india penny stocks

Penny stocks क्या है? पैनी स्टॉक्स के बारे में जानने योग्य महत्वतपूर्ण बातें

शेयर बाजार से जुड़े हुए लोग अक्सर ‘penny stocks’ के बारे में सुनते रहते हैं किन्तु क्या आप जानते हैं कि यह क्या होता है? यदि कोई शेयर पैनी स्टॉक्स बन चूका है तो इसका मतलब क्या होता है? यदि आप नहीं जानते हैं और इसके बारे में समझना चाहते हैं तो कृपया इस आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहें.

दरअसल low price stocks के नाम से भी जाना जानेवाला इन स्टॉक्स के दाम बहुत कम होते हैं.

शुरूआती लोगों के लिए जो ट्रेडिंग में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहते हैं यह एक अच्छा दांव हो सकता है. इन शेयरों के दाम कम होने से आपको ट्रेडिंग के लिए ज्यादा निवेश करने की आवश्यकता नहीं होती है फलस्वरूप नुकसान कम होता है.

आपको एक महत्वपूर्ण बात बता दें कि पेनी स्टॉक्स के निवेशक बाजार के उतार – चढ़ाव से ज्यादा प्रभावित होते हैं. कहने का तात्पर्य यह है कि पैनी स्टॉक्स सस्ते जरूर होते हैं लेकिन इसमें जोखिम भी बहुत रहता है. कई बार बाजार में तेजी का फायदा भी इनको होता है.

क्या आपको penny stocks में ट्रेड करना चाहिए? पेनी स्टॉक क्या हैं? क्या वे निवेश करने के लिए अच्छे हैं? इन सभी प्रश्नों का जवाब आपको इस लेख में प्राप्त होगा.

Table of Contents

Penny Stocks क्या है?

आमतौर पर भारतीय शेयर बाजार में पेनी स्टॉक की कीमत 10 रुपये से कम हो सकती है. ये ऐसे स्टॉक पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? स्टॉक होते हैं जिनका कारोबार बहुत कम कीमत पर किया जाता है. सामान्यतः इसकी पेशकश कम बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों द्वारा किए जाते हैं. हमारे देश में पैनी स्टॉक का कारोबार NSE और BSE पर होता है.

पेनी स्टॉक छोटी सार्वजनिक कंपनियों के सामान्य शेयरों को संदर्भित करता है जो कम आधार पर व्यापार करते हैं. वे ज्यादातर छोटे एक्सचेंजों पर सूचीबद्ध होते हैं और उन्हें बाजार पूंजीकरण के आधार पर नैनो-कैप स्टॉक, माइक्रो-कैप स्टॉक, और स्मॉल-कैप स्टॉक भी कहा जाता है.

ऐसा माना जाता है कि इसमें निवेश करना जुआ जैसा होता है. इसमें तरलता की कमी होती पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? है साथ ही इसके शेयरधारकों की संख्या भी कम ही पायी जाती है. यह अत्यधिक जोखिम भरा माना जाता है. कहते हैं इसमें risk और return दोनों high होते हैं.

कंपनियों की सही-सही पहचान करके और उनमें निवेश करके इसके जरिये अच्छा रिटर्न अर्जित किया जा सकता है लेकिन यह आसान नहीं होता है. इसके लिए आपके पास गहरी समझ होनी चाहिए.

पैनी स्टॉक्स के बारे में कुछ जानने योग्य बातें

  • शेयर बाजार में पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? इनका ट्रेड बहुत ही कम कीमत पर होते हैं.
  • भारतीय शेयर बाजार में पेनी स्टॉक की कीमत 10 रुपये से कम हो सकती है.
  • ये स्टॉक बहुत तरल नहीं होते हैं और कभी-कभार ही इनका कारोबार होता है.
  • इनके कीमत में अत्यधिक उतार-चढ़ाव होता है.
  • तकनीकी संकेतकों के माध्यम से उतार – चढ़ाव का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है.
  • कम बाजार पूंजीकरण कंपनी द्वारा पेश किये जाते हैं.

पैनी स्टॉक्स क्यों ख़रीदे जाते हैं?

शुरुआती लोगों को इसके कम कीमत ज्यादा आकर्षित करता है साथ ही इसमें रिटर्न काफी अधिक है. यदि आप एक अच्छा पैसा स्टॉक प्राप्त करने में सक्षम होते हैं तो आप अच्छा रिटर्न कमा सकते हैं. ऐसे कई पैनी स्टॉक हैं जो इसके निवेशकों के लिए मल्टी-बैगर (multi-bagger) साबित हुए हैं.

ट्रेडिंग की दुनिया में प्रवेश कर रहे नए निवेशकों के लिए यह अच्छा विकल्प हो सकता है. इसमें तकनीकी विश्लेषण की आवश्यकता नहीं होती है साथ ही नुकसान भी कम होता है. आप छोटी राशि निवेश करके ट्रेडिंग सीख सकते हैं. यहाँ प्रयोग करने की अत्यधिक स्वतंत्रता प्राप्त होती है. आप गलतियां करके सीख सकते हैं क्योंकि कीमतें कम होने से निवेशकों को अपनी बहुत अधिक पूंजी निवेश करने की जरुरत नहीं होती है.

पैनी स्टॉक्स में निवेश करने से पूर्व जानने योग्य बातें

अपने कई सारे फायदों के साथ ये उच्च जोखिम के साथ आते हैं. जैसा की आप समझ चुके हैं ये कम बाजार पूंजीकरण कंपनियों द्वारा पेश किये जाते हैं. ये ऐसे कंपनी होते हैं जिनकी विकास की संभावनाओं का हम अंदाजा नहीं लगा सकते हैं. ऐसे कंपनियों की वित्तीय स्थिरता, प्रदर्शन के पिछले ट्रैक रिकॉर्ड, लाभ उत्पन्न करने की क्षमताआदि जानकारियों से हम वंचित रह जाते हैं. ऐसे महत्वपूर्ण जानकारियों के अभाव में निवेशकों का जोखिम बढ़ जाता है.

पैनी स्टॉक में बहुत कम तरलता होती है जिसके कारण निवेशक सरलता से खरीद – बिक्री नहीं कर पाते हैं. यहाँ आपको स्टॉक बेचने के लिए आसानी से खरीदार नहीं मिल सकता है और स्तिथि तब और बिगड़ जाती है जब इसकी कीमत तेजी से कम होने लगती है और आपको कोई खरीदार नहीं मिलता है.

इसके साथ एक जोखिम यह भी है कि इसके जारीकर्ता कंपनी अचानक स्टॉक एक्सचेंज से डीलिस्ट होने का फैसला कर सकती हैं. जानकारी के अभाव में ऐसे स्टॉक्स को खोजना मुश्किल होता है, जो उच्च रिटर्न उत्पन्न कर सकते हैं.

यदि आप भी पैनी स्टॉक्स में निवेश करने का निर्णय ले रहे हैं तो पूरी सावधानी के साथ आगे बढिये. किसी भी कंपनी में निवेश से पूर्व कंपनी की वित्तीय स्थिरता, पिछले प्रदर्शन, विकास की संभावनाओं की जानकारी प्राप्त करना काफी महत्वपूर्ण माना जाता है.

कभी भी ज्यादा पैसा निवेश मत कीजिये हमेशा अपने जोखिम क्षमता के अनुसार ही निवेश करें. कभी भी एक ही शेयर में पूरा पैसा नहीं लगाना चाहिए. आपको आगे बढ़ने से पहले सम्बंधित कंपनी पर पूरी रिसर्च करना चाहिए. आखिर में किसी भी निवेशक को भावनात्मक ट्रेडिंग से बचना चाहिए.

नोट: हमारी वेबसाइट आपको केवल महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करती है. हम वित्तीय सलाहकार नहीं हैं और ना ही किसी को निवेश सम्बंधित कोई सलाह देते हैं. कहीं भी निवेश करने से पहले आपको पूरी जानकारी लेनी चाहिए या किसी वित्तीय सलाहकार से संपर्क करना चाहिए.

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

india penny stocks-कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर

india penny stocks

नमस्ते दोस्तों आज हम देखने वाले है कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर (india penny stocks).जो की फिलाल में उनकी शेयर कीमत बहुत ही कम चल रही है। लेकिन कंपनी का ग्रोथ काफी अच्छा है। और आगे उन कंपनीयो में काफी ग्रोथ की संभावना है।

तो चलिए दोस्तों देखते है की india penny stocks यानि कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर कोन कोनसे है। जो हमें आनेवाले भविष्य में अच्छा खासा मुनाफा दे सके। लेकिन इन्वेस्ट करने से पहले आप भी खुप उन कंपनी के fundamental analysis चेक कर ले।

में आपको आज उन कंपनी यो के बारे में बता ने वाला हूँ। जो खुद मैंने एनालिसिस करके उन शेयर्स में मैंने इन्वेस्ट किया है। और वो सब कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर है। जो हमें आगे अच्छे रिटर्न्स दे सके। आप इन शेयर्स में sip भी कर सकते है। और ये सब india penny stocks है। हलाकि इनमे रिस्क बहुत होता है। और कभीभी लोन लेके इन्वेस्ट नहीं करना चाहिए।

india penny stocks

india penny stocks

india penny stocks

trident ltd

trident का फिलाल शेयर प्राइज ३६.२० रु चल रहा है। ये जो कंपनी है ये एक टेक्सटाइल कंपनी है। इनके २ बिज़नेस है। एक तो टेक्सटाइल का जो टॉवेल बनाती है। और एक है पेपर मैन्युफैक्चरिंग का।और कंपनी केमिकल के बिजनेस में भी है। कंपनी बहुत पुराणी है। और ये अभी small cab कंपनी नहीं रही। ये अभी mid cab कंपनी बन गयी है।

trident का मार्केट कॅपिटल १०,२६८ करोड़ बन गया है। पहले या कंपनी small cab थी लेकिन बढ़ते ग्रोथ के चलते कंपनी mid cab में शामिल हो गयी है। कंपनी का इस साल का नेट प्रॉफिट है ३०३ करोड़ रूपए का। कंपनी की कुल नेट सेल है ४५३० करोड़ रुपये की। कंपनी काफी अच्छे ग्रोथ में चल रही है।

syncom formulations ltd

syncom formulations ltd की शेयर प्राइज फिलाल तो ८.१९ रुपये पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? चल पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? रही है। कंपनी एक फार्मा कंपनी है। ये कंपनी टैब्लेट ,कैप्सूल ,इंजेक्शंस ,सिरप्स ,इन्हेलर्स ऐसे बहुतसारे २०० प्रोडक्ट्स बनती है. और कंपनी अच्छी ग्रोथ में चल रही है। इसका मार्किट कॅपिटल ६१० करोड़ रुपये है.ये शेयर १ साल में चार गुना हो गया है।ये एक india penny stocks है।

syncom formulations ltd कंपनी एक डेब्ट फ्री कंपनी है। हालाकि ये कंपनी dividend नहीं देती।क्युकी कंपनी फिलाल तो बहुत छोटी है। आगे हो सकता है डिविडेंड भी दे सकती है।

फिलाल स्टॉक का pe २० रुपये चला रहा है। और सेक्टर का pe ४० रुपये है। मतलब स्टॉक का प्राइज पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? अच्छे दाम पर मिल रहा है। कंपनी का इस साल का नेट प्रॉफिट देखा जाये तो २९ करोड़ रुपये है। और कंपनी का नेट सेल २४४ करोड़ रुपये का है।

asewin agritec ltd

asewin agritec ये कंपनी एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की कंपनी है। इसकी शेयर प्राइज फिलाल तो ३.१९ रूपए है। और ये एक बाउट छोटी कंपनी है। जिसका मार्किट कॅपिटल ७ करोड़ रुपये है। और इसकी खासियत ये है की ये कंपनी डेब्ट फ्री कंपनी है।

कोविद महामारी के चलते फिलाल इस कंपनी का फ्रॉफिट जीरो है। लेकिन फिछले ३ साल के रिटर्न्स देखे तो ३० % के रिटर्न्स कंपनीने ने दिए है। और कंपनी पिछले ३ सालो में ग्रोथ में चल रही है। लेकिन महामारी के चलते कंपनी थोड़ी स्टेबल हो गयी है। हलाकि कंपनी में निवेश करना रिस्की है। लेकिन ६ रुपये शेयर प्राइज तो कम ही निवेश करे।

Jaiprakash power ltd

Jaiprakash power ये एक भारतीय पावर प्रोजेक्ट डेवलप कंपनी है। ये कंपनी बड़े पावर प्रोजेक्ट को ऑपरेट करती है। इस कंपनी का मार्किट कॅपिटल ३,६६६ करोड़ रुपये का है।

इस कंपनी चुनने का कारन ये है की ,ये कंपनी बाहत लॉस में चल रही थी। लेकिन इन्होने अपना पूरा लॉस प्रॉफिट में बदल दिया है। इस कंपनी ने इस साल ३३०१ करोड़ का कुल नेट सेल करके २८१ करोड़ रुपये का प्रॉफिट किया है।

इस कंपनी का pe १३ रु चल रहा है। और सेक्टर pe १९.५० रुपये का है। इसका मतलब कंपनी का भाव अभी बहुत सस्ता है। इस शेयर को खरीदने के लिए ज्यादा रिस्क नहीं है।

कंपनी के पास अच्छा ख़ासा कॅश फ्लो भी मजूद है। और सबसे अच्छी बात कंपनी के ऊपर कर्जा न के बराबर है। पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? और कंपनी अचे ग्रोथ में आ गयी है।जेपी पावर का शेयर परिजे फिलाल वर्तमान में ७.८५ रुपये के स्तर पर ट्रेड कर रहा है।

निष्कर्ष

जिस भी कंपनी में निवेश करने से पहले उसके फंडामेंटल जान ले। और अपने एक्सपर्ट से सलाह ले। क्युकी शेयर बाजार रिस्की होता है। लेकिन अगर सही ज्ञान लेकर शेयर बाजार में निवेश करे तो काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

दुनिया में अमीर इंसानो में से एक वारेन बुफे वो भी शेयर बाजार में निवेश करने से ही एक आमिर इंसान बन पाए है। क्यकि उन्होंने अपने पैसे लम्बे समय के लिए निवेश किया और उन्हें compounding power समज आ गयी। इसलिए उन्हें शेयर बाजार के भगवान कहा जाता है।

यकीं है की आज की ये हमारी कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर (india penny stocks) आपको काफी पसंद आयी होगी। हमें यकीं है की आपको ये पोस्ट मदतगार साबित हुयी होगी।

अगर आपको हमारी आज की ये पोस्ट अच्छी लगे तो कृपया इसे अपने फॅमिली और दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजियेगा। ताकि वो भी शेयर बाजार में निवेश करके अच्छा खासा मुनाफा कमा सके।

अगर आपको शेयर बाजार के विषय में किए भी जानकारी चाहिए। या आपको इस पोस्ट के विषय में कोई सवाल हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज सकते है.धन्यवाद !

(डिस्‍क्‍लेमर: यहां सिर्फ शेयर के परफॉर्मेंस की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है। शेयर बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन है और निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें।)

मनी मार्केट फंड: कौन कर सकता है निवेश और कितना है जोखिम? यहां मिलेगी पूरी जानकारी

Money Market Fund: मुख्य लाभ यह है कि ये अन्य निवेश विकल्प जैसे कि इक्विटी आदि की तुलना में अधिक सुरक्षित होते हैं.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - June 28, 2021 / 02:08 PM IST

मनी मार्केट फंड: कौन कर सकता है निवेश और कितना है जोखिम? यहां मिलेगी पूरी जानकारी

Money Market Fund: मनी मार्केट फंड म्‍यूचुअल फंड की एक कैटेगरी है. मनी मार्केट म्यूचुअल फंड (Money Market Fund) को लिक्व‍िड फंड भी कहते हैं.

इसमें कंपनी निवेशकों से लिया हुआ पैसा सुरक्ष‍ित व शॉर्ट-टर्म स्कीम में लगाती हैं, जैसे ट्रेजरी बिल, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट, कमर्शियल पेपर, रीपर्चेज एग्रीमेंट आदि. ऐसे निवेश एक साल से भी काम समय में मैच्योर हो जाते हैं.

इसमें 91 दिन या फिर उससे भी कम समय के लिए निवेश होता है. इसके साथ ही किसी आपातकालीन स्थिति में आप अपना पूरा पैसा भी निकाल सकते हैं. इसमें एक्जिट लोड भी कम रहता है.

कौन कर सकता है निवेश

मनी मार्केट म्यूचुअल फंड विभिन्न वित्तीय साधनों के माध्यम से शॉर्ट टर्म इंवेस्ट पर अच्छा रिटर्न प्रदान करता है.

आप इसमें एक वर्ष तक निवेश कर सकते हैं. ऐसे लोग, जिनके पास बचत खाते में ठीक-ठाक पैसा है और कम जोखिम पर उच्च रिटर्न चाहते हैं, इसमें निवेश कर सकते हैं. यह फंड आपको बचत खाते की तुलना में अधिक रिटर्न देगा.

लिक्विड फण्ड में आपको कम से कम 8 पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? से 10 प्रतिशत सालाना की दर से या उससे अधिक ब्‍याज प्राप्‍त हो सकता है, क्‍योंकि लिक्विड फण्ड के अन्‍तर्गत आपके इन्वेस्ट्मंट का ज्‍यादातर हिस्‍सा सरकारी सिक्योरिटीज़ और बॉन्ड्स में निवेश किया जाता है.

यदि आप लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो मनी मार्केट फंड आपके लिए बेहतर नहीं है. लंबी अवधि के लिए आप डायनेमिक बांड फंड और बैलेंस फंड का उपयोग कर सकते हैं.

निवेश करने के फायदे

इसमें निवेश करने का मुख्य लाभ यह है कि ये अन्य निवेश विकल्प जैसे कि इक्विटी आदि की तुलना में अधिक सुरक्षित होते हैं व अच्छा रिटर्न मिलने की संभावना रहती है.

निवेशक इसमें कम अवधि के लिए भी निवेश कर सकते हैं तथा निवेशित पैसे को कभी भी निकाल सकते हैं. शॉर्ट टर्म होने के कारण अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है.

इन बातों का रखें ध्यान

निवेशकों को सबसे पहले विभिन्न प्रकार के मनी मार्केट म्यूचुअल फंड्स की विशेषताओं और जोखिमों के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

डेट फंडों के साथ जो जोखिम होते हैं, वे इनके साथ भी जुड़े होते हैं. यानी क्रेडिट रिस्‍क, इंटरेस्‍ट रेट रिस्‍क इत्‍यादि का जोखिम इनमें होता है.

निवेश किस उद्देश्य से किया जा रहा है उसे याद रखें और फंड चुनने से पहले देखें कि यह आपके उद्देश्य को पूरा करता है या नहीं. हमेशा अच्‍छे ट्रैक रिकॉर्ड वाले म्‍यूचुअल फंड को चुनना चाहिए.

फंड मैनेजर की निवेश रणनीति को भी देख लेना चाहिए. निवेश से पहले एक्‍सपेंस पेनी स्टॉक के रिस्क और फायदे? रेशियो को भी देख लें.

कैसे लगता है टैक्‍स?

मनी मार्केट फंडों पर डेट स्‍कीमों की तरह टैक्‍स लगता है. यानी अगर आप तीन साल से पहले निवेश को बेचते हैं, तो रिटर्न आपकी इनकम के साथ जुड़ता है.

फिर इस पर उसी हिसाब से टैक्‍स लगेगा जिस टैक्‍स स्‍लैब में आप आते हैं. अगर आप तीन साल के बाद निवेश को बेचते हैं तो इंडेक्‍सेशन बेनिफ‍िट के साथ लॉन्‍ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स लगता है.

रेटिंग: 4.19
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 169