जब अप्रैल से अगस्त के बीच देश और दुनिया में सबसे अधिक आर्थिक बदहाली दिखाई दे रही थी, उस समय भी भारत में एफडीआई छलांग लगाकर बढ़े हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक अप्रैल से अगस्त 2020 की अवधि में देश में 35.73 अरब डॉलर का एफडीआई आया। 23 अक्टूबर 2020 की नवीनतम स्थिति के अनुसार देश का विदेशी मुद्रा भंडार 560 अरब डॉलर बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता की सर्वोच्च ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गया है। भारत में विदेशी मुद्रा कोष का तेजी से बढ़ना भारतीय अर्थव्यवस्था की नई मजबूती का प्रतीक है।

इमेज – प्रधानाचार्य का संदेश

मानव पूंजी किसी भी संगठन की सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण संसाधनों में से एक है, यही कारण है कि कर्मचारियों को सबसे मूल्यवान संपत्ति माना जाता है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि इस मानव पूंजी का पोषण और विकास एक संरचित प्रशिक्षण प्रक्रिया के माध्यम से किया जाये, जो उनके ज्ञान को अद्यतन करने और कौशल को बढ़ावा देने में सहायक हो।

एक साथ बड़े पैमाने पर हुई सेवानिवृत्ति और नए युवा पदधारियों के आगमन की वजह से विशेषज्ञता और ज्ञान में हुई कमी ,ये सब मिलकर कोविड 19 महामारी, शुरू- शुरू में, प्रत्यक्ष रूप से एक बड़ा झटका था । लेकिन कोविड 19 संकट से उपजी नई वास्तविकताओं ने डिजिटल प्रशिक्षण उपकरणों की सहायता से निरंतर सीखते रहने के महत्व को रेखांकित किया है।

तदनुरूप, डिजिटल मोड के माध्यम से प्रशिक्षण शुरू किया गया और जिसने तेजी से गति पकड़ी। ऋण, एमएसएमई वित्त , कृषि वित्त , विदेशी विनिमय, ऋण निगरानी, घाटे में चल रही शाखाओं का लाभ में बदलना , लिपिक / परिवीक्षाधीन अधिकारियों के लिए प्रेरणा प्रशिक्षण तथा संगठन को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए सभी कर्मचारियों को विभिन्न क्षमता क्षेत्रों के लिए आवश्यक ज्ञान प्रदान करने एवं कौशल और दृष्टिकोण को विकसित करने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म ‘ ई पाठशाला ‘ को भी नए मॉड्यूल और ई प्रोग्राम के साथ मजबूत किया गया है।

अर्थव्यवस्था पर लक्ष्मी की कृपा: भारत पर फिर मेहरबान लक्ष्मी, जगमगाने लगा उम्मीद का दीया

दीपावली पर कोविड-19 का अंधियारा कम होने के साथ ही अर्थव्यवस्था के चेहरे पर कुछ मुस्कुराहट नजर आने लगी है। इस मुस्कुराहट के पीछे जहां देश के फॉर्मा, आईटी, फूड प्रोसेसिंग जैसे सेक्टरों का योगदान है, वहीं भारत में बढ़ते हुए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) ने भी इस उम्मीद को आसमान पर पहुंचा दिया है। कोविड-19 की चुनौतियों के बीच भी भारतीय बाजारों में विदेशी निवेशकों की रुचि लगातार बनी हुई है और इसी से भारत की अर्थव्यवस्था के बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता लिए आशा की नई किरण दिखाई देने लगी है।

हाल ही में 5 बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल वैश्विक निवेशक गोलमेज 2020 को संबोधित करते हुए कहा भी था कि भारत निवेश के लिए दुनिया का बेहतर बाजार है। आप भरोसे के साथ रिटर्न चाहते हैं तो भारत आपके लिए मुफीद जगह है। यहां मांग और स्थायित्व है। ये बातें विदेशी निवेशकों के लिए अच्छे रिटर्न की गारंटी देती हैं। आप भारत के एक ही बाजार में कई तरह के बाजारों की लाभप्रद निवेश संबंधी संभावनाओं को अपनी मुट्ठी में कर सकते हैं।

दो साल के निचले स्‍तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार, देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर होगा असर?

दो साल के निचले स्‍तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार, देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर होगा असर?

दो साल के निचले स्‍तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार (फाइल फोटो)

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार दो वर्षों में सबसे निचले स्तर पर आ गया। भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से पेश की गई रिपोर्ट में जानकारी दी गई है। आरबीआई के अनुसार, रुपए 80 प्रति डॉलर के नीचे चला गया है, वहीं आरबीआई ने इसे ऊपर रखने के लिए काफी प्रयास किया था।

आरबीआई के साप्ताहिक सांख्यिकीय आंकड़ों के अनुसार, देश का विदेशी मुद्रा भंडार 19 अगस्त को समाप्त सप्ताह में 6.687 अरब डॉलर गिरकर 564.053 अरब डॉलर बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता हो गया, जो दो साल में सबसे कम और लगातार तीसरे सप्ताह में गिरावट है। नवीनतम सप्ताह में गिरावट की मात्रा, 6.687 बिलियन डॉलर है, जो जुलाई के मध्य के बाद सबसे बड़ी थी।

मुंबई एयरपोर्ट पर CISF ने 5.6 करोड़ रुपये की बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता विदेशी मुद्रा के साथ 2 शख्स को पकड़ा

मुंबई एयरपोर्ट पर CISF ने 5.6 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा के साथ 2 शख्स को पकड़ा

यात्रियों के पास से बरामद विदेशी मुद्रा

CSMI एयरपोर्ट पर सीआईएसफ जांच दल को बड़ी सफलता बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता हाथ लगी है. सीआईएसएफ की तरफ से जारी बयान के अनुसार बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता दो लोगों को 5.6 करोड़ रुपये मूल्य के विदेशी मुद्रा के साथ पकड़ा गया है. पकड़े गए दोनों ही नागरिक सूडान के रहने वाले हैं. अहमद मोहम्मद इस्माइल हराजा और एसाम अली ओमर मोहम्मद के रूप में उनकी पहचान हुई है. वो दोनों फ्लाइट नंबर ET-611 से अदीस अबाबा की यात्रा करने वाले थे.

यह भी पढ़ें

सीआईएसएफ की तरफ से कहा गया है कि मामले की सूचना तत्काल सीमा शुल्क अधिकारियों को दी गई. इसके बाद, अन्य यात्रियों को प्रस्थान काउंटर की ओर जाने की अनुमति दी गई.बाद में सीमा शुल्क अधिकारियों ने दोनों यात्रियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी. उनके हैंड बैगेज से लगभग 5.6 करोड़ रुपये मूल्य के 7,24,700 अमेरिकी डॉलर बरामद किए गए हैं.

इधर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी कोलकाता एयरपोर्ट पर विदेशी मुद्रा बरामद की है. बताया जा रहा है कि ईडी ने यह कार्रवाई विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 (Foreign Exchange Management Act) के तहत की है. ईडी ने कोलकाता हवाई अड्डे पर एक व्यक्ति की व्यक्तिगत तलाशी की, जहां उसके पास से 1.53 करोड़ की कीमत की फॉरेन करेंसी बरामद हुई. व्यक्ति के पास इस पैसे को लेकर कोई वैलिड दस्तावेज नहीं था. यात्री से जब दस्तावेजों की मांग की गई तो वह असमर्थ दिखा.

आर्थिक मोर्चों पर मजबूत हो रहा भारत, निर्यात में दर्ज हुई सकारात्मक वृद्धि

देश की अर्थव्यवस्था पर निर्यात का बड़ा असर होता है। आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे देश की स्थिति का अंदाज उस देश के बढ़ते निर्यात के ग्राफ से लगाया जा सकता है। भारत जैसे विकासशील देश के लिए सेवाओं का निर्यात आर्थिक मोर्चे पर मजबूती देने के लिए अहम कारक माना जाता है। मंत्रालय द्वारा जारी आकड़े यह बताते हैं कि सितंबर 2022 के लिए सेवाओं के निर्यात का अनुमानित मूल्य 25.65 बिलियन अमरीकी डॉलर है, जो सितंबर 2021 के 21.61 बिलियन अमरीकी डॉलर की तुलना में 18.72 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

सितंबर में 4.82 % बढ़ा देश का निर्यात

वाणिज्य मंत्रालय ने जारी आंकड़ों में बताया कि सितंबर में देश का निर्यात 4.82 फीसदी बढ़कर 35.45 अरब डॉलर पर पहुंच गया। आंकड़ों के मुताबिक सितंबर में देश का आयात सालाना आधार पर 8.66 फीसदी बढ़कर 61.61 अरब डॉलर हो गया है। इस दौरान व्यापार घाटा बढ़कर 25.71 अरब डॉलर हो गया, जबकि सितंबर, 2021 में व्यापार घाटा 22.47 अरब डॉलर रहा था। मंत्रालय के मुताबिक बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता वित्त वर्ष 2022-23 की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में देश का निर्यात बढ़ती विदेशी मुद्रा सफलता 16.96 फीसदी की वृद्धि के साथ 231.88 अरब डॉलर रहा है।

रेटिंग: 4.75
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 727