Android Device Manager

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

शेयर मार्केट में बहुत सारे लोगों को नहीं पता Option Trading क्या है, Call और Put क्या है। शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने के लिए बहुत सारे माय्धाम है उनमे से एक है Option Trading। बहुत सारे लोग शेयर मार्केट में Call & Put खरीद करके ट्रेडिंग करते हैं। आज हम सरल भाषा में जानेंगे Option Trading कैसे करे, क्या हैं-

Option Trading क्या हैं:-

आपको नाम से ही पता लग गया होगा Option का मतलब विकल्प। उदाहरण के लिए- मान लीजिये आप एक कंपनी का 1000 शेयर 5000 रुपये प्रीमियम देकर 1 महीने बाद का 100 रुपये में खरीदने का Option लेते हो। ऐसे में उस कंपनी का शेयर 1 महीने बाद 70 हो गया तब आपके पास विकल्प (Option) रहेगा उस शेयर को नुकसान में ना खरीदने का।

ऐसे में आपका प्रीमियम का पैसा डूब जायेगा। आप्शन ट्रेडिंग में नुकसान आपका उतना ही है जितना पैसा आपने प्रीमियम लेते समय दिया था। तो ऐसे में नुकसान कम से कम करने के लिए Option का प्रयोग होता हैं।

Call और Put क्या है:-

Option Trading दो तरह का होता है एक है Call और दूसरा Put। ऑप्शन ट्रेडिंग में आप दोनों तरफ पैसा लगा सकते हैं। आप यदि Call खरीद रहे हो तो तेजी की तरफ पैसा लगा रहे हो ठीक उसी तरह Put खरीदते हो तो मंदी की तरफ पैसा लगा रहे हो। आप जिस प्राइस के ऊपर Call खरीदा उसके ऊपर का प्राइस जाने के बाद ही आपको फ़ायदा होगा। ठीक उसी तरह Put खरीदा तो जिस प्राइस के ऊपर खरीदा उसके नीचे गया तो ही आपको फ़ायदा होगा।

Option Trading का Expiry कब होता है:-

Option Trading में दो तरह का Expiry होता है एक होता है सप्ताह और दूसरा होता है महीना में। सप्ताह (Weekly Expiry) में हर गुरूवार को ही NIFTY 50 और BANK NIFTY का expiry होता हैं। महीना में शेयर का अंतिम गुरूवार expiry होता है, जो शेयर Option Trading में लिस्टेड हैं।

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

कब ज्यादा नुकसान हो सकता है:-

जो लोग Call या Put Option को खरीदते है उनको Premium का ही ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो सकता है। लेकिन जो लोग Call और Put को बेच देते है उनका नुकसान असीमित हैं। बहुत बड़े बड़े ट्रेडर ही Call या Put को बेचते हैं उसके पास नॉलेज के साथ पैसा भी बहुत होता हैं।

Option Trading कैसे करे:-

ऑप्शन ट्रेडिंग Pocket Option कैसे काम करता है करने के लिए आप एक कंपनी का 1 शेयर नहीं खरीद सकते आपको LOT में खरीदना पड़ेगा. Nifty50 का एक Lot 75 का होता है लेकिन शेयर में ज्यादा होता हैं। किसी भी शेयर और Nifty50, Bank NIfty का Option खरीदने के लिए आपको जाना होगा आपके Demat Account में। उसके बाद जो भी खरीदना है उसमे आपको देखने को मिलेगा Option Chain आप उस पर से आपको Call या Put जो भी खरीदना है खरीद सकते हैं।

क्या आपको Option Trading करना चाहिए हमारी राय:-

दोस्तों आप यदि नए हो शेयर मार्केट में तो आपको इतना जोखिम नहीं लेना है। आपको लंबे समय के लिए शेयर में इन्वेस्ट करना चाहिए। Option Trading बहुत ज्यादा रिस्क भी है और रिवॉर्ड भी। आप यदि सही तरीके से पैसा लगाएंगे तो आपको बहुत अच्छा मुनाफा होगा। किसी के दिए हुए नुस्के से आप बिल्कुल मत इन्वेस्ट करो आप पहले सीखिए उसके बाद इन्वेस्ट करे।

आशा करता हु आप हमारे पोस्ट शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है पढ़के आपको सिखने को मिला। और भी शेयर मार्केट के बारे में जानने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को पढ़ सकते हैं।

कम जोखिम में ज्यादा फायदा पाने का आसान तरीका है ऑप्शन ट्रेडिंग से निवेश, ले सकते हैं बीमा

यूटिलिटी डेस्क. हेजिंग की सुविधा पाते हुए अगर आप मार्केट में इनवेस्टमेंट करना चाहते हैं तो फ्यूचर ट्रेडिंग के मुकाबले ऑप्शन ट्रेडिंग सही चुनाव होगा। ऑप्शन में ट्रेड करने पर आपको शेयर का पूरा मूल्य दिए बिना शेयर के मूल्य से लाभ उठाने का मौका मिलता है। ऑप्शन में ट्रेड करने पर आप पूर्ण रूप से शेयर खरीदने के लिए आवश्यक पैसों की तुलना में बेहद कम पैसों से स्टॉक के शेयर पर सीमित नियंत्रण पा सकते हैं।

मोबाइल सेटिंग्स में Gestures ऑप्शन का क्या काम है?

आज आपको मोबाइल (Mobile) की एक ऐसी सेटिंग्स (Settings) के बारे में बताऊंगा ,जिसको बहुत कम लोग जानते हैं। इस सेटिंग्स (Settings) के ऑन (On) करने से आपका टाइम (Time) वेस्ट नहीं होगा, आपके समय की बचत होगी।

Mobile Settings “Gestures

GESTURES OPTIONS

।।।।।।।।।।।।।।।। बहुत बार ऐसा होता है कि आप किसी के द्वारा की गई कॉल को disconnect करना भूल जाते हो, और कॉलर आपकी बात सुनने लगता है, इसके लिए आपको इस ऑप्शन को ऑन करना चाहिए इसको ऑन होने से आपकी कॉल disconnect हो जाएगी। जब आप अपने मोबाइल को कॉल करने के बाद नीचे की तरफ ले जाओ गे उसी समय आपकी कॉल disconnect हो जाएगी है ना कमाल की सेटिंग्स आगे और भी है।

Auto Rejected Call

Auto Pick-up Call

इसको ऑन करने का लाभ आपको तब होगा जब आप किसी businesses meetings या किसी ऐसे जगह हो जहां आपके हल्की सी आवाज़ से आपके पास खड़े आपके respected पर्सन को प्रॉब्लम हो सकती है, उस समय आपका मोबाइल रिंग होता है और हो गई गड़बड़ उस गड़बड़ से बचने के लिए आप इस ऑप्शन को यूज कर सकते हो ,

All Grievances

.

जनसुनवाई - समाधान पोर्टल एवं मोबाइल एप्लीकेशन Material Style and surprise yourself -->

  • जनसुनवाई - समाधान पोर्टल
  • एंड्रॉइड एप्लिकेशन

शिकायत पंजीकरण

जनसुनवाई पोर्टल मोबाइल ओटीपी के माध्यम से आसान पंजीकरण की सुविधा प्रदान करता है और किसी भी समय सरकार के हर स्तर पर शिकायत को हल करने की सुविदा प्राप्त करता हैI

शिकायत की स्थिति

पंजीकृत मोबाइल नंबर / ईमेल आईडी के माध्यम से शिकायत को ट्रैक करें।
मोबाइल नंबर / ईमेल से पंजीकृत शिकायतें प्राप्त करें

अनुस्मारक भेजें

निर्धारित समय में शिकायत का समाधान नहीं होने पर शिकायतकर्ता रिमाइंडर भेज सकता है।

आपकी प्रतिक्रिया

जनसुनवाई पोर्टल निस्तारण की गुणवत्ता के बारे में प्रतिक्रिया देने की सुविधा प्रदान करता है, जिसका मूल्यांकन उच्च अधिकारियों द्वारा किया जाता है और वे निस्तारित किये गए संदर्भो को पुनः जीवित कर सकते हैं।

dashboard-demo-icon

जनसुनवाई -समाधान एंड्रॉइड एप्लिकेशन

  1. मोबाइल गवर्नेंस के दृष्टिगत जनसुनवाई एंड्राइड मोबाइल ऐप का निर्माण किया गया है I
  2. इस मोबाइल ऐप का उपयोग कर नागरिक आसानी से किसी भी समय अपनी शिकायत को दर्ज एवं ट्रैक कर सकते हैं I
  3. विभागीय अधिकारी भी उनको प्रेषित शिकायतों को आसानी से देख सकते है एवं उनके निस्तारण हेतु कार्यवाही कर सकते हैं I

mobile-preview-icon

संख्यात्मक डेटा

महत्वपूर्ण लिंक

एंटी करप्शन पोर्टल

भ्रष्टाचार के विरुद्ध संघर्ष में उत्तर प्रदेश सरकार के भागीदार बनें |

एंटी भू-माफिया पोर्टल

अतिक्रमण हटाने के सम्बन्ध में विवरण

मुख्यमंत्री अनुश्रवण प्रणाली

For any query regarding this website, Please contact the "Web Information Manager"
Shri Arvind Mohan, Deputy Secretary (Chief Minister Office, Lucknow, Uttar Pradesh),
Email ID: jansunwai[dash]up[at]gov[dot]in

© Content owned, updated by the Lok Shikayat Vibhag, Chief Minister Office Uttar Pradesh Government. Website is designed, developed, maintained and hosted by National Informatics Centre, Uttar Pradesh

मोबाइल चोरी हो जाने पर सबसे पहले ये करें. मोबाइल खो गया है कैसे मिलेगा ?

अगर आपका मोबाइल चोरी या गुम हो जाता है तो आपको शिकायत करने के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी, लेकिन अब सरकार ने ऐसी सुविधा दी है, जिससे आपको इन परेशानियों से मुक्ति मिल जाएग. सरकार ने एक वेबसाइट जारी की है. जिस पर आप मोबाइल गुम होने या चोरी होने की शिकायत कर सकते हैं.

मोबाइल खो गया है कैसे मिलेगा ? (Mobile is lost how to get it?)

मोबाइल फोन में कई जरूरी सूचनाएं रखते है. ऐसी सूचनाएं गलत हाथों में न पड़े इसके लिए दूरसंचार विभाग ने लोगों की मदद के लिए नया पोर्टल जारी किया है.

इस पोर्टल का नाम दूरसंचार विभाग द्वारा CEIR (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर रखा गया है. इस ऑनलाइन सुविधा के तहत यदि आपका मोबाइल फ़ोन गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो आप इस पोर्टल पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है. यदि ऐसा कुछ हो जाता है तो विभाग उस नम्बर को ब्लॉक कर देगा और सभी जानकारियां लीक होने से बचाएगा.

CEIR पोर्टल क्या है और कैसे काम करता है

मोबाइल चोरी हो जाये तो क्या करे ? (What to do if mobile is stolen?)

CEIR पोर्टल क्या है और कैसे काम करता है

CEIR पोर्टल (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर)

इस पोर्टल में सभी हैंडसेट की जानकारियां फीड कर दी गयी है. मोबाइल फोन के IMEI नंबर होते है जिससे विभाग उसकी सारी जानकारी अपने पास रखता है. IMEI की वजह से मोबाइल क्लोनिंग की समस्याओं में कमी आई है. पोर्टल पर दर्ज सभी डाटाबेस के ज़रिये Pocket Option कैसे काम करता है चोरी हुआ मोबाइल आसानी से ट्रेस किया जा सकेगा.

1. FIR रिपोर्ट दर्ज होने के बाद CEIR वेबसाइट पर विजिट करना होगा

2. यहां आपको तीन ऑप्शन Block/Lost Mobile, Check Request Status और Un-Block Found Mobile दिखेंगे।

3. चोरी हुआ मोबाइल वापस मिल गया है, तो Un-Block Found Mobile ऑप्शन पर क्लिक करें।

4. वहीं चोरी हुए मोबाइल के लिए Block/Lost Mobile पर क्लिक करें

5. इसके बाद एक पेज खुलेगा। जहां आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। साथ ही IMEI नंबर और स्मार्टफोन के ब्रांड के बारे में जानकारी उपलब्ध करानी होगी। इसके अलावा डिवाइस मॉडल और मोबाइल का बिल अपलोड करना होगा.

Mobile का IMEI Number कैसे निकालें

पहले Mobile के Phone (Dialer) ऐप को ओपन करें, उसके बाद यह Code टाइप करे *#06# इसके बाद दो IMEI Number आपके Mobile स्क्रीन में दिखेंगे, IMEI 1 और IMEI 2 क्योकि हर Mobile के दो IMEI नंबर होते हैं. इन्ही दो IMEI नंबरों की मदद से चोरी हुआ मोबाइल ढूंढे जाते हैं.

मोबाइल चोरी हो जाये तो क्या करे ? (What to do if mobile is stolen?)

फोन चोरी होने पर सबसे पहले स्मार्टफोन खोने की रिपोर्ट दर्ज करानी होगी. इसे ऑनलाइन मोड से दर्ज करा सकते हैं, जिससे चोरी होने वाले स्मार्टफोन का FIR नंबर जनरेट होगा. FIR दर्ज होने के बाद आप कानूनी रुप से फोन से होने वाले गलत काम के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराए जाएंगे.

Android Device Manager

चोरी हुआ मोबाइल कैसे खोजे गूगल के द्वारा? (How To Find Stolen Mobile By Google?)

अगर आपके पास कंप्यूटर नहीं है तो आप अपने किसी दोस्त के मोबाइल से भी अपने मोबाइल को खोज सकते है. इसके लिए आपको अपने दोस्त के मोबाइल में Android Device Manager एप इनस्टॉल करना है. इस एप में आपको अपनी जीमेल आईडी से लॉग इन करना है.

अगर आपके पास अपना कंप्यूटर या pc है तो आप कंप्यूटर की मदद से भी अपने मोबाइल को खोज सकते है इसके लिए आपको गूगल की android device manager पर जाना होगा. इसके बाद अपनी जीमेल आईडी से लॉग इन करना है. लॉग इन करते ही आपको गूगल मैप में आपके मोबाइल की लोकेशन दिखाई देगी लेकिन इसके लिए आपका मोबाइल ऑन रहना चाहिए. तो यहाँ भी आपको अपने मोबाइल को कण्ट्रोल करने के तीन ऑप्शन मिलते है.

Google Find My Device

चोरी या खोया हुआ मोबाइल gmail id कैसे खोजे? (How to find stolen or lost mobile gmail id?)

Step 1. सबसे पहले Google Find My Pocket Option कैसे काम करता है Device को ओपन किसी दुसरे मोबाइल में Download कर के install करें.

Step 2. इसके बाद Open करें और उस Gmail ID से Log in करें जिसे आप खोये हुए मोबाइल में इस्तेमाल करते थे.

Step 3. इसके बाद वह Gmail ID जितने मोबाइल्स में Logged in होगा उतने मोबाइल का आइकॉन

Step 4. अब अपने चोरी हुए Mobile को पहचानें और उस पर क्लिक करें.

Step 5. जैसे ही आप क्लिक करेंगे वैसे ही Google Find My Device ऐप्प उस मोबाइल से कनेक्ट होने ही कोशिश करेगा और उसका Location बता देगा.

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 616