31 मार्च, 2016 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए ‘सागर ट्रेडर्स’ के अन्तिम खाते निम्नांकित सूचनाओं के आधार पर बनाइए।

Please log in or register to add a comment.

1 Answer

Please log in or register to add a comment.

Find MCQs & Mock Test

Related questions

Welcome to Sarthaks eConnect: A unique platform where students can interact with teachers/experts/students to get solutions to their queries. Students (upto class 10+2) preparing for All Government Exams, CBSE Board Exam, ICSE Board Exam, State Board Exam, JEE (Mains+Advance) and NEET can ask questions from any subject and get quick answers by subject teachers/ experts/mentors/students.

CM सोरेन ने किया वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का शिलान्यास, बोले- उद्योगपतियों-व्यापारियों को एक ही छत के नीचे मिलेंगी सारी सुविधाएं

टाइम्स नाउ डिजिटल

Jharkhand News : मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देना सरकार की विशेष प्राथमिकताओं में शामिल है। यहां के ग्रामीण परिवेश में लोग विविध गतिविधियों में जुड़े हुए हैं। इन्हें आगे बढ़ाने की दिशा में कई योजनाओं को शुरू किया गया है।

CM Soren lays foundation stone of World Trade Center, says industrialists will get facilities under one roof

  • वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में व्यापार और आयात निर्यात से संबंधित दफ्तर
  • करेंसी एक्सचेंज एवं मनी ट्रांसफर समेत कई सुविधाएं होंगी उपलब्ध
  • राज्य के उत्पादों को मिलेगा अंतरराष्ट्रीय बाजार, बनेगी अलग पहचान

Jharkhand News : झारखंड व्यापक संभावनाओं वाला राज्य है। इस कड़ी में यहां के औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियों को देश-दुनिया से जोड़ने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर फंडामेंटल ट्रेडर्स रही है। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने बुधवार को राजधानी रांची के कोर कैपिटल एरिया में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की आधारशिला रखते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में अंतरराष्ट्रीय व्यापार विशेषकर निर्यात संवर्धन फंडामेंटल ट्रेडर्स से संबंधित तमाम गतिविधियां एक ही छत के नीचे से संचालित होंगी। यह सेंटर यहां की आर्थिक गतिविधियों को मजबूत करने में अहम रोल निभाएगा।

दशकों से चली आ रही हैं औद्योगिक गतिविधियां
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड खनिजों से संपन्न राज्य है। यहां कोयला- लोहा से लेकर यूरेनियम तक प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। इस वजह से यहां औद्योगिक गतिविधियां दशकों से चली आ रही हैं। टाटा, बिड़ला और डालमिया समेत कई औद्योगिक व्यावसायिक समूह के उद्योग और कंपनियां यहां स्थापित हैं। देश के उद्योगों को खड़ा करने वाला और "मदर फैक्ट्री" के नाम से दुनिया में विख्यात एचईसी इसी रांची में है। इन उद्योगों को अब व्यापार-निर्यात से जुड़ी सारी सुविधाएं वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के माध्यम से देने की दिशा में राज्य ने कदम बढ़ा दिया है। अब ये कदम रुकेंगे नहीं बल्कि अनवरत आगे बढ़ेंगे।

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देना विशेष प्राथमिकता
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देना सरकार की विशेष प्राथमिकताओं में शामिल है। यहां के ग्रामीण परिवेश में लोग विविध गतिविधियों में जुड़े हुए हैं। इन्हें आगे बढ़ाने की दिशा में कई योजनाओं को शुरू किया गया है। इस सिलसिले में महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा बनाए गए उत्पादों को पलाश ब्रांड के माध्यम से बाजार में लाया गया है। ये उत्पाद बड़े बड़े मॉल और शॉपिंग कंपलेक्स में मिल रहे हैं। पलाश ब्रांड के टर्नओवर को एक हजार करोड़ रुपए सालाना करने के लक्ष्य के साथ सरकार काम कर रही है।

वन उत्पादों को बढ़ावा, उत्पादकों को सीधा फायदा देने की हो रही कोशिश
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में वन उत्पादों के क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं। अब तक यह देखने को मिला है कि यहां के स्थानीय उत्पादों को बाजार नहीं मिलने की वजह से लोग उन्हें काफी कम कीमत में बेच देते हैं। वहीं, दूसरे राज्यों की बड़ी-बड़ी कंपनियां इन उत्पादों को खरीद कर हमारे ही राज्य में महंगे मूल्य पर बेचने का काम कर रही हैं ।सरकार ने इसे काफी गंभीरता से लिया है। अब यहां के वन एवं अन्य उत्पादों का सीधा फायदा उत्पादकों को मिले, इस दिशा में सरकार कार्य योजना बना रही है।

रोजगार के लिए पलायन ना हो, अपने ही घर में लोगों को दे रहे हैं काम
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के ग्रामीण इलाकों से बड़ी संख्या में बच्चे -बच्चियां रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में पलायन करती हैं। वहां इनका शोषण किया जाता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

रांची में 44 करोड़ की लागत से बनेगा वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, जानें क्या कुछ होगा खास

3. 45 एकड़ में बनने वाले इस वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर करीब 44 करोड़ 59 लाख रुपये खर्च होंगे.

3. 45 एकड़ में बनने वाले इस वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर करीब 44 करोड़ 59 लाख रुपये खर्च होंगे.

Hemant Soren News: रांची में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की आधारशिला मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रख दी है. अगले दो साल में इस G-5 . अधिक पढ़ें

  • News18 Jharkhand
  • Last Updated : July 29, 2022, 16:33 IST

रांची. झारखंड में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की आधारशिला रख दी गई है. रांची के कोर कैपिटल एरिया में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसका शिलान्यास किया. 3.45 एकड़ में बनने वाले इस वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर करीब 44 करोड़ 59 लाख रुपये खर्च होंगे. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि नाम में ही उद्देश्य छुपा है. अब इस भवन के सहारे झारखंड के लोग और व्यवसाय का दायरा देश – दुनिया में स्थापित होगा.

झारखंड के उत्पाद का बेहतर निर्यात के लक्ष्य के साथ रांची में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की आधारशिला मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रख दी है. अगले दो साल में इस G-5 भवन का निर्माण पूरा हो जाएगा. 44 करोड़ रुपये से अधिक राशि खर्च कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने वाले इस भवन का निर्माण होगा. वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के निर्माण का उद्देश्य हर तरह की सुविधा को एक ही छत के नीचे लाना है. देश की आजादी से पहले का झारखंड में औद्योगिक घरानों का इतिहास है. इसे अब आगे बढ़ाते हुए अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाना है.

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के शिलान्यास को किसी ने भविष्य में मिल का पत्थर बताया, तो किसी ने प्रमंडल स्तर पर भी ऐसे भवन बनाने की मांग रखी. श्रम नियोजन मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि ना तो सरकार के पास धन की कमी है और ना ही मन की कमी है. बस पिछली बातों को भूल कर आगे बढ़ने की जरूरत है.

आपके शहर से (रांची)

Ranchi: क्या आज भी होगा हंगामा, रबिका हत्याकांड पर गरमाया मुद्दा | Johar Jharkhand | Hindi News

Sahibganj में रबिका पहाड़िया फंडामेंटल ट्रेडर्स का किया गया अंतिम संस्कार, परिजनों ने दी भावभीनी विदाई। Hindi News

Special Train : नये साल पर तोहफा, 25 से चलेगी धनबाद-एर्नाकुलम स्पेशल ट्रेन, जानें पूरा शेड्यूल

उत्तराखंड घूमने जाने का मन बना रहे हैं तो, ये सामान साथ ले जाना ना भूलें

देवघर एयरपोर्ट पर लोगों के चेहरे पर उड़ने लगीं हवाइयां जब बजी खतरे की सायरन, जानें माजरा

Indian Railways: जसीडीह से गोवा जाने वाली ट्रेन रद्द, जानें कब से कब तक रहेगा परिचलान प्रभावित

Happy New Year 2023: हजारीबाग में करना हो मन बाग-बाग, तो पिकनिक स्पॉट बैलगिरी झरना है न, जानें खूबी

Godda : 25 जगहों पर बनाए गए धान खरीदी केंद्र, प्रति क्विंटल जानें कितना मिल रहा बोनस

Ranchi : सरकार के खिलाफ धरने पर विपक्ष. अब क्या करेंगे Hemant Soren | Latest Hindi News

रेल स्वास्थ्य कर्मी हत्याकांड: पत्नी ने रची थी मर्डर की साजिश, दोस्त के साथ हुई गिरफ्तार

Only for Women: रांची में 'सहेली राइड', महिला चालक के साथ स्कूटी पर बेफिक्र हो घूमें, जानें डिटेल

वहीं स्थानीय विधायक नवीन जायसवाल ने औद्योगिक विस्तार के साथ- साथ आदिवासी- मूलवासी और विस्थापितों के विकास और रोजगार की मांग को पूरा करने की बात मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के समक्ष रखी.

झारखंड जैसे प्रदेश में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की बहुत आवश्यकता है. खास कर राज्य के उत्पाद को बेहतर बाजार और उस बाजार तक निर्यात के माध्यम से पहुंचने की. इस भवन के निर्माण से रोजगार के क्षेत्र में मदद मिलेगी, साथ ही राज्य के उधोग घराने अपने उत्पाद के साथ देश – दुनिया में अपनी पहचान बना पाएंगे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

फंडामेंटल एनालिसिस 2022|Share Market Fundamental Analysis In Hindi

दोस्तों, आज के इस लेख में हमने आपको आपको समझाया की Fundamental Analysis Kya Hai, Fundamental Analysis in Hindi, Share market fundamental analysis in hindi, Fundamental Analysis का क्या काम है, क्या Fundamental Analysis करना जरुरी है, Fundamental Analysis में क्या होता है? आदि.

Share Market Fundamental Analysis In Hindi क्या काम है?

Share Market Fundamental Analysis In Hindi- जब भी हमें भविष्य के लिए 1,2,5 या 10 साल के लिए शेयर मार्किट में निवेश करने की सोचते है तो सबसे पहले कंपनी का चुनाव फिर उस कंपनी के Fundamental को Analysis किया जाता है. शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए सही शेयर को चुनने की प्रकिया को Fundamental Analysis कहते है.

Fundamental Analysis फंडामेंटल ट्रेडर्स में क्या देखा जाता है?

बहुत से ट्रेडर्स को Fundamental Analysis के बारे में पता ही नहीं होता है इसलिए वह लोग मार्किट में नुकसान उठाते है. Fundamental Analysis में कम्पनी के अन्दर की जानकारी को जाना जाता है- कंपनी का बिज़नस कैसा चल रहा है, मार्केट में कंपनी के प्रोडक्ट की कितनी मांग है, कंपनी किस तरह के प्रोडक्ट बनती है, कंपनी कितने loss या profit में चल रही है, कंपनी ने पर कितना कर्ज लिया है? Share Market Fundamental Analysis In Hindi

आदि इन सभी जानकारी को हासिल करके उस कंपनी फंडामेंटल ट्रेडर्स के शेयर ख़रीदे जाते है जिससे फ्यूचर में अच्छा मुनाफा होता है. Fundamental Analysis में हमें कंपनी यह देखना होता है की जिस कंपनी के शेयर खरीद रह है वह कितने मजबूत है इसकी आर्थिक स्थति क्या है? क्या यह भविष्य में अच्छा मुनाफा दे सकती है या नहीं!

Fundamental Analysis का एक ही उद्देश्य होता है वर्तमान के शेयर को कम कीमत में खरीद कर भविष्य में अधिक कीमत में बेचना होता है. Fundamental Analysis में कंपनी के बिज़नस और फाइनेंसियल स्टेटमेंट को देखते है बिज़नस प्रदर्शन से ही कंपनी के शेयर की कीमत निर्धारित होती है क्योकि जब कंपनी का बिज़नस आगे बढेगा तभी कंपनी को प्राफिट होगा जिससे भविष्य में शेयर की कीमत बढेगी.

Fundamental Analysis 2 प्रकार के होते है?

  1. Qualitative Analysis
  2. Quantitative Analysis
  3. Qualitive Analysis – Qualitive Analysis में कंपनी क्या बिज़नस कर रही है, बिज़नस मॉडल, मैनेजमेंट एनालिसिस, प्रोडक्ट और फंडामेंटल ट्रेडर्स सर्विस आदि जानकारी को Analysis किया जाता है.
  4. Quantitative Analysis Quantitative Analysis में बैलेंस सीट, मुनाफा और नुक्सान स्टेटमेंट, केस फ्लो स्टेटमेंट, इस तरह के रेश्यो को और सेल्स ग्रोथ, प्रॉफिट ग्रोथ आदि को एनालिसिस किया जाता है. Share Market Fundamental Analysis In Hindi

Fundamental Analysis का उपयोग कैसे करे?

Share Market Fundamental Analysis In Hindi जितने भी पुराने और नय ट्रेडर्स होते वह लोग लम्बे समय के लिए शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए Fundamental Analysis का उपयोग करते है. Fundamental Analysis के दोवारा हम अच्छे शेयर को चुनने में मदद मिलती है. इसके दोवारा हम उन शेयर को सर्च कर सकते है जो वर्तमान में डिस्काउंट में मिल रह है.

जब कोई निवेशक किसी कंपनी के शेयर खरीदता है तो उसे कंपनी से उम्मीद करता है की ये कम्पनी आने बाले समय में काफी बढ़ोतरी करे. प्रॉफिट के लिए कंपनी के बारे में पूरा रिसर्च करना जरुरी है. Technical analysis में चार्ट पर indicator इस तरह की जानकारी नहीं देते है वह सिर्फ price movement को दिखाते है.

तभी कीमत को देख कर buy और sell करते है जो बिलकुल ठीक नहीं है fundamental analysis भी बहुत जरुरी है. Fundamental का उपयोग तब की जाता है जब आपको शेयर को लम्बे समय तक खरीदकर रखना होता है. Fundamental analysis में किन चीजों के बारे में जानना जरुरी होता है?

रेटिंग: 4.57
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 637