[Spread Trading] What is Spread Trading Meaning in Hindi | Spread Trading Strategies

हेल्लो दोस्तों, आज हम इस पोस्ट में जानगे की What is Spread Trading Meaning in Hindi और Spread Trading Strategies क्या क्या है, इसके बारे में जानगे । ये तो आपको पता ही है की पुराने जमाने के अनुसार आज की प्रोधोगिकी आय में वृद्धि होने लगी है। जिसके साथ ही साथ आज के समय Trading करने का भी तरीका बदल चूका है, क्युकी शुरुआती समय में ज्यादातर Steel, Banking व् खनन जैसे उद्धोगो के Share Buy की बहुत मांग ज्यादा थी और आज के समय Tech company व् Online sector बहुत तेज़ी से आगे बढ़ने लगे है जिसके चलते धीरे धीरे लोगो की ट्रेडिंग करने के तरिके में भी बदलाव आया है।

ऐसे में यदि आप भी Spread Trading me invest कर के Profit कमाना चाहते हो लेकिन आपको नही पता Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति की Spread Trading kya hai तो आप हमारे साथ इस पोस्ट में शुरू से लेकर अंत तक इस पोस्ट में बने रहे । जिससे की हम आपको आसानी से समझा सकेगे की Spread Trading kya hai और Spread Trade meaning क्या होता है, जिससे की Spread Trading में निवेश करते समय आपके मन मे किसी प्रकार का कोई सवाल न हो और आप आसानी से Trading कर सके ।

Spread Trading में दो प्रतिभूतियों का हिस्सा मूल्य परिवर्तन प्रदान करता है जोकि परिसम्पति की खरीद और बेच के बिच के मूल्य के अंतर पर निर्भर करता है, जोकि पूर्ण रूप से विदेशी मुंद्रा पर निर्भर करती है । Spread Trading कहलाती है ।

Spread Trading kya hai Hindi mein

यह Spread Trading एक ऐसी Share Trading है जोकि सटीक रूप से ट्रेडों के एक जोड़े के रूप में पहचाना Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति जाता है, जिसका इस्तेमाल एक निवेशक करता है । जिसमे एक निश्चित वायदा व विकल्प खरीदना शामिल शामिल है । वैसे तो इस ट्रेडों में अन्य प्रकार की प्रतिभूतियों Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति के लिए भी किया जाता है जबकि वही दूसरी तरफ एक दुसरे वायदा या विकल्प के साथ बेचना शामिल होता है जिसे हम Spread Trading के नाम से जानते है ।

  • स्प्रेड ट्रेडिंग – जिसे relative value Trading Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति के रूप में भी जाना जाता है – एक इकाई के रूप में संबंधित securities की एक साथ खरीद और बिक्री है, जिसे दो securities के बीच स्प्रेड (मूल्य अंतर) में बदलाव से लाभ के लिए डिज़ाइन किया गया है।
  • निवेशकों के लिए प्राथमिक लक्ष्य स्प्रेड को चौड़ा या संकीर्ण होने पर लाभ उत्पन्न करने के तरीके के रूप में स्प्रेड का उपयोग करना है।
  • नामों के साथ कई प्रकार के स्प्रेड और स्प्रेड हैं; स्प्रेड के सबसे Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति सामान्य प्रकार विकल्प स्प्रेड और inter-commodity Spreads हैं।

What is Spread Trading Meaning in Hindi

Spread Trading meaning एक या एक से अधिक ट्रेडों के जोड़ो के रूप में जाना जाता है जोकि निवेशक द्वारा ही किया जाता है । Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति जिसे हम Relative Value Trading के नाम से जानते है, जिसमे हम रणनीति का इस्तेमाल कर मार्किट लाभ या हानी Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति में है उसके हिसाब से लाभ प्राप्त करना होता है । Spread Trading कहलाता है ।

Spread Trading Types in Hindi – Spread Trading Strategies

Inter-commodity Spread Trading

इंटर-कमोडिटी स्प्रेड तब बनता है जब कोई निवेशक उन वस्तुओं को खरीदता और बेचता है जो निश्चित रूप से अलग हैं, लेकिन संबंधित भी हैं। वस्तुओं के बीच एक आर्थिक संबंध मौजूद है। उदाहरण के लिए:-

  • Crush Spread सोयाबीन और उनके उप-उत्पादों के बीच का संबंध है, जो सोयाबीन को तेल या भोजन में संसाधित करने के महत्व को दर्शाता है।
  • Spark Spread बिजली और प्राकृतिक गैस के बीच का संबंध है; ऐसे कई पावर स्टेशन हैं जिन्हें ईंधन के लिए गैस की आवश्यकता होती है।
  • एक दरार प्रसार तेल और उसके उपोत्पादों के बीच का संबंध है, जिसमें प्रसार कच्चे तेल को गैस में परिष्कृत करने के अंतर्निहित Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति मूल्य को दर्शाता है।

Option Spread Trading

एक अन्य Common Spread option प्रसार है। जिसमें एक व्यापारी एक ही प्रकार के कई विकल्प खरीदेगा और बेचेगा – या तो कॉल या पुट – एक ही अंतर्निहित परिसंपत्ति के साथ। ये विकल्प समान हैं, लेकिन आम तौर पर स्ट्राइक मूल्य, समाप्ति तिथि या दोनों के संदर्भ में भिन्न होते हैं।

Spread Trading Rules in Hindi

यदि आप Spread Trading में निवेश करना चाहते हो तो Spread Trading me nivesh करने से पहले आपको Spread Trading Rules के बारे में जरुर जान ले, जिससे की आप समय पर इनका लाभ उठाने में वंचित न रह सके :-

  • Spread Trading उस निवेशक पर निर्भर करता है जो Spread Trading के लिए एक साथ 2 वस्तुओं को चुनता है, ऐसे में निवेशक के दोनों निवेश एक दुसरे के जोखिम को कम करने में मदद करते है ।
  • ब्रोकर मार्किट के उतार चढाव पर निश्चित Spread Trading की कोई गारंटी नही देती है ।
  • Spread Trading में बाकि निवेश के अनुसार काफी risk होता है ।
  • बाज़ार बहुत तर्लीय है जिसके चलते इसमें काफी उतार चढाव बना रहता है ।

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूँ, आप सभी को Spread Trading kya hai और Spread Trading Meaning in Hindi क्या है अच्छे से समझ आया होगा, यदि आभी भी आपके मन में कोई भी सवाल हो तो आप हमें comments में जरुर बता सकते Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति है । हमें आपके सभी सवालों का जवाब देते हुए बहुत ख़ुशी होती है । हमारे साथ जुड़े रहने और शेयर Market related इस प्रकार की जानकारी के लिए हमे सोशल मीडिया पर फॉलो करे। धन्यावाद।

यह भी पढ़े :-

Syan Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति Gyan काफी समय से Money Investment , Money Management , Finacial , Share market , Mutual Fund रिलेटेड जानकारी के लिए बुक्स स्टडी कर रहे है और Finance related आर्टिकल लिख रहे है। यह हमारा मकसद आसान भाषा में Share market , Finace रेलतद जानकारी देना है। धन्यावाद।

Pocket Option पावर ट्रेंड ट्रेडिंग रणनीति

403. Forbidden.

You don't have permission to view this page.

Please visit our contact page, and select "I need help with my account" if you believe this is an error. Please include your IP address in the description.

रेटिंग: 4.91
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 862