ट्रेडिंग क्या है?- Trading कितने प्रकार की होती है

दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट यानी स्टॉक मार्केट में निवेश करने की सोच रहे हों तो आपको शेयर बाजार में निवेश करने से पहले शेयर मार्केट के बारे में सारी जानकारी पता होनी चाहिए तभी आप शेयर मार्केट में निवेश कर अच्छा खासा पैसा बना पायेगे अगर आप बिना Share Market की जानकारी के शेयर बाजार में निवेश करते हों तो आपका पैसा डूब सकता है, शेयर मार्केट में आपने Trading शब्द जरुर सुना होगा लेकिन अगर आप ट्रेडिंग के बारे में नहीं जानते तो चलो आपको आज इस ब्लॉग पोस्ट में बताते है की आखिर ट्रेडिंग क्या है? ( trading kya hai ) ओर ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है.

ट्रेडिंग क्या है?

किसी वस्तु या सेवा को अच्छे दाम में खरीदना तथा कुछ ही समय में जब उस वस्तु या सेवा का दाम खरीदे गये दाम से ऊपर चले जाये उसे बेच देना ट्रेडिंग कहलाती है,

ट्रेडर्स का ट्रेडिंग करने का मुख्य मकसद किसी वस्तु या सेवा को खरीद कर कम समय में लाभ कमाना होता है. इसलिए आजकल शेयर मार्केट में ट्रेडिंग को बहुत ज्यादा पसंद किया जाता है, बहुत सारे ट्रेडर्स शेयरों पर ट्रेडिंग कर हजारों से लेकर लाखों रुपये रोजाना कमा लेते है.

Types of Trading

ट्रेडिंग को हिन्दी में क्या कहाँ जाता है?

ट्रेडिंग को हिन्दी भाषा में 'व्यापार ' कहते है यानी आसान भाषा में कहे तो खरीदने ओर बेचने का व्यापार.

ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? ( Types of Trading )

शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट में वैसे तो ट्रेडिंग बहुत प्रकार की होती है, लेकिन ज्यादातर ट्रेडर्स चार- पाँच प्रकार की ट्रेडिंग करना ही पसंद करते है , जो निम्न है

  • Scalping Trading
  • Intraday Trading
  • BTST और STBT Trading
  • Swing Trading
  • Positional Trading

1- Scalping Trading

वह trade जो कुछ मिनटो के अंदर - अंदर कर दी जाती है मतलब आसानी से समझें तो इस ट्रेड में ट्रेडर्स कुछ ही मिनट के भीतर शेयर बिक्री कर तथा उसे बेच मुनाफा कमा लेते है ऐसी ट्रेड को Scalping Trading कहते है, ओर इस ट्रेडिंग में trade कर रहे ट्रेडर्स को Scalpers कहाँ जाता है, इस ट्रेडिंग को बहुत रिस्की माना जाता है, क्योंकि इसमें आपको कुछ ही मिनटो के अंदर अपने अनुमान, सूझ - बूझ के चलते शेयर पर ट्रेडिंग कर उससे मुनाफा निकालना पड़ता है |

2- Intraday Trading

वह ट्रेड जिसको एक दिन के लिए ट्रेड किया जाता है उसे Intraday Trading कहते है, मतलब आसानी से समझें तो इस ट्रेड में ट्रेडर्स सुबह मार्केट खुलने ( 9:15 am ) के बाद शेयर खरीद लेते है, ओर शाम को मार्केट बंद ( 3:30 pm ) होने से पहले शेयर को बेच कर मुनाफा कमाते है, इस प्रकार के ट्रेडर्स को Intraday Traders कहते है, Intraday ट्रेडिंग भी Scalping ट्रेडिंग के समान ही होती है लेकिन इसमें Scalping ट्रेडिंग से कम रिस्क होता है क्योंकि इसमें ट्रेडर्स शेयर को तभी खरीदता है जब शेयर के दाम कम हों ओर उसको लगता है, की उस शेयर के दाम कुछ मिनटो या घंटो में ऊपर जाने वाले है, ओर जैसे ही शेयर के दाम ऊपर जाते है, वह उसे बेच मुनाफा कमा लेता है|

3- BTST और STBT Trading

BTST का फुल फॉर्म होता है, BUY TODAY SELL TOMORROW जिसका हिन्दी में मतलब होता है आज खरीदे कल बेचे यानी इस ट्रेडिंग में ट्रेडर्स आज इस उम्मीद के साथ शेयर खरीदता है, की कल उस शेयर की कीमत बढ़ जायेगी ओर जैसे ही अगले दिन मार्केट खुलता है ट्रेडर्स अपने ट्रेड किये गये शेयर को बेच कर मुनाफा कमा लेता है, इसमें ये होता है की ट्रेडर्स आज मार्केट बंद होने से पहले मार्केट को देखता है ओर उसको अगर लगता है की कल मार्केट में इन शेयर में उछाल देखने को मिलेगा तो वो शेयर buy कर लेता है ओर जब दूसरे दिन मार्केट खुलती है तो वो शेयर को Sell कर मुनाफा कमा लेता है |

STBT का फुल फॉर्म होता है, SELL TODAY BUY TOMORROW जिसका हिन्दी में मतलब होता है आज बेचे कल खरीदे यानी यह ट्रेडिंग ठीक BTST के उलट होती है, इसमें आज सेल करना होता है, और अगले दिन शेयर की कीमत जब ओर गिर जाये तब उसे buy किया जाता है तथा Sell और Buy के बीच के अंतर को प्रॉफिट में गिना जाता है |

4- Swing Trading

वह trade जिसमें ट्रेडर्स शेयर को कुछ दिनों से लेकर हफ्तों तक के लिए खरीद कर होल्ड रखते है, तथा ग्रोथ दिखने पर बेच कर मुनाफा कमाते है, इसमें ट्रेडर्स एक अच्छे शेयर को देख उसमे trade करते है, जो ट्रेड दिनों से लेकर हफ्तों तक की होती है ओर जैसे ट्रेड में थोड़ा सा उछाल देखने को मिलता है ट्रेडर्स शेयर को बेच मुनाफा बना लेते है |

5- Positional Trading

पोजीशनल ट्रेडिंग में ट्रेडर्स, trade को महीनो तक होल्ड करके रखते है, तथा जब उस ट्रेड में जब अच्छा उछाल देखने को मिलता है उसे बेच कर मुनाफा कमाते है,

आसानी से समझें तो इस ट्रेडिंग में ट्रेडर्स किसी कंपनी के शेयर को एक महीने से एक साल तक होल्ड करके रखता है, तथा जब उस शेयर में अच्छा उछाल देखने को मिलता है, तब ट्रेडर्स उस शेयर को बेच कर अच्छा मुनाफा कमा लेता है|

Trading क्या है Trading कितने प्रकार कि होती है?

Trading क्या है? यह प्रश्न ज्यादातर स्टॉक मार्केट में नए लोगों को परेशान करता है। आज कई small retailers स्टॉक मार्केट में है जो trading और investment में अंतर नहीं समझ पाते है। अगर आपको भी ट्रेडिंग शब्द का मतलब नहीं पता है। तो आज कि लेख में हम आपको trading meaning in hindi के बारे में बारीकी से समझाएंगे। इसलिए आज ट्रेडिग कितने प्रकार के होते हैं का पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए इस अंत तक पढ़े। तो फिर आइए जानते हैं।

Trading क्या है?

trading-kya-hai

Trading को आसान शब्दों में व्याख्या करें तो हिंदी में इसे " व्यापार " कहा जाता है। यानी कि किसी वस्तु या सेवा का आदान प्रदान करके मुनाफा कमाना।

Stock Market Trading भी इसी तरह होता है। जैसे कि हम किसी वस्तु को खरीद और बिक्री करके मुनाफा कमाते हैं। बिल्कुल वैसे ही स्टॉक मार्केट में वस्तु की जगह कंपनियों के शेयर कि खरीद और बिक्री करके मुनाफा कमाया जाता है। ट्रेडिंग कि समय अवधि 1 साल की होती है। मतलब यह हुआ कि 1 साल के अंदर शेयर को खरीदना और बेचना है। अगर एक साल के बाद शेयर को बेचते हैं तो यह निवेश कहलाता है। यह एक तरह का ऑनलाइन पर आधारित बिजनेस होता है।

उदाहरण के तौर पर अगर हम share market में शेयर खरीद रहे हैं तो हमारे जैसे कोई अन्य व्यक्ति होगा जो उन शेयर को बेच रहा होगा। चलिए इसे अब अपने डेली लाइफ से जोड़ते हैं। मान लीजिए आपने होलसेल स्टोर से कोई सामान ₹50 खरीदा और उसे बाद में ₹60 लगा कर कस्टमर्स को बेच दिया। अगर यह आप रोजाना करते हैं तो इसे ट्रेडिंग कहा जाता है।

बिल्कुल ऐसे ही शेयर बाजार में भी होता है। आप शेयर को खरीदते हैं और 1 साल के अंदर खरीदे ट्रेडिग कितने प्रकार के होते हैं हुए शेयर को प्राइस बढ़ने के बाद बेच देते है। तो यह Stock Market Trading कहलाता है।

Trading को काफी रिस्की कहा जाता है क्योंकि इसमें यह कोई नहीं जानता कि कुछ समय बाद शेयर के भाव में क्या मूवमेंट आयेगा। अगर शेयर से जुड़ी न्यूज़ अच्छी आती है तो शेयर के भाव में तेजी दिखाई देगी। वहीं इसका उल्टा करे तो शेयर से जुड़ी न्यूज़ खराब आती है तो शेयर के भाव में मंदी देखने को मिल सकती है।

Stock Market Trading कितने प्रकार के होते हैं?

  1. Scalping Trading
  2. Intraday Trading
  3. Swing Trading
  4. Positional Trading

Scalping Trading क्या है?

Scalping Trading वह trade जो कुछ सेकंड या मिनट के लिए trade किया जाए। यानी मतलब यह हुआ कि वह traders जो केवल कुछ सेकंड या मिनट के लिए शेयर की खरीद और बिक्री करते हैं। ऐसे ट्रेडर्स को scalpers कहा जाता है। बता दू कि scalping trading को सबसे जायदा रिस्की होता है।

Intraday Trading क्या है?

Intraday Trading वह trade जो 1 दिन के लिए trade किया जाए। यानी मतलब यह हुआ कि वह traders जो Market (9:15 am) के खुलने के बाद शेयर खरीद लेते हैं। और मार्केट बंद(3:30 pm) होने से पहले शेयर को बेच देते है। ऐसे ट्रेडर्स को Intraday ट्रेडर्स कहा जाता है। बता दू कि Intraday ट्रेडिंग scalping trading से थोड़ा कम रिस्की होता है। इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए पोस्ट को पढ़े।

Swing Trading क्या है?

Swing Trading वह trade जो कुछ दिनों के लिए शेयर को खरीदते और बेचते है। यानी मतलब यह हुआ कि वह traders जो एक दो हफ़्ते के लिए शेयर को खरीदने के बाद बेच देते हैं। इसमें ट्रेडर को पूरे दिन चार्ट को देखना नहीं पड़ता है। यह उन लोगो ( जॉब, स्टूडेंट्स आदि) के लिए बेहतर होता है जो ट्रेडिंग में अपना पूरा दिन नहीं दे सकते हैं।

Positional Trading क्या है?

Positional Trading वह ट्रेड जो कुछ महीने के लिए होल्ड किए जाएं। यह मार्केट का long term movement को कैप्चर करने के लिए किया जाता है। ताकि एक अच्छा मुनाफा हो सके। शेयर बाजार की रोजाना के up-down से इन पर जायदा असर नहीं होता है। यह बाकी सभी trading से कम रिस्की होता है।

Trading और Investment में क्या अंतर है?

  1. Trading में शेयर को short term के लिए खरीदा जाता है। वहीं Investment में शेयर को लंबे समय के लिए खरीद लिया जाता है।
  2. Trading में टेक्निकल एनालिसिस की जानकारी होना जरूरी होता है। वहीं Investment में fundamental analysis की जानकारी प्राप्त होनी चाहिए।
  3. Trading कि अवधि 1 साल तक की होती है। वहीं निवेश कि अवधि 1 साल से ज्यादा कि होती है।
  4. Trading करने वाले लोगों को traders कहा जाता है। वहीं निवेश (Investment) करने वाले लोगों को निवेशक (Invester) कहां जाता है।
  5. Trading short term मुनाफे को कमाने के लिए किया जाता है वहीं निवेश लंबी अवधि के मुनाफे को कमाने के लिए किया जाता है।

आपने क्या जाना

जैसे कि आपने हमारी आज के लेख में trading kya hai के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की है। आज आपने ट्रेडिंग के साथ साथ ट्रेडिंग के प्रकार और निवेश से ट्रेडिंग किस तरह अलग होता है यह भी जाना है। अगर आपको भी share market में trade करना है तो सबसे पहले इसके बारे में विस्तार से जानकारी अवश्य ले। नहीं तो आपको अच्छा खासा नुकसान झेलना पड़ सकता है।

ट्रेडिग कितने प्रकार के होते हैं

USD फेकआउट्स ने पुष्टि की + AUDJPY सिग्नल बेचें

USD फेकआउट्स ने पुष्टि की + AUDJPY सिग्नल बेचें

आज के लाइव ट्रेडिंग सत्र में, हम प्रमुख मुद्रा जोड़े में फर्जीवाड़ा पर चले गए, और फिर हमने AUDJPY के लिए संभावित बिक्री सेटअप पर चर्चा की। कल के लाइव सेशन के दौरान, हमने नकली की पहचान करने के महत्वपूर्ण विषय को कवर किया। हमने इस्तेमाल किया…

https://www.forexlens.com/wp-content/uploads/2020/10/Forex-Lens-Youtube-USD-Fakeouts-confirmed-plus-AUDJPY-sell-signal.jpg 720 1280 Forex Lens समाचार https://www.forexlens.com/wp-content/uploads/2018/01/forex-lens-logo-expert-forex-signals.png Forex Lens समाचार 2020-10-14 14:16:25 2020-10-14 14:16:25 USD फेकआउट्स ने पुष्टि की + AUDJPY सिग्नल बेचें

विदेशी मुद्रा के बारे में अधिक

कनाडा की वार्ता 167 पर एंड्रयू क्रिस्टल के साथ सिरियसएक्सएम पर जॉन मॉर्गन को सुनें

विदेशी मुद्रा विषय

फेसबुक

SiriusXM पर विशेष रुप से प्रदर्शित

जानें, व्यापार, लाभ

Forex Lens दुनिया भर के व्यापारियों के लिए गुणवत्तापूर्ण व्यापारिक समाधान प्रदान करता है, जिससे व्यापारियों को बाजारों में पेशेवर दृष्टिकोण अपनाने में मदद मिलती है। यही कारण है कि हमारे व्यापारी जीत जाते हैं जबकि 95% खुदरा व्यापारी विफल हो जाते हैं।

संचालन घंटे

मो-फ्र: 9: 00-17: 00 (ईएसटी)
Sa: बंद
Su: बंद

डीबीए: Forex Lens

सीएफ टोरंटो ईटन सेंटर,
२५० यंग सेंट सुइट २२०१,
टोरंटो, एम 5 जी 1 बी 1 पर

ध्यान रखें कि क्रिप्टो सहित किसी भी बाजार में विदेशी मुद्रा व्यापार और व्यापार में वित्तीय नुकसान के साथ-साथ लाभ की संभावना है। पैसे के साथ व्यापार न करें जिसे आप जाने नहीं दे सकते। व्यापार करते समय आपके सभी पैसे खोना संभव है क्योंकि कई कारक हैं जो आपके नियंत्रण में नहीं हैं या हमारे हैं। कुछ विदेशी मुद्रा दलाल आपको अपनी शेष राशि से अधिक और मार्जिन पर जाने वाली व्यापारिक पूंजी के लिए जिम्मेदार ठहरा सकते हैं। ज्ञात हो कि यह जिम्मेदारी आपकी है। Forex Lens हमारी सेवाओं, विदेशी मुद्रा संकेतों, क्रिप्टो संकेतों, प्रबंधित खातों या किसी भी अन्य बाजार संकेतों के परिणामस्वरूप होने वाले किसी भी नुकसान के लिए कोई ज़िम्मेदारी नहीं लेता है जो हम समय-समय पर प्रदान कर सकते हैं। Forex Lens एक शैक्षिक उपकरण के रूप में उपयोग करने के लिए आपको यह देखने में मदद करने के लिए कि पेशेवर दिन व्यापारी और स्विंग व्यापारी एक दिन से दिन और सप्ताह से सप्ताह के आधार पर कैसे संचालित होते हैं। एक ग्राहक के रूप में साइन अप करके आप सहमत हैं कि Forex Lens वित्तीय सलाह नहीं दे रहा है, बल्कि बाजारों पर एक शैक्षिक दृष्टिकोण प्रदान कर रहा है। हम अपने संकेतों और / या सेवाओं या इस एक सहित हमारी किसी भी वेबसाइट पर विदेशी मुद्रा से संबंधित उत्पादों के परिणामस्वरूप आपके खाते में लाभ या हानि के लिए कोई ज़िम्मेदारी नहीं लेते हैं।

यह साइट कुकीज़ का उपयोग करती है। साइट ब्राउज़ करना जारी रखते हुए, आप कुकीज़ के हमारे उपयोग से सहमत हैं।

कुकी और गोपनीयता सेटिंग्स

हम आपके डिवाइस पर कुकीज़ सेट करने का अनुरोध कर सकते हैं। जब आप हमारी वेबसाइट पर जाते हैं, तो आप हमारे साथ बातचीत कैसे करते हैं, अपने उपयोगकर्ता अनुभव को समृद्ध करने के लिए, और हमारी वेबसाइट पर अपने रिश्ते को अनुकूलित करने के लिए हम कुकीज़ का उपयोग करते हैं।

अधिक जानने के लिए विभिन्न श्रेणी के शीर्षकों पर क्लिक करें। आप अपनी कुछ वरीयताओं को भी बदल सकते हैं। ध्यान दें कि कुछ प्रकार की कुकीज़ को अवरुद्ध करना हमारी वेबसाइटों और हमारे द्वारा दी जाने वाली सेवाओं पर आपके अनुभव को प्रभावित कर सकता है।

ये कुकीज़ आपको हमारी वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध सेवाएं प्रदान करने और इसकी कुछ विशेषताओं का उपयोग करने के लिए सख्ती से आवश्यक हैं।

क्योंकि ये कुकीज़ वेबसाइट को वितरित करने के लिए कड़ाई से आवश्यक हैं, आप हमारी साइट के काम करने के तरीके को प्रभावित किए बिना उन्हें मना नहीं कर सकते। आप अपनी ब्राउज़र सेटिंग्स को बदलकर उन्हें ब्लॉक या डिलीट कर सकते हैं और इस वेबसाइट पर सभी कुकीज़ को ब्लॉक कर सकते हैं।

ये कुकीज़ जानकारी एकत्र करती हैं जो या तो समग्र रूप में उपयोग की जाती हैं ताकि हमें यह समझने में मदद मिले कि हमारी वेबसाइट का उपयोग कैसे किया जा रहा है या हमारे विपणन अभियान कितने प्रभावी हैं, या अपने अनुभव को बढ़ाने के लिए हमारी वेबसाइट और एप्लिकेशन को आपके लिए अनुकूलित करने में हमारी सहायता करें।

यदि आप नहीं चाहते हैं कि हम आपके विज़िटर को हमारी साइट पर ट्रैक करें तो आप यहां अपने ब्राउज़र में ट्रैकिंग अक्षम कर सकते हैं:

हम Google Webfonts, Google मैप्स और बाहरी वीडियो प्रदाताओं जैसी विभिन्न बाहरी सेवाओं का भी उपयोग करते हैं। चूंकि ये प्रदाता आपके आईपी पते की तरह व्यक्तिगत डेटा एकत्र कर सकते हैं, इसलिए हम आपको उन्हें यहाँ ब्लॉक करने की अनुमति देते हैं। कृपया ध्यान रखें कि इससे हमारी साइट की कार्यक्षमता और उपस्थिति कम हो सकती है। पृष्ठ को पुनः लोड करने के बाद परिवर्तन प्रभावी होंगे।

Google Webfont सेटिंग:

Google मानचित्र सेटिंग:

Vimeo और Youtube वीडियो एम्बेड करता है:

आप हमारी गोपनीयता नीति पृष्ठ पर हमारी कुकीज़ और गोपनीयता सेटिंग्स के बारे में विस्तार से पढ़ सकते हैं।

एक्स ओपन हब (X OPEN HUB) डेमो अकाउंट कैसे सेट करें – स्टेप बाय स्टेप

एक्स ओपन हब(X Open Hub) के साथ डेमो अकाउंट बनाने और सेट करने के लिए, व्यापारी इन चरणों का पालन कर सकते हैं:

सर्वश्रेष्ठ रेटेड ट्रेडिग कितने प्रकार के होते हैं विदेशी मुद्रा दलाल

  1. एक्स ओपन हब(X Open Hub) वेबसाइट पर नेविगेट करें और होमपेज पर सबसे ऊपर दाहिने पैनल में स्थित ’ट्राई डेमो’ बैनर पर क्लिक करें।
  2. व्यापारी को एक नए पृष्ठ पर पुनर्निर्देशित किया जाएगा जहां व्यापारी को अपना ईमेल पता प्रदान करने की आवश्यकता होगी ।
  3. इसके अलावा, व्यापारी को यह घोषित करना होगा कि वे समझते हैं कि व्यक्तिगत डेटा संसाधित किया जाएगा, और यह कि व्यापारी वाणिज्यिक जानकारी प्राप्त करने के लिए सहमति प्रदान करता है।
  4. अंत में, व्यापारी को ‘लॉग इन टू प्लेटफॉर्म’ क्लिक करने से पहले ’कैप्चा’ का चयन करना होगा।
  5. व्यापारी को XOH ट्रैडर पर पुनर्निर्देशित किया जाएगा जहां व्यापारी डेमो खाते का उपयोग करने के लिए आगे बढ़ सकता है, और इसके अलावा, व्यापारी को एक ईमेल प्राप्त होगा जिसमे बनाए गए डेमो खाते के लिए खाता विवरण होगा।

आप शायद इसमें रुचि रखते हों X OPEN HUB साइन अप बोनस

एक्स ओपन हब(X Open Hub) डेमो अकाउंट की विशेषताएं

एक्स ओपन हब(X Open Hub) डेमो खाता एक्स ओपन हब(X Open Hub) के मालिकाना, इन-हाउस ट्रेडिग प्लेटफॉर्म, जो कि एक्सओएच ट्रेडर के नाम से है, जो व्यापारियों को एक प्लेटफॉर्म प्रदान करता है जो किसी भी वेब ब्राउज़र से सुलभ उपलब्ध है और जिसका उपयोग करना आसान है।

इसके अलावा, XOH ट्रेडर पूरी तरह से अनुकूलन योग्य है, जो व्यापारियों को जैसे वह चाहें वैसे डेमो अकाउंट का उपयोग करने की अनुमति देता है ताकि ट्रेडिग रणनीतियों का पूरी तरह से परीक्षण किया जा सके और शुरुआती व्यापारियों को एक दर्पण जैसा अनुभव प्रदान करती है कि लाइव ट्रेडिग वातावरण कैसा लगेगा और कैसा दिखेगा।

XOH ट्रेडर व्यापारियों को विभिन्न वित्तीय इन्स्ट्रमेंट पर वास्तविक समय (real-time) के प्रदर्शन के आंकड़े भी प्रदान करता है।

Top 10 Demat & Trading Account Opening all information in Hindi

Top 10 Demat & Trading Account Opening all information in Hindi

Share Market में Stock/Shares/Securities की पूरी प्रक्रिया एक Electronic Seystam पर चलती है, जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति वहां मौझुद हुए बगेर कही से भी Internet के माध्यम से उन Shares/Stocks को Buy और Sell कर सकता है| तो जिस प्रकार paisa के लेनदेन के लिए Bank Account की जरुरत होती है, उसी प्रकार से Stocks buy और sell के लिए एक Special Account की आवश्यकता होती है, उसे Trading Account कहते है|


हर trending account की एक अलग trending संख्या (Trading id) होती है जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति कही से भी electronic माध्यम के द्वारा stock या share की trending कर सकता है| SEBI द्वारा कहां गया है की stock/share की trending के लिए Trading Account होना जरुरी है, इसके बिना कोई भी व्यक्ति share/stock की buy और share नहीं कर सकता|

Demat account क्या है. What is Demat Account

Demat का मतलब होता है shares की buying और selling के लिए की जा रही कागजी कार्यवाही को ख़त्म कर उसे Digital रूप प्रदान करना| जब shares/stock की trending होती हैं तो Demat Account एक Storage की सुविधा प्रदान करता है, जिसके माध्यम से share को digital रूप प्रदान कर account में add कर दिया जाता है| Demat account एक विशेष account जैसा होता है, जिसका मुख्य उद्देश्य shares/stock को security प्रदान करना होता है, इसके use से share/stock को सुरक्षित रूप से add किया जा सकता है और Transfer किया जा सकता है|


सरल शब्दों में कहाँ जाए तो जिस प्रकार एक bank account में पैसो को Digital रूप प्रदान कर securely रखा जाता है, उसी प्रकार Demat Account में भी shares/stocks को Digital बनाकर उन्हें securely रूप से Store किया जाता है|

Demet account और trending account में अंतर

Difference between Demat Account & Trading Account

Trading Account and Demat Account दोनों ही एक दुसरे के साथ Combo है लेकिन फिर भी इनमे कई सारे defernse पाए जाते है

Trending account का use share/stock को buy और sell के लिए किया जाता है जबकि Demat account को उन shares का stock करने यानी Storage करने के लिए use में लाया जाता है|
Trading Account stock exchange में order देने या Derivative के तहत काम आता है और Demat Account उन stock को securely रूप से जमा रखने तथा securely रूप से transfer करने के लिए use होता है|
Trading Account एक Electronic रूप से चलने वाले seystam का भाग है जबकि Demat Account एक “डिमटेरियलाइज्ड account” का एक रूप है|


Demat Account में आपको एक Account एक account है जो shares को Digital रूप में जमा करने और निकालने का काम करता है और Trading Account आपको बहुत ही सरल माध्यम से कही से भी shares को buying and selling तथा trending करने की सुविधा प्रदान करता है|
हर अलग Trading Account की एक अलग Trading id होती है जबकि Demat Account उसी trending account से जुड़ा होता है|

India के सबसे सर्वश्रेष्ठ Demat और trending account

Best 10 Demat Account & Trading Account ट्रेडिग कितने प्रकार के होते हैं in India

India में ऐसी कई सारी company है जो बहुत ही कम Cost पर Trading Account और Demat Account की सुविधाए available करती है| नीचे उनकी पूरी information दी गई है जिसे देख कर आप अपने लिए सबसे बेहतर Demat और Trading Service का चुनाव कर सकते है| आप पहले दो Top Demat Account के link पर जाकर Direct अपना Demat Account opening कर सकते है –

MY Recommended The Best Demat Account Forever

Zerodha vs 5paisa

देखिए अगर सबसे अच्छे Demat Account की बात करे तो उसमे दो Account आते है 5Paisa और Zerodha. लेकिन इन दोनों में से यह साफ़ तौर पर कैहना की कौनसा सबसे अच्छा है तो यह काम काफी मुश्किल है| क्योकि दोनों हो अपनी बेहतरीन Services दे रहे है, आप दोनों की तुलना करके अपने लिए चुनाव कर सकते है

Open Demat Account Charges

5paisa में आपको इसके लिए 650 Rupees देने होंगे, जबकि Zerodha में यह Total 300 Rupees ही Charges है|

Maintenance Charges – की बात करे तो यहाँ Zerodha में 300 रुपये Per Year charge है और 5Paise में पहले year Maintenance charge Free होता है, जबकि दुसरे year से यह 400 रुपये सालाना हो जाता है|

Brokerage Charges – सबसे जरुरी बात अगर आप Daily Trader है तो आपके लिए brokerage change सबसे महत्वपूर्ण है| 5Paisa जहाँ हर Transaction पर 10/- रुपये लेता है यानी आपके द्वारा किया गया Transaction कितने भी Amount का हो, आपको उस पर केवल 10 रुपये pay करने है| लेकिन Zerodha में आपको हर Transaction पर उस Amount का 0.01% या 20 रुपये जो भी कम हो| यानी 2 Lack से नीचे 0.01% और अधिक पर 20 रूपये|


Delivery Charges Zerodha में कोई Delivery Charge नहीं है और बाकी charges 0.01% या 20 रुपये के हिसाब से ही है| 5Paise की बात करे तो इसमे पहली 5 Transaction Free है और बाकी सभी प्रकार की Delivery पर 10 रुपये Fixed charge है|
User Friendly Zerodha का Interface user के लिए थोडा friendly है और 5Paisa थोडा सा Complex है| बाकी अन्य information के लिए आप नीचे देख सकते है और यदि आप अभी अपना Demat Account Open करवाना चाहते है तो आप Zerodha या 5Paise की Website पर जाकर 15 minutes के अन्दर account open कर सकते है|

रेटिंग: 4.77
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 321