क्रिप्टोकरेंसी के लिए फिलहाल भारत में कोई कानून नहीं है।

Cryptocurrency में मिलता है तगड़ा रिटर्न, लेकिन कैसे करना है Bitcoin, इथीरियम जैसी करेंसी में निवेश और किन बातों का रखना है ध्यान, जानिए पूरी बात

Cryptocurrency अपने देश में अभी रेग्युलेटेड नहीं है, लेकिन सरकार इसे रेग्युलेट करने को लेकर जोर-शोर से तैयारी कर रही है. ऐसे में अगर डिजिटल करेंसी में निवेश करना चाहते हैं तो कुछ महत्वपूर्ण बातों क्रिप्टोकरेंसी क्या है और क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए को ध्यान में रखना होगा.

Cryptocurrency में मिलता है तगड़ा रिटर्न, लेकिन कैसे करना है Bitcoin, इथीरियम जैसी करेंसी में निवेश और किन बातों का रखना है ध्यान, जानिए पूरी बात

फाइनेंशियल मार्केट में अभी Cryptocurrency सबके सिर चढ़कर बोल रहा है. सरकार भी इसे रेग्युलेट करने की पूरी तैयारी में जुटी है. क्रिप्टोकरेंसी के प्रति दीवानगी का सबसे बड़ा कारण है इससे होने वाली मोटी कमाई. दुनिया के बड़े-बड़े उद्योगपति जैसे जैक डोर्सी, एलन मस्क इसका खुलकर समर्थन कर रहे हैं.

यही वजह है कि रिटेल इन्वेस्टर्स क्रिप्टोकरेंसी में बड़े पैमाने पर निवेश कर रहे हैं. पिछले कुछ दिनों से क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट जरूर है, लेकिन जानकारों का कहना है कि डिमांड और इंट्रेस्ट बढ़ने के कारण एकबार फिर से इसमें तेजी आएगी. अपने देश में इस समय इस बात पर चर्चा है कि क्रिप्टोकरेंसी को असेट का दर्जा दिया जाए और उसी आधार पर टैक्स और इन्वेस्टमेंट संबंधी नियमन तय किए जाएं. ऐसे में अगर आप भी डिजिटल असेट में निवेश के बारे में सोच रहे हैं तो कुछ बातों को ध्यान में रखना बेहद जरूरी है.

सबसे पहले सही Crypto Exchange की करें पहचान

जैसा कि हम जानते हैं इस समय अपने देश में क्रिप्टोकरेंसी रेग्युलेटेड नहीं है. हालांकि, कई सारे क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज हैं जिनकी मदद से इसमें निवेश किया जा सकता है. ऐसे में निवेशक के तौर पर सबसे पहली चुनौती सही क्रिप्टो एक्सचेंज की पहचान करना है. WazirX, CoinDCX और CoinSwitch Kuber इस समय सबसे पॉप्युलर क्रिप्टो एक्सचेंज हैं. इन प्लैटफॉर्म्स को यूजर्स के हिसाब से काफी फ्रेंडली बनाया गया है जिससे कोई भी निवेशक आसानी से निवेश कर सके.

अब अपना अकाउंट सुरक्षित तरीके से क्रिएट करें

क्रिप्टो एक्सचेंज को लेकर फैसला लेने के बाद अपने लिए सही तरीके से अकाउंट तैयार करना काफी जरूरी है. यह काफी सिक्यॉर्ड होना चाहिए. अलग-अलग क्रिप्टो एक्सचेंज पर लॉगिन संबंधी तमाम जानकारियां उपलब्ध हैं. यह बैंक अकाउंट खुलवाने जैसा है जिसमें ऑनलाइन कई डॉक्युमेंट जमा करने होते हैं और आपका अकाउंट ओपन हो जाता है.

बैंक अकाउंट से कनेक्ट कर ट्रांजैक्शन को आसान बनाएं

किसी तरह का ट्रांजैक्शन करने के लिए आपके क्रिप्टो अकाउंट में पैसे की जरूरत होती है. यह काम बैंक अकाउंट की मदद से होता है. यहां पर सावधानी बरतने की जरूरत होती है, क्योंकि आपको क्रिप्टो अकाउंट में पैसे जमा करने के साथ-साथ पैसे निकासी के बारे में सही और पूरी जानकारी होनी चाहिए.

वैल्यु वाली करेंसी में करें निवेश

इतनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको अपने लिए सही डिजिटल करेंसी की पहचान करनी होगी. बिटक्वॉइन, इथीरियम, Cardano, Binance Coin, Tether, XRP जैसी करेंसी में आसानी से निवेश किया जा सकता है. जानकारों की सलाह होती है कि निवेशकों को वैल्यु करेंसी में निवेश करना चाहिए. यहां वोलाटिलिटी कम होती है और आपका निवेश ज्यादा सुरक्षित माना जाता है. इस समय पूरी दुनिया में 5000 से भी ज्यादा डिजिटल करेंसी है. ऐसे में किसी करेंसी में निवेश से पहले उसके बारे सारी जानकारी जरूर इकट्ठा कर लें. क्रिप्टो अकाउंट हैक भी किया जा सकता है, इसलिए इसे सुरक्षित रखें.

अलग-अलग डिजिटल करेंसी का रेट

गुरुवार रात को 9 बजे बिटक्वॉइन का रेट 44 हजार डॉलर के करीब है. उसी तरह इथीरियम का रेट 3100 डॉलर, XRP का रेट 0.98 डॉलर, Cardano का रेट 2.22 डॉलर और Tether का रेट 1 डॉलर के करीब है.

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

बिटकॉइन सबसे अधिक कारोबार वाली क्रिप्टोकरेंसी क्या है और क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए क्रिप्टोकरेंसी है जिसके बारे में हर कोई जानता है और बात करता है, लेकिन यह एकमात्र तरह की क्रिप्टोकरेंसी नहीं है। लिटकोइन, पोलकाडॉट, चेनलिंक, मूनकॉइन, शिबा इनु, डॉगकॉइन आदि भी क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं।

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

क्रिप्टोकरेंसी के लिए फिलहाल भारत में कोई कानून नहीं है।

महब कुरैशी. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जिसकी सबसे बड़ी वजह है कि, इसमें शेयर बाजार के विपरीत तेजी से उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। ऐसे में बहुत से लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करके बड़ा लाभ कमाया है। वहीं जिन लोगों ने अभी तक क्रिप्टोकरेंसी क्या है और क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए इसमें कभी निवेश नहीं किया है। अब वह भी बिटकॉइन, डॉगकोइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहते हैं। आपको बता दें क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत हुए अभी केवल 10 साल ही पूरे हुए है। लेकिन इसके बावजूद इसमें लोगों की रूचि दिन दूनी रात चौगनी बढ़ रही है। ऐसे में अगर आप भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं। तो आपको इस खबर को पूरा पढ़ना चाहिए। क्योंकि इसके बिना आपको तकड़ा नुकसान हो सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी क्या हैं?
क्रिप्टोकरेंसी डिजिटल संपत्ति हैं- जिनका उपयोग आप निवेश के रूप में और यहां तक ​​कि ऑनलाइन खरीदारी के लिए भी कर सकते हैं। यह क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित है, जिससे नकली या दोहरा खर्च करना लगभग असंभव हो जाता है। लेकिन यहां पर ये ध्यान देने वाली बात है कि, क्रिप्टोकरेंसी भौतिक रूप से मौजूद नहीं है, जिसका अर्थ है कि आप एक बिटकॉइन नहीं उठा सकते हैं और इसे अपने हाथ में पकड़ सकते हैं। और भारतीय रुपये के विपरीत, कोई केंद्रीय प्राधिकरण नहीं है जो क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य को बनाए रखता है।

इसके अलावा, क्रिप्टोक्यूरेंसी के प्रत्येक सिक्के में प्रोग्राम या कोड की एक अनूठी लाइन होती है। इसका मतलब है कि इसे कॉपी नहीं किया जा सकता है, जिससे उन्हें ट्रैक करना और पहचानना आसान हो जाता है।

PAK vs ENG: देश का हर शख्स पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को 1-1 चिट्ठी लिखे, इंग्लैंड के 500 रन बनने पर बोले शोएब अख्तर

Gujarat Election: गुजरात के लोगों ने आज बहुत बड़ा कमाल कर दिया – अरविंद केजरीवाल ने किया यह ट्वीट, यूजर्स ने किए ऐसे कमेंट्स

यह कैसे काम करती है?
क्रिप्टोकरेंसी को सरकार जैसे केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा समर्थित नहीं किया जाता है। इसके बजाय, ये कंप्यूटर की एक श्रृंखला में चलते हैं। यह बिना किसी बिचौलिए के वेब पर पीयर-टू-पीयर से एक्सचेंज किया जाता है। क्रिप्टोकरेंसी का विकेंद्रीकरण किया जाता है – जिसका मतलब है कि कोई भी सरकार या बैंक यह प्रबंधित नहीं करता है कि वे कैसे बने हैं, उनका मूल्य क्या है, या उनका आदान-प्रदान कैसे किया जाएगा। सभी क्रिप्टो लेनदेन क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित हैं – जिसका अर्थ है कि यह केवल बेचने वाले और खरीदने वाले को इसकी सामग्री देखने की अनुमति होती है।

आप क्रिप्टोकरेंसी को कैसे स्टोर कर सकते हैं?
क्रिप्टोकरेंसी को ऑनलाइन ‘वॉलेट’ में स्टोर किया जा सकता है, जिसे आपकी ‘private key’ के यूज से एक्सेस किया जा सकता है। अगर इसे समझा जाए तो एक सुपर-सुरक्षित पासवर्ड के बिना क्रिप्टो को एक्सचेंज नहीं किया जा सकता।

किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद है?
बिटकॉइन सबसे अधिक कारोबार वाली क्रिप्टोकरेंसी है जिसके बारे में हर कोई जानता है और बात करता है, लेकिन यह एकमात्र तरह की क्रिप्टोकरेंसी नहीं है। लिटकोइन, पोलकाडॉट, चेनलिंक, मूनकॉइन, शिबा इनु, डॉगकॉइन आदि भी क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं। कॉइनमार्केट कैप के अनुसार, वर्तमान में 6,000 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं।

क्रिप्टो कैसे खरीदें और बेचें?
इस सवाल का जवाब भी अब आसान हो गया है। बढ़ती लोकप्रियता के चलते अब बाजार में ढेरो क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म्स हैं। ऐसे में देश में Bitcoin और Dogecoin जैसी क्रिप्टोकरेंसी को खरीदना और बेचना काफी आसान है। पॉपुलर प्लेटफॉर्म्स में WazirX, Zebpay, Coinswitch Kuber और CoinDCX GO के नाम शामिल हैं। इन्वेस्टर्स Coinbase और Binance जैसे इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म्स से Bitcoin, Dogecoin और Ethereum जैसी दूसरी क्रिप्टोकरेंसी भी खरीद सकते हैं।

सबसे खास बात यह है कि खरीदारी के ये सभी प्लेटफॉर्म चौबीसों घंटे खुले रहते हैं। क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने और बेचने की प्रक्रिया भी काफी आसान है। आपको केवल इन प्लेटफॉर्म्स पर साइन अप करना होगा। इसके बाद अपना KYC प्रोसेस पूरा कर वॉलेट में मनी ट्रांसफर करना होगा। इसके बाद आप खरीदारी कर पाएंगे।

क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार का रूख क्या है?

फिलहाल, भारत में क्रिप्टोकरेंसी को कवर करने वाली कोई कानून नहीं है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि क्रिप्टोकरेंसी का मालिक होना अवैध है। इस बीच, भारत को अभी तक आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2021 के क्रिप्टोक्यूरेंसी और विनियमन को प्रस्तुत करना बाकी है, जो “आधिकारिक डिजिटल मुद्रा” के शुभारंभ के लिए नियामक ढांचा तैयार करेगा, इसे संसद के बजट सत्र में पेश किया जाना था, लेकिन हितधारकों के साथ चर्चा के चलते इसे टाल दिया गया। आपको बता दें अब तक, केवल कुछ देशों ने क्रिप्टोकरेंसी को कानूनी तौर पर स्वीकार किया है और यह सूची काफी छोटी है।

Crypto Investing Tips: क्रिप्टो में निवेश से पहले इन पांच बातों का रखें ध्यान, पोर्टफोलियो में कितना हिस्सा रखें इसका, एक्सपर्ट्स ने दी ये सलाह

Crypto Investing Tips: क्रिप्टो में निवेश से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी है ताकि घाटे को कुछ कम किया जा सके.

Crypto Investing Tips: क्रिप्टो में निवेश से पहले इन पांच बातों का रखें ध्यान, पोर्टफोलियो में कितना हिस्सा रखें इसका, एक्सपर्ट्स ने दी ये सलाह

आज से शुरू हुए वित्त वर्ष 2023 में क्रिप्टो में निवेश पर हुई कमाई पर फ्लैट 30 फीसदी का टैक्स चुकाना होगा लेकिन इसे अभी लीगल स्टेटस नहीं मिला है. (Image- Pixabay)

Crypto Investing क्रिप्टोकरेंसी क्या है और क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए Tips: भारत में BitCoin जैसी क्रिप्टोकरेंसीज के प्रति निवेशकों का रूझान बढ़ता जा रहा है. हालांकि अब स्थिति थोड़ी बदल चुकी है क्योंकि चालू वित्त वर्ष 2022-23 में अलग तरह की अनिश्चितता शुरू हो सकती है. आज से शुरू हुए वित्त वर्ष 2023 में क्रिप्टो में निवेश पर हुई कमाई पर फ्लैट 30 फीसदी का टैक्स चुकाना होगा लेकिन इसे अभी लीगल स्टेटस नहीं मिला है. इसके अलावा क्रिप्टो के क्रिप्टोकरेंसी क्या है और क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए लेन-देन पर 1 फीसदी टीडीएस भी निवेशकों का सेंटिमेंट प्रभावित कर सकता है. इस अनिश्चितता के बीच क्रिप्टो में निवेश से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी है ताकि घाटे को कुछ कम किया जा सके. एक्सपर्ट्स अपने पोर्टफोलियो में इसे अधिकतम 5 फीसदी तक ही रखने की सलाह दी रहे हैं.

बिना सोचे-समझे निवेश न करें

अगर आप किसी ऐसे एसेट्स में पैसे लगाते हैं जिसके बारे में आपको पर्याप्त जानकारी नहीं है तो भारी नुकसान हो सकता है. अगर आप क्रिप्टो एसेट में पैसे लगाना चाहते हैं तो पहले इसके बारे में पर्याप्त जानकारी हासिल कर लें. अगर आपको लग रहा है कि किसी खास क्रिप्टोकरेंसी में आगे ग्रोथ की बेहतर संभावना है, तभी उसमें पैसे लगाएं. ब्लॉकचेन डेवलपमेंट कंपनी थिंकचेन के फाउंडर और सीईओ दिलीप सेनबर्ग (Dileep Seinberg) के मुताबिक क्रिप्टो प्रोजेक्ट को समझने के लिए इसकी तकनीक और यह कैसे काम करता है, इसे समझना जरूरी है. अगर इसे समझने में दिक्कत आ रही है तो किसी भरोसेमेंद सलाहकार से संपर्क करें.

New Fund Offer: महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड ने लॉन्च किया स्मॉल कैप फंड, 5 दिसंबर तक कर सकते हैं निवेश

PM Kisan: खेती करने के बाद भी नहीं मिल रही किस्‍त, ये हो सकती हैं 12 बड़ी वजह, गलत जानकारी दी तो फंसेंगे

Best SIP for 5 Years Investment 2022: इस साल चुनें ये बेहतरीन एसआईपी, पांच साल में कमा सकते हैं बैंक एफडी से भी अधिक रिटर्न

अधिक पैसे न लगाएं

किसी क्रिप्टो टोकन के बारे में अच्छे से समझ लिया है तो भी इसमें अधिक पैसे लगाने से बचें. आईआईएफएल ग्रुप के स्ट्रेटजी हेड यश उपाध्याय 30 फीसदी के क्रिप्टो टैक्स और 1 फीसदी टीडीएस के चलते क्रिप्टो एसेट्स का आकर्षण कम हुआ है. इसके अलावा भविष्य में इसे लेकर सरकारी नीतियों की अनिश्चितता बनी हुई है. इसके चलते यश का मानना है कि अभी इसमें अधिक पूंजी लगाने का सही समय नहीं है. इसके अलावा 7प्रॉस्पर फाइनेंशियल प्लानर्स के फाउंडर अनमोल गुप्त के मुताबिक क्रिप्टो में निवेश स्माल-कैप स्टॉक्स से भी अधिक रिस्की है तो ऐसे में वह मौजूदा परिस्थितियों में लांग टर्म इंवेस्टमेंट्स के रूप में क्रिप्टो को 5 फीसदी से अधिक पोर्टफोलियो में शामिल करने की सलाह नहीं देंगे.

लंबे समय के लिए करें निवेश

क्रिप्टो के लेन-देन पर 1 फीसदी के टीडीएस को एक्सपर्ट्स क्रिप्टो इंवेस्टमेंट ट्रेंड के लिए निगेटिव मान रहे हैं. गुप्त के मुताबिक ऐसे में सबसे बेहतर यह होगा कि अच्छे टोकन में पैसे लगाए जाएं और शॉर्ट टर्म की बजाय लांग टर्म के लिए पैसे लगाए जाएं जैसे कि 5-10 साल के लिए.

क्रिप्टो को सुरक्षित स्थान पर करें होल्ड

अगर आप ट्रेडिंग नहीं कर रहे हैं तो अपने क्रिप्टो को सुरक्षित स्थान पर रखना सही है. जैसे कि लांग टर्म में पैसे लगाने पर क्रिप्टो को हार्डवेयर वॉलेट्स में रखें. ब्लॉकचेन आधारित आइडेंटिटी मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म अर्थआईडी (EarthID) के वाइस प्रेसिडेंट (रिसर्च) शरत चंद्र के मुताबिक इन्हें रखने के लिए सबसे सुरक्षित ठिकाना सेल्फ-होस्टेड, नॉन-कस्टोडियल वॉलेट्स हैं. चंद्र के मुताबिक डिजिटल एसेट्स की कुंजी अपने पास रखना बेहतर है और इसका बैकअप भी रखें.

टैक्स देनदारी छिपाने की कोशिश न करें

आज नए वित्त वर्ष 2023 में नए टैक्स रूल्स लागू हो गए हैं. क्रिप्टो निवेशकों को ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए जिससे वे कर अधिकारियों के रडार पर आ जाएं. चंद्र के मुताबिक क्रिप्टो निवेशकों को टैक्स छिपाने को लेकर कोई कदम नहीं उठाना चाहिए और ऐसे लोगों से भी दूर रहना चाहिए जो इसकी सलाह देते हैं.

Cryptocurrency में निवेश से पहले इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

Cryptocurrency को लेकर कितना भी रिसर्च कर लें, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि क्रिप्टोकरेंसी बहुत ही रिस्की है.

  • Money9 Hindi
  • Updated On - March 4, 2022 / 04:37 PM IST

Cryptocurrency में निवेश से पहले इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

पिछले कुछ सालों में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को लेकर निवेशकों में, खासकर युवा निवेशकों में क्रेज काफी बढ़ा है. जैसे-जैसे इसकी स्वीकार्यता बढ़ रही है, क्रिप्टो स्कैम (Crypto Scam) भी बढ़ रहे हैं. अभी तक अपने देश में इसे रेग्युलेट नहीं किया गया है. ऐसे में किसी भी डिजिटल असेट (Digital Currency) को लेकर किए जा रहे विज्ञापन पर आंख मूंदकर विश्वास नहीं करना चाहिए. एडवर्टाइजिंग काउंसिल ASCI ने इस संबंध में एक गाइडलाइन भी जारी है. गाइडलाइन के मुताबिक, 1 अप्रैल 2022 से क्रिप्टो और दूसरे डिजिटल असेट्स के विज्ञापनों के लिए डिस्क्लेमर डालना जरूरी है. डिस्क्लेमर में लिखा होगा कि डिजिटल करेंसी अभी भारत में रेग्युलेटेड नहीं है और इसमें निवेश करना खतरनाक है.

bitsCrunch के फाउंडर और सीईओ विजय प्रवीण का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी पर रिटर्न ज्यादा मिलने के कारण स्कैम भी बढ़ गए हैं. ऐसे में निवेशकों को बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है. अपने देश में क्रप्टोकरेंसी के 10 करोड़ से ज्यादा निवेशक हैं. रिसर्च और जागरूकता के अभाव में ये निवेशक भ्रामक विज्ञापन के शिकार बन जाते हैं और मेहनत की जमा-पूंजी गंवा देते हैं. उन्होंने डिजिटल असेट के निवेशकों के लिए पांच खास टिप्स दिए हैं.

रेटिंग: 4.80
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 477