काफी बड़ी संख्या में शेयरधारकों को लाभ मिलेगा. इन्फोसिस के इस अंतरिम डिविडेंड से ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता मूर्ति भी लाभान्वित होंगी. शेयर होल्डिंग पैटर्न के हिसाब से सितंबर में समाप्त तिमाही तक अक्षता मूर्ति के पास कुल 38957096 शेयर हैं, जो कुल कैपिटल का 1.07 फीसदी है.

इन्फोसिस के डिविडेंड से अक्षता मूर्ति को होने वाली आय

इन्फोसिस ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 16.50 रुपये प्रति शेयर अंतरिम डिविडेंड का एलान किया है. ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता मूर्ति के पास कंपनी के 3, 89, 57, 096 शेयर हैं. इन्फोसिस के इस अंतरिम डिविडेंड से अक्षता मूर्ति की इनकम 64,27,92,084 रुपये होगी.

स्टॉक मार्केट एक्सचेंज को सूचित करते हुए इन्फोसिस ने बताया कि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में हमने 16.50 रुपये प्रति शेयर का डिविडेंड देने का फैसला किया है. जिसकी रिकॉर्ड तिथि 28 अक्टूबर है, जिसका भुगतान 10 नवंबर तक किया जाएगा.

बता दें, ब्रिटिश के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता मूर्ति इन्फोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी हैं. उनका इन्फोसिस में 1.07 फीसदी स्टेक है. ऋषि सुनक ब्रिटिस नागरिक हैं और उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति भारतीय नागरिक हैं. ब्रिटेन की नागरिक नहीं होने की वजह से अक्षता मूर्ति ब्रिटेन में बिना टैक्स दिए 15 साल तक विदेशों से पैसे कमा सकती हैं.

Rakesh Jhunjhunwala ने अपने पोर्टफोलियो की इस कंपनी के फिर खरीदे 11 लाख शेयर, 6 महीने में दे चुका है 40 फीसदी रिटर्न

Rakesh Jhunjhunwala ने अपने पोर्टफोलियो की इस कंपनी के फिर खरीदे 11 लाख शेयर, 6 महीने में दे चुका है 40 फीसदी रिटर्न

फोर्ब्स के मुताबिक राकेश झुनझुनवाला की संपत्ति 5.9 बिलियन डॉलर है। (फोटो क्रेडिट: ब्लूमबर्ग)

भारतीय शेयर बाजार के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला ने अपने ही पोर्टफोलियो के एक मल्टीबैगर शेयर में हिस्सेदारी बढ़ाई है। 18 फरवरी को स्टॉक एक्सचेंज से मिली शेयरहोल्डिंग पैटर्न की जानकारी के मुताबिक वाणिज्यिक वाहन बनाने वाली कंपनी एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के राकेश झुनझुनवाला के पास 75 लाख शेयर है। यह कंपनी उनके पोर्टफोलियो में 2015 से है।

5. कंपनी के ऊपर कर्ज का आकलन

शेयर मार्केट में शेयर चुनते समय कंपनी के ऊपर कितना कर्ज यह जरूर देखना चाहिए। अगर किसी कंपनी के ऊपर ज्यादा कर्ज हैं तो उसे बहुत ज्यादा ब्याज होगा। इसलिए आप जिस शेयर में इन्वेस्टमेंट कर रहे हो उस कंपनी के ऊपर कम से कम कर्ज होना चाहिए। एक कर्ज मुक्त कंपनी को आप ज्यादा तवज्जो देना क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न चाहिए। एक निवेशक के तौर पर आप कंपनी का Debt-Equity Ratio देख सकते हैं। Debt-Equity Ratio अगर 1 से कम हो तो अच्छा माना जाता है। यह रेश्यो अगर जीरो हो तो यह एक आदर्श रेश्यो माना जाता हैं।

जिन कंपनियों की वित्तीय हालत अच्छी होती है और लाभ कमाती हैं। वह अपने शेयर होल्डर्स को लाभांश का भुगतान करती है। शेयर की प्राइस में इजाफे के साथ-साथ नियमित आय के रूप में डिविडेंड को भी महत्व देना चाहिए। किसी शेयर का चुनाव करते समय उस कंपनी के पिछले 5 सालों के डिविडेंड भुगतान का रिकॉर्ड देखें।

7. मजबूत मैनजमेंट का चयन

किसी भी कंपनी का मैनेजमेंट उस कंपनी की आत्मा माना जाता है। एक अच्छा मैनेजमेंट कंपनी के भविष्य को अधिक उज्जवल बना सकता है जबकि अक्षम मैनेजमेंट अच्छी कंपनी को भी नीचे की ओर ला सकता है। इसलिए आप Share Select करते समय कंपनी के मैनेजमेंट के बारे में सही जानकारी जरूर हासिल करें।

शेयर चुनने से पहले Share Buyback के बारे में जानकारी लें। अगर प्रमोटर स्वयं की कंपनी के शेयर पब्लिक से वापस खरीद रहे हैं तो इसका मतलब है कि उन्हें कंपनी के बिजनेस मॉडल में विश्वास है और भविष्य में कंपनी के अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद हैं। इसके साथ ही कंपनी की शेयर होल्डिंग पैटर्न चेक करें। किसी कंपनी का शेयर होल्डिंग पेटर्न यह दिखाता है कि कंपनी के शेयर किन-किन व्यक्तियों के पास हैं? इसमें आपको देखना है कि शेयर का कितना हिस्सा प्रमोटर्स के पास हैं। प्रमोटर्स के पास जितना अधिक शेयर का हिस्सा होगा, उतना ही अच्छा माना जाता है।

9. कंपनी और सेक्टर जरूर देंखे

किसी भी शेयर में पैसा लगाने से पहले वह किस सेक्टर की कंपनी के शेयर है और उसका कारोबार क्या है यह पता करें। इसके बाद उस कंपनी की बैलेंस सीट, टर्नओवर, बिजनेस मॉडल और कंपनी का भविष्य क्या है आदि की जानकारी जुटाएं। इससे आपको एक आइडिया मिल जाएगा कि कौन सी कंपनी सही है या किसकी वित्तीय स्थिति कमजोर है। किसी भी सेक्टर की लीडर कंपनी पर प्रमुखता से ध्यान देना चाहिए।

किसी भी शेयर में छोटी अवधि में रिटर्न की उम्मीद नहीं करें। हमेशा लंबी अवधि का लक्ष्य बनाकर निवेश करें। ऐसी कंपनी के शेयर चुनें जिसमें रिटर्न क्या लाभ है शेयर होल्डिंग पैटर्न ज्यादा मिले, लेकिन रिस्क कम हो। ऐसे निवेश से बचें जिसमें या तो बहुत बढ़िया रिटर्न मिलेगा या फिर भयंकर नुकसान की संभावना है।

रेटिंग: 4.32
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 484