News18 हिंदी 9 घंटे पहले News18 Hindi

Groww ऐप में हर महीने या सालाना कितना चार्ज कटता है, अगर ट्रेडिंग करे या न करें?

नमस्कार दोस्त, आज के इस आर्टिकल में Gorww App के चार्ज शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क के बारे में जानेंगे की, Groww ऐप में हर महीने या सालाना कितना चार्ज कटता है, यदि हम ट्रेडिंग करे या न करें तो?

Groww App Charges

यदि आप भी Gorww App Charges In Hindi में जानना चाहते हैं तो आज आप सही जगह पर आए है।

तो सबसे पहले आपकी जानकारी के लिए बता दू की यदि आप यदि आपने Gorww App में अभी तक सिर्फ अकाउंट बनाया है तो उसके लिए कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

लेकिन यदि आप Groww App में अकाउंट बनाने के बाद कोई ट्रेडिंग करते है या इन्वेस्टमेंट करते है तो आपको चार्ज देना होगा।

Groww App ने खुद ही कहा है की, हम यूजर से तभी चार्ज लेते है जब यूजर बाजार से कोई खरीदी या बिक्री करता है। जो सबसे अच्छी बात है।

तो आइए अब आगे Gorww App के Charges के बारे में जानते है….

Groww App Cherges in Hindi ( ग्रो एप कितना चार्ज लेता है?)

दोस्तो जब भी आप शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट या ट्रेडिंग के लिए किसी ब्रोकर की मदद से जा रहे है तो वे आप से अलग अलग चार्ज लेते है। वैसे ही ऑनलाइन आज जितने भी ऐप है वो सभी इसी तरह काम करते है और आपसे चार्ज लेते है।

हरेक ब्रोकर आपसे 4 प्रकार के ब्रोकरेज फीस को लेता है, नीचे मैने ब्रोकरेज फीस के बारे में बताया है…

Groww App Account Opening Charges in Hindi

दोस्तो शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए हमे ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत होती है। आप ट्रेडिंग अकाउंट को किसी ब्रोकर के पास खोल सकते है। मार्केट में दूसरे जो ऐप है या यू कहे की ब्रोकर है वे अकाउंट ओपनिंग का चार्ज लेते है। कई सारे ब्रोकर अकाउंट ओपनिंग के लिए ₹0-₹500 का चार्ज लेते है। लेकिन यदि आप अपना ट्रेडिंग अकाउंट ग्रो ऐप में ओपन करवाते है तो उसके लिए आपको कोई चार्ज देने की जरूरत नही है। क्योंकि अकाउंट ओपनिंग के लिए groww app कोई चार्ज नहीं लेता है।

Groww App AMC(Annual Maintenance Charge) Charge in Hindi (एनुअल मेंटेनेंस चार्ज)

AMC यानी की Annual Maintenance Charge, आपने ब्रोकर के पास अकाउंट बनाया है तो आपको यह Annual Maintenance Charge देना होता है। कई सारे ब्रोकर है जो ₹300-₹1000 का हर साल या तिहाई को देना होता है। लेकिन Groww App अपने यूजर इन्वेस्टर से शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क AMC(Annual Maintenance Charge) नही लेता है।

ये भी जरूर पढ़े:

Grow App Brokerage Charges के बारे में

दोस्तो जब भी कोई यूजर शेयर खरीदता है या बेचता है तो उस समय पर हरेक ब्रोकरेज शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क एक चार्ज वसूल करता है जिसे Brokerage Charges कहा जाता है। ज्यादातर सभी ब्रोकर इसी चार्ज की वजह शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क से कमाई करते है। जब भी हम कोई शेयर बाजार से खरीदते है या बेचते है तो हमे चार्ज देना होता है। Groww App में आपको हरेक buying या selling पर आपको ₹20 या 0.05% में से जो कम होगा उस चार्ज को देना होता है।

Groww App Brokerage Charges Overview

Account Opening शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क Charge: ₹0

AMC Charge: ₹0

Brokrage Charge: 0.05% or ₹20, (जो सबसे कम होगा)

D.P Charge: ₹13.50+18%GST = ₹15.93

आज आपने क्या जाना: Gorww App Charges Details In Hindi

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में आपने Groww App Charges Details In Hindi में जाना की, Groww ऐप में हर महीने या सालाना कितना शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क चार्ज कटता है, अगर ट्रेडिंग करे या न करें?

मुझे उम्मीद है कि आपको यह जानकारी हेल्पफुल लगी होगी, यदि आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तो के साथ शेयर जरूर करे और उन सभी लोगो के साथ यह आर्टिकल शेयर करे जो शेयर मार्केट में इंटरेस्टेड है।

Trade with a global broker to achieve your investment goals.

Start a four-week trading journey: enjoy festive conditions and enter our prize draw शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क on 29 December.

background image

decoration

Your safe space for investing

Transparent trading conditions

  • 0% swaps
  • No commissions
  • Secure deposits and withdrawals via your preferred payment methods

Daily trading ideas

  • Receive valuable tips for more profitable trading.

Free educational materials

  • Watch our course on the basic aspects of trading.
  • Attend regular webinars and live trading sessions for beginners and pros.

Invest with the Best Global Broker Asia 2022

11 years on the market

150+ countries covered

12M+ accounts opened

Make investing work for you

We are constantly improving our product to make your trading experience better.

  • 1:500 maximum leverage ratio
  • 230 trading instruments
  • 50% bonus
  • Status program
  • 24/7 Customer Support in your language
  • 30 digital currency pairs for weekend trading

Trade on the go with the OctaFX Trading App

Enjoy a smooth trading experience from any device. Download our app and keep track of your orders whether you're in the office, on vacation, or at home.

दिसंबर, 2023 में 18,000 अंक पर सीमित रह सकता है निफ्टीः UBS

मुंबईः स्विस ब्रोकरेज फर्म यूबीएस सिक्योरिटीज ने शेयरों में परिवारों के निवेश में गिरावट आने, विदेशी पूंजी की निकासी जारी रहने और बढ़ती बैंक ब्याज दरों को देखते हुए निफ्टी के लिए अगले साल का लक्ष्य घटाते हुए 18,000 कर दिया है।

यूबीएस सिक्योरिटीज इंडिया के रणनीतिकार सुनील तिरुमलई ने सोमवार को एक रिपोर्ट में कहा कि दिसंबर, 2023 में एनएसई के मानक सूचकांक निफ्टी का स्तर 18,000 तक सीमित रह सकता है जो निफ्टी के मौजूदा स्तर से भी चार प्रतिशत नीचे है। निफ्टी सोमवार को 151 अंक की बढ़त के साथ 18,452 अंक के स्तर पर बंद हुआ। हालांकि, पिछले सप्ताह के दो आखिरी कारोबारी दिनों में इसमें दो प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गई थी।

ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि अगले साल दिसंबर में निफ्टी का ऊपरी स्तर 19,700 जबकि निचला स्तर 15,800 अंक का रह सकता है। इस तरह निफ्टी का आधार 18,000 अंक पर रहने का अनुमान है। हालांकि, यूबीएस सिक्योरिटीज बीएसई के सूचकांक सेंसेक्स के लिए अपना लक्ष्य नहीं जारी करता है। तिरुमलई ने कहा कि अगले 12 महीनों में बाजार की दिशा पर मूल्यांकन में होने वाले बदलावों का असर पड़ेगा।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

अमेरिकाः बाइडेन प्रशासन की यूक्रेन के लिए 1.85 अरब डॉलर के सैन्य सहायता की घोषणा

अमेरिकाः बाइडेन प्रशासन की यूक्रेन के लिए 1.85 अरब डॉलर के सैन्य सहायता की घोषणा

घने कोहरे की वजह से छाता नेशनल हाईवे पर ट्राली पलटने से हुआ बड़ा हादसा, 20 महिला, पुरुष व बच्चे गंभीर रूप से घायल

घने कोहरे की वजह से छाता नेशनल हाईवे पर ट्राली पलटने से हुआ बड़ा हादसा, 20 महिला, पुरुष व बच्चे गंभीर रूप से घायल

पंजाब के इस जिले में Corona ने फिर दी दस्तक, इतने मरीज पॉजिटिव

पंजाब के इस जिले में Corona ने फिर दी दस्तक, इतने मरीज पॉजिटिव

बांदा में फांसी पर लटका मिला नवविवाहिता का शव, ससुरालीजनों पर दहेज हत्या का FIR दर्ज

LPG cylinder- नए साल में सस्ती हो सकती है रसोई गैस, जानिए क्या है प्लान?

News18 हिंदी लोगो

News18 हिंदी 14 घंटे पहले News18 Hindi

© News18 हिंदी द्वारा प्रदत्त "LPG cylinder- नए साल में सस्ती हो सकती है रसोई गैस, जानिए क्या है प्लान?"

नई दिल्ली. रसोई गैस सिलेंडर (LPG cylinder) को लेकर बड़ी जानकारी सामने आ रही है. नए शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क साल में आपके लिए खुशखबरी का ऐलान हो सकता है. माना जा रहा है कि सरकारी तेल कंपनियां (Oil Companies) नए साल में रसोई गैस (LPG Price) के दामों में कटौती का कर सकती हैं. गैस सिलेंडर की कीमत कई बार लोगों के बजट को भी बिगाड़ देती है. लोग काफी वक्त से गैस सिलेंडर के दाम सस्ते करने की मांग कर रहे हैं. ऐसे में अगर सिलेंडर के दाम शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क कम होते हैं तो ये लोगों के लिए काफी राहत भरी खबर हो सकती है.

आपको बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी पिछले दिनों ऐलान किया गया था कि गरीब परिवारों को अब सिलेंडर सस्ती कीमत में उपलब्ध करवाए जाएंगे. यह योजना 1 अप्रैल 2023 से लागू की जाएगी. जिससे 500 रुपये में सिलेंडर मिलेगा. हालांकि 500 रुपये में सिलेंडर उज्जवला योजना से जुडे़ बीपीएल और गरीब लोग ही ले पाएंगे.

जानिए दाम में कटौती की वजह

दरअसल कच्चे तेल (Crude Oil) के दामों में इन दिनों भारी कमी आई है. जिसका फायदा सरकारी तेल कंपनियों एलपीजी गैस सिलेंडर के दामों में कटौती कर उपभोक्ताओं को दे सकती है. मौजूदा समय में कच्चा तेल 83 डॉलर प्रति बैरल के करीब ट्रेड कर रहा तो इंडियन बास्केट प्राइस 77 डॉलर प्रति बैरल के करीब है. जिसकी वजह से सरकारी तेल कंपनियां घरेलू रसोई गैस के दामों में कटौती कर सकती है.

राजस्थान सरकार दे रही सस्ता सिलेंडर

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ऐलान किया है कि राजस्थान सरकार की ओर से गरीबों को ज्यादा राहत पहुंचाने के लिए लगातार जनकल्याणकारी फैसले लिए जा रहे हैं. इसी क्रम में प्रदेश सरकार गरीब तबके को सस्ती दर पर सिलेंडर उपलब्ध करवाने के लिए योजना लेकर आ रही है.

जिसके चलते पूरे साल में इनको 12 सिलेंडर मिल सकेंगे. ऐसे में गरीबों को एक साल में प्रति सिलेंडर 500 रुपये के हिसाब 12 सिलेंडर के लिए 6000 रुपये चुकाने होंगे. जो कि सामान्य कीमत से काफी कम है. राजस्थान सरकार का उद्देश्य महंगाई के इस दौर में आमजन पर आर्थिक बोझ कम करना है. जिसके कारण कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं.

Corona Update: दिल्ली में एक और कोरोना संक्रमित की मौत

News18 हिंदी लोगो

News18 हिंदी 9 घंटे पहले News18 Hindi

नई दिल्ली. दिल्ली में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 10 मामले सामने आये जबकि संक्रमण दर 0.41 प्रतिशत दर्ज की गई. वहीं एक मरीज की शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क मृत्यु हो गई. यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़े से मिली. दिल्ली में बुधवार को 0.19 प्रतिशत संक्रमण दर के साथ पांच मामले सामने आये थे जबकि एक व्यक्ति की मृत्यु हुई थी. नये मामलों के साथ, राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामले बढ़कर 2,007,112 हो गए हैं, जबकि मृतक संख्या बढ़कर 26,521 हो गई है.

एक दिन पहले कुल 2,421 नमूनों की जांच की गई. समर्पित कोविड-19 अस्पतालों में 15 बिस्तर भरे हुए हैं, जबकि 18 मरीज घर पर पृथकवास में हैं. राष्ट्रीय राजधानी में उपचाराधीन मामलों की संख्या वर्तमान में 32 है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना वायरस के स्वरूप ओमीक्रोन के उपप्रकार बीएफ.7 का कोई मामला अब तक सामने नहीं आया है. केजरीवाल ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि अब तक संक्रमण के लगभग 92 प्रतिशत मामलों में कोविड के उपस्वरूप ‘एक्सबीबी’ की पुष्टि हुई है.

बैठक के दौरान, मुख्यमंत्री ने सभी संक्रमित नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजने, एहतियाती खुराक लगाना सुनिश्चित करने और अस्पतालों शेयर बाज़ार में कम ब्रोकरेज शुल्क में कर्मियों में वृद्धि के भी निर्देश जारी किए. उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक वस्तुओं की खरीद के लिए पूर्व अनुमति लेने और सभी अस्पतालों में मशीनों का निरीक्षण करने का निर्देश दिया. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल रोज़ाना 2,500 नमूनों की जांच की जा रही हैं और अगर कोविड मामलों में वृद्धि होती है तो नमूनों की जांच की संख्या बढ़ाकर एक लाख तक की जा सकती है.

रेटिंग: 4.58
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 531