कारोबारियों के बाद अब क्रिप्टो से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराने वाले नियो बैंक Cashaa ने इंडिविजुअल्स के लिए व्यक्तिगत खाते खोलने की सुविधा बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें शुरू की है जिसमें निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलेगा. (Image- Pixabay)

Explainer: RBI के 'डिजिटल रुपया' से कैसे बदलेगी देश में डिजिटल करेंसी की बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें सूरत, पूरी जानकारी यहां लें

RBI Digital Currency or CBDC: आरबीआई अपनी डिजिटल करेंसी लाएगा और इसे देश में लीगल टेंडर के रूप में मान्यता प्राप्त होगी. आपके मन में भी देश की आधिकारिक डिजिटल करेंसी के लिए सवाल होंगे तो यहां पढ़ें.

By: ABP Live | Updated at : 03 Feb 2022 02:25 PM (IST)

Edited By: Meenakshi

आरबीआई का डिजिटल रुपया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

RBI Digital Currency: इस 1 फरवरी को आम बजट 2022-23 में वित्त मंत्री ने आधिकारिक तौर पर एलान कर दिया कि देश का केंद्रीय बैंक आरबीआई अपनी डिजिटल करेंसी लाएगी. इसे सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) के तौर पर जाना जाएगा. यहां पर आप इस करेंसी से जुड़े सभी तरह के सवालों के जवाब हासिल कर सकते हैं.

कब लॉन्च होगा आरबीआई का डिजिटल रुपया
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया वित्त वर्ष 22-23 की शुरुआत यानी 1 अप्रैल 2022 से इसको लॉन्च कर सकता है. अभी तक भारत जितने किसी बड़े देश ने अपनी आधिकारिक डिजिटल करेंसी लॉन्च नहीं की है तो भारत ऐसा करने वाला पहला बड़ा देश बन जाएगा. ये करेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित होगी.

CBDC की खास बातें
सेंटल बैंक डिजिटल करेंसी यानी (CBDC) एक ऐसी लीगल टेंडर होगी जिसे हम देख या छू तो नहीं सकते लेकिन ये पूरी तरह से आधिकारिक और वैध होगी. ये आम करेंसी की तरह लेन-देन में यूज की जा सकेगी लेकिन इसे फिजिकल नहीं डिजिटल मोड में उपयोग किया जा सकेगा. देश में ट्रांजेक्शन के लिए ये डिजिटल करेंसी पूरी बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें तरह मान्यता प्राप्त होगी और इसे डिजिटल वॉलेट में रखा जा सकेगा और वहीं से पेमेंट, बिल डिपॉजिट, ऑनलाइन शॉपिंग जैसी चीजें की जा सकेंगी. ये नोट की तरह जेब में तो नहीं आ पाएगा लेकिन नोट की जगह बदला जा सकेगा. उदाहरण के लिए आप भारतीय करेंसी नोट देकर CBDC एक्सचेंज कर सकेंगे या CBDC देकर नोट ले सकेंगे.

ये अन्य वर्चुअल करेंसी से कैसे अलग होगी?
भारतीय रिजर्व बैंक की CBDC एक लीगल टेंडर होगी जबकि अन्य वर्चुअल करेंसी या क्रिप्टोकरेंसी देश में लीगल टेंडर नहीं हैं लिहाजा वो जोखिम वाले ऐसेट हैं. आरबीआई का डिजिटल रुपया बिना जोखिम के देश के हरेक हिस्से में ट्रांजेक्शन, खरीदारी, बिल पेमेंट के लिए यूज किया जा सकेगा. ये बिटकॉइन, इथेरियम से अलग होंगी जिनके दाम निजी तौर पर संचालित या घटाए-बढ़ाए जाते हैं.

News Reels

ये भी पढ़ें

Published at : 03 Feb 2022 02:25 PM (IST) Tags: Cryptocurrency Reserve Bank of India Bitcoin RBI digital currency CBDC RBI Digital Currency digital rupee RBI Currency हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: News in Hindi

Crypto Investment: क्रिप्टो एफडी पर 24% तक ब्याज, जानिए इस विशेष पर्सनल अकाउंट के बारे में

Crypto Investment: क्रिप्टो से हुई आय पर अगले वित्त वर्ष से फ्लैट 30 फीसदी की दर से टैक्स देना होगा.

Crypto Investment: क्रिप्टो एफडी पर 24% तक ब्याज, जानिए इस विशेष पर्सनल अकाउंट के बारे में

कारोबारियों के बाद अब क्रिप्टो से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराने वाले नियो बैंक Cashaa ने इंडिविजुअल्स के लिए व्यक्तिगत खाते खोलने की सुविधा शुरू की है जिसमें निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलेगा. (Image- Pixabay)

Crypto Investment: कारोबारियों के बाद अब क्रिप्टो से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराने वाले नियो बैंक Cashaa ने इंडिविजुअल्स के लिए व्यक्तिगत खाते खोलने की सुविधा शुरू की है जिसमें निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलेगा. नियो बैंक का मतलब ऐसी फिनटेक कंपनियां हैं जो सिर्फ ऑनलाइन वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराती हैं. Cashaa द्वारा जारी बयान के मुताबिक इन पर्सनल खातों के जरिए यूजर्स क्रिप्टो की खरीद-बिक्री कर सकेंगे, इन्हें स्टोर कर बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें सकेंगे और बिना रिस्क ब्याज कमा सकेंगे. यह ब्याज हर दिन निवेशकों के खाते में क्रेडिट होगी और निवेशकों को डेफी (डीसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस) प्रोजेक्ट्स में पूंजी गंवाने का खतरा भी नहीं होगा. यहां ध्यान रहे कि भारत में क्रिप्टो से हुई आय पर अगले वित्त वर्ष से फ्लैट 30 फीसदी की दर से टैक्स देना होगा. इससे जुड़ा प्रस्ताव अगले वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री ने पेश किया था.

Cashaa Personal Account के फीचर्स

क्रिप्टो-फ्रेंडली नियो बैंक Cashaa के मुताबिक यह अकाउंट यूजर फ्रेंडली है और इसमें किसी वेब वालेट्स पर निर्भरता को खत्म कर दिया गया है.
यह पर्सनल अकाउंट दो मॉड्यूल का है. पहले मॉड्यूल में बिना किसी लॉकिंग के 13 फीसदी तक फ्लेक्स अर्निंग्स है. इसमें यूजर्स जैसे ही किसी भी सपोर्टेड क्रिप्टो को स्टोर किया जाता है, उन्हें ब्याज मिलना शुरू हो जाता है. वहीं दूसरे प्रकार के मॉड्यूल में 24 फीसदी तक का फिक्स्ड डिपॉजिट अर्निंग्स है लेकिन इसमें एक महीने से लेकर 12 महीने तक के लॉक-इन की शर्त है. फिक्स्ड डिपॉजिट्स की सुविधा कारोबारियों और पर्सनल यूजर्स दोनों के लिए उपलब्ध है. अगर ब्याज को CAS Tokens के रूप में लेते हैं तो यूजर्स को 4 फीसदी तक का अतिरिक्त बोनस मिलेगा.

Pension Scheme: सरकार की प्रमुख पेंशन स्कीम्स का स्टेटस चेक, किस योजना को मिला लोगों का समर्थन, कौन फ्लॉप

ICICI Bank Fixed Deposit Rate: ICICI बैंक ने फिर बढ़ाई फिक्स्ड डिपॉडिट की ब्याज दरें, एक दिन पहले ही 2 करोड़ तक की एफडी दरों में हुआ है इजाफा

SCSS vs FD: फिक्स्ड डिपॉजिट पर बेहतर रिटर्न की है तलाश? इन बैंकों में मिल रहा सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम से भी ज्यादा ब्याज

22 से अधिक करेंसीज को सपोर्ट

कंपनी द्नारा जारी बयान के मुताबिक नए वॉलेट के जरिए यूजर्स 22 से अधिक सपोर्टेड बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें करेंसीज में फिएट डिपॉजिट्स, क्रिप्टो और स्टेबल क्वाइन में निवेश पर बेहतर रिटर्न पा सकते हैं. बिनांस, कूक्वाइन, इलरोंड, पॉलीगॉन, बिटबीएनएस, क्वाइनडीसीएक्स, यूनोक्वाइन, क्वाइनस्विच समेत 400 से अधिक क्रिप्टो ब्रांड्स Cashaa की सर्विसेज ले रहे हैं.

(डिस्क्लेमर: लेख में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर सुझाव नहीं दिया जा रहा है. क्रिप्टोकरेंसीज में निवेश जोखिम भरा है तो ऐसे में इसमें पैसे लगाने से पहले अपने सलाहकार से जरूर संपर्क कर लें.)

बिटकॉइन निवेश जीतने के लिए विश्वसनीय टिप्स:

पहली बात जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए, वह है सौदे के लिए एक विश्वसनीय ब्रोकर ढूंढना। पेपरस्टोन विनियमित है? हां यह है। यह आपको व्यापार करने के सबसे सुरक्षित तरीकों में से एक प्रदान करता है। कुछ अन्य विनियमित दलालों में शामिल हैं बाजार में सोचो और Instaforex दलालों .

अति उत्साही न हों:

बिटकॉइन निवेश ने निस्संदेह लोगों को अमीर बना दिया है, लेकिन आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि यह अत्यधिक जोखिम भरा है, शेयरों में निवेश करने की तुलना में बहुत अधिक जोखिम भरा है।

हो सकता है कि आप किसी विशेष समय पर धन अर्जित कर रहे हों, लेकिन जब आप रुझानों का पूर्वानुमान लगाने में विशेषज्ञ नहीं होते हैं, तो कुछ अधिक की लालसा आपको यह सब खो सकती है।

यहाँ टिप यह है कि इसे कम रखें और अति-उत्साही न हों। अपने निवेश के लिए एक सीमा रेखा निर्धारित करें और उस पर टिके रहें, चाहे आपको कितनी भी दरें मिल रही हों।

अपनी जोखिम सहनशीलता का विश्लेषण करें:

आपको न केवल छोटी शुरुआत करनी चाहिए, बल्कि अपने जोखिम सहने के स्तर के बारे में भी पता होना चाहिए। यदि आप शुरू से ही इस निवेश में अपना सारा पैसा खोने के लिए खुद को तैयार नहीं कर सकते हैं, तो आपको अन्य निवेश विकल्पों की तलाश बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें करनी पड़ सकती है।

बिटकॉइन खरीदें और हॉडल करें:

इस रणनीति का पालन करने के लिए आपको बिटकॉइन की दीर्घकालिक संभावनाओं का प्रस्तावक बनना होगा, लेकिन यदि आप एक हैं, तो इस रणनीति का पालन करने से आपको अंत में बहुत अधिक लाभ के साथ बिटकॉइन निवेश जीतने बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें में मदद मिल सकती है।

इस रणनीति में, आपको बिटकॉइन खरीदना होगा और कीमत में बदलाव के बावजूद इसे कई वर्षों तक रखना होगा। इस रणनीति को लागू करने से आपको कीमतों के नियमित उतार-चढ़ाव के बारे में मन की शांति मिलेगी, और आप शायद इससे अच्छी किस्मत बनाएंगे।

अपने बिटकॉइन को सुरक्षित स्थान पर स्टोर करें:

निवेशकों के लिए अपने बिटकॉइन स्टोर करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज और वॉलेट दो मुख्य विकल्प हैं। किसी विशेष एक्सचेंज या वॉलेट को चुनने से पहले आपको उचित परिश्रम करना चाहिए। सुरक्षा और उपयोग में आसानी दो मुख्य विशेषताएं हैं जिनकी आपको तलाश करनी चाहिए।

यहां साझा करने के लिए एक और उल्लेखनीय बात यह है कि कभी भी किसी तीसरे व्यक्ति को अपना क्रिप्टो वॉलेट पासवर्ड न दें। आपके बिटकॉइन मूल्यवान हैं, और उनकी सुरक्षा के लिए भी यही प्रक्रिया नियमित बैंकिंग की तरह लागू होती है, इसलिए सभी मानकों का पालन करना सुनिश्चित करें।

छोटे अवसरों से कभी न चूकें:

हालांकि इससे अधिक प्रयास हो सकते हैं, लेकिन दिन के अंत में, आपके पास अपने बिटकॉइन निवेश को बढ़ाने के कई तरीके होंगे। आप एक सहयोगी बन सकते हैं, निवेश कर सकते हैं, फोरम पोस्टिंग के माध्यम से अधिक कमा सकते हैं, और "बिटकॉइन में भुगतान" अभियानों का हिस्सा बन सकते हैं। ये सभी तरीके आपको इन सभी प्लेटफार्मों से निपटने के अनुभव के साथ-साथ कुछ अतिरिक्त पैसे भी प्रदान करेंगे।

एक बार जब आप इनमें से प्रत्येक में विशेषज्ञ हो जाते हैं, तो आप उसे चुन सकते हैं जिसके लिए न्यूनतम प्रयास की आवश्यकता होती है और इसमें अधिक जोखिम शामिल नहीं होता है।

उपसंहार:

निस्संदेह, बिटकॉइन इन दिनों चर्चा का विषय है, लेकिन इसमें सावधानी के साथ निवेश करें। यह सलाह दी जाती है कि आप बाजार में कूदने से पहले क्रिप्टोकरेंसी और उनके काम को विस्तार से समझ लें।

साइबर अपराधियों को क्यों रास आ रही है क्रिप्टो करंसी के रुप में फिरौती

बिजनेस डेस्कः कंपनियों की वैबसाइटों को हैक कर के उनसे फिरौती हासिल करने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और फिरौती की यह रकम अब क्रिप्टोकरंसी के रूप में वसूली जाने लगी है। साइबर अपराध के इस ट्रैंड ने पूरी दुनिया के केंद्रीय बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को चिंता में डाला है। पिछले साल ही दुनिया भर में साइबर अपराधियों ने इस तरह की हैकिंग के जरिए फिरौती के रूप में 406 मिलियन डॉलर की क्रिप्टोकरंसी वसूल की है। आइए जानने की कोशिश करते हैं कि क्रिप्टो करंसी में साइबर फिरौती का यह ट्रेंड क्यों बढ़ रहा है।

साइबर क्राइम में क्रिप्टो करंसी का इस्तेमाल कैसे हो रहा है
साइबर क्राइम से जुड़े हैकर्स द्वारा कंपनियों की वैबसाइट को हैक कर लिया जाता है। इससे या तो कंपनी के कर्मचारियों के सिस्टम धीमे हो जाते हैं अथवा वह काम करना बंद कर देते हैं। इसी बीच सिस्टम को हैक करने वाले अज्ञात हैकर्स कंपनियों के साथ संपर्क कर के उन्हें सिस्टम को हैक किए जाने की जानकारी देते हैं और इसके साथ ही उन्हें 26 से 34 अंकों का एक बिटकॉइन एक्सचेंज नंबर दिया जाता है और साथ ही पैसे जमा करवाने की मौहलत भी दी जाती है।

हैकर्स क्रिप्टो को प्राथमिकता क्यों दे रहे हैं?
दरअसल क्रिप्टो करंसी की आधारशिला तैयार करने वाले ब्लॉक चेन सिस्टम में व्यक्ति की पहचान गुप्त रखी जाती है और हैकर ब्लॉक चेन सिस्टम की इसी खामी साइबर का फायदा उठा कर फिरौती की रकम किसी अन्य नाम पर ट्रांसफर करते हैं अथवा इस रकम को किसी अन्य क्रिप्टोकरंसी में तब्दील कर के किसी दूसरे क्रिप्टो अकाउंट में ट्रांसफर करते हैं। हालांकि यह प्रक्रिया गैर कानूनी है और इस प्रक्रिया में पकडे जाने का जोखिम भी है।

दुनिया भर में साइबर हमलों से कितनी ठगी हो चुकी है
2020 में दुनिया भर में साइबर हमलों की शिकार हुई कंपनियों ने 406 मिलियन डॉलर की रकम साइबर हमलवारों को फिरौती के रूप में दी है जबकि इस वर्ष अब तक 81 मिलियन डॉलर की रकम फिरौती के रूप में दे चुके हैं। चेन एनालिसिस के डाटा के मुताबिक यह वह रकम है जिसका पीड़ितों ने खुलासा कर दिया है जबकि साइबर ठगों द्वारा साइबर हमलों के जरिए वसूली गई असल फिरौती इस से कहीं ज्यादा है। साइबर ठग ऐसी कंपनियों को खास तौर पर निशाना बनाते हैं जिन्होंने साइबर हमलों के कारण होने वाले नुक्सान से बचने के लिए बीमा करवाया होता है और सिस्टम हैक होने की स्थिति फिरौती की रकम बीमा कंपनी को देनी पड़ती है।

बिटकॉइन से पहले साइबर ठग फिरौती की रकम कैसे वसूलते थे
बिटकॉइन से पहले कंपनी की वैबसाइट हैक किए जाने के बाद साइबर अपराधी वैस्टर्न यूनियन के जरिए सीधा पैसा ट्रांसफर करवाने के अलावा गिफ्ट वाउचर का सहारा लेते थे अथवा अज्ञात बैंक खातों में सीधा पैसा ट्रांसफर करवाने को कहा जाता था। कुछ मामलों में तो नकदी का बैग किसी अज्ञात जगह पर पहुंचाने को कहा जाता था।

क्या क्रिप्टो करंसी के जरिए अदायगी ट्रेस हो सकती है
बिलकुल, जैसे ही किसी क्रिप्टो करंसी अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं तो उसका पहले चरण में पता लगाया जा सकता है लेकिन सिर्फ इतनी ही जानकरी मिल पाती है कि इस अकाउंट में पैसे आए हैं लेकिन किसने पैसे दिए हैं और कितने पैसे दिए गए हैं यह जानकारी बिना पासवर्ड के मिलना मुश्किल है और साइबर अपराधी अपने ऑपरेशन से जुड़े ठगों के अलावा यह पासवर्ड किसी को नहीं बताते।

क्या कभी किसी साइबर फिरौती की अदायगी नाकाम की गई है
अमरीका की फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन कोलोनिअल पाइपलाइन कंपनी द्वारा की गई 63.5 बिटकॉइन की अदायगी को असफल बना दिया था। अमरीकी पाइप लाइन कंपनी का सिस्टम हैक कर के साइबर ठगों ने 75 बिटकॉइन की फिरौती मांगी थी और इसमें से 63.5 बिटकॉइन की अदायगी की गई थी लेकिन साइबर अपराधियों ने फिरौती की इस रकम की एंट्री को करीब एक अकाउंट्स में से घुमा दिया तथा इसी बीच यह पेमैंट एक ऐसे निजी खाते में आ गई जिसका हैकरों ने इस्तेमाल किया था और इस प्राइवेट खाते का पासवर्ड जांच एजेंसी के पास होने के कारण इस अदायगी को असफल बना दिया गया। जिस समय जांच एजेंसी ने हैकरों का यह प्रयास नाकाम किया उस समय 63.5 बिटकॉइन की कीमत 23 लाख डॉलर थी।

इस से बचाव के लिए क्या कुछ किया जा सकता है
इसकी रोकथाम के लिए नियम जल्द ही आ सकते हैं। इंस्टीच्यूट आफ सिक्योरिटी एंड टैक्नॉलोजी ने प्राइवेट पब्लिक प्राइवेट पार्टनशिप में रैंसमवेयर टास्क फोर्स का गठन किया है। इस टास्क फ़ोर्स ने 81 पेजों की एक रिपोर्ट तैयार की है जिसमें इन साइबर हमलों से बचने के तरीके बनाए गए हैं और सरकारों को इसके लिए आगे आने के लिए कहा गया है।

बिटकॉइन की तलाश में जोखिम से कैसे बचें

क्रिप्टो ट्रेडिंग आरंभ करने के लिए अपने क्रिप्टो खाते में निधि जोड़ें। आप विभिन्न भुगतान के तरीकों से निधि जोड़ सकते/सकती हैं।

आपका आगे जाने के लिए अच्छे हैं! क्रिप्टो खरीदें / बेचें, अपने निवेश के लिए आवर्ती खरीद सेट करें, और पता करें कि बायनेन्स की क्या पेशकश है।

बायनेन्स पे और बायनेन्स मार्केटप्लेस पर हमारी सीमा रहित भुगतान तकनीक के साथ भुगतान करते समय अधिक ग्राहकों तक पहुंचें और क्रिप्टो में भुगतान प्राप्त करें।

रेटिंग: 4.42
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 165