Photo:INDIA TV FD, SIP, Crypto या Gold में कौन महिलाओं के सबसे बेहतर

Dollar - Rupee: रुपये में ऐतिहासिक गिरावट, एक डॉलर के मुकाबले पहली बार 78.40 के लेवल तक गिरा रुपया

Dollar - Rupee Update: करेंसी बाजार के क्लोज होने पर रुपया एक डॉलर के मुकाबले 78.38 रुपये पर क्लोज हुआ है.

By: ABP Live | Updated at : 22 Jun 2022 04:50 PM (IST)

Rupee at All time Low: डॉलर (Dollar) के मुकाबले रुपये में गुरुवार को ऐतिहासिक गिरावट देखने को मिली है. निवेशकों द्वारा जबरदस्त बिकवाली के चलते एक डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 27 पैसे की गिरावट के साथ 78.40 रुपये तक जा लुढ़का. करेंसी बाजार के क्लोज होने पर रुपया एक डॉलर के मुकाबले 78.38 रुपये पर क्लोज हुआ है.

डॉलर के आगे रुपया पस्त
इंटरबैंक करेंसी एक्सचेंज मार्केट में रुपया डॉलर के मुाबले 78.13 पर खुला. लेकिन दोपहर बाद निवेशकों की भारी बिकवाली के चलते 78.40 रुपये तक जा लुढ़का. कच्चे तेल के दामों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कमजोरी नहीं आती है तो रुपया में और बड़ी गिरावट आ सकती थी. विदेशी निवेशकों की बिकवाली के चलते भारतीय शेयर बाजार में सेंसेक्स 709 तो निफ्टी 225 अंकों की गिरावट के साथ क्लोज हुआ है.

क्यों आई रुपये में गिरावट
रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध होने के बाद से रुपया लगातार डॉलर के मुकाबले कमजोर होता जा रहा है. विदेशी निवेशकों द्वारा वैश्विक अस्थिरता के चलते अपने निवेश को वापस निकालने के चलते डॉलर के मुकाबले रुपया अब तक के अपने ऐतिहासिक निचले स्तर 78.40 रुपये पर जा गिरा है. आपको बता दें 23 फरवरी, 2022 को युद्ध शुरू होने से पहले रुपया डॉलर के मुकाबले 74.62 रुपये पर था जो गिरकर 22 जून, 2022 को 78.40 रुपये पर आ चुका है. दरअसल आशंका जताई जा रही है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व ( Federal Reserve) ब्याज दर ( Interest Rate) और बढ़ा सकता है. विदेशी निवेशकों अब तक भारतीय बाजारों में 2 लाख करोड़ रुपये का ज्यादा का निवेश वापस निकाल चुके हैं.

ये भी पढ़ें

News Reels

Published at : 22 Jun 2022 04:50 PM (IST) Tags: Rupee dollar Foreign Portfolio investors Rupee AT All Time Low Rupee-Dollar Forex Market हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

FD, SIP, Crypto या Gold में कौन महिलाओं के लिए सबसे बेहतर निवेश विकल्प, जानिए यहां

Best Investment Option: हर व्यक्ति के जीवन में सही निवेश (Best Investment) करना एक अहम योगदान रखता है। कहा जाता है कि अगर व्यक्ति के बैंक अकाउंट (Bank Account) में पैसा होता है तो वह बड़ी समस्या का भी आसानी से समाधान निकाल लेता है। यही बात महिलाओं के लिए भी लागू होती है।

Vikash Tiwary

Written By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Updated on: September 20, 2022 12:37 IST

FD, SIP, Crypto or Gold- India TV Hindi

Photo:INDIA TV FD, SIP, Crypto या Gold में कौन महिलाओं के सबसे बेहतर

Best Investment Option: हर व्यक्ति के जीवन में सही निवेश (Best Investment) करना एक अहम योगदान रखता है। सही निवेश ही आपको भविष्य में आने वाली परेशानियों में एक मजबूत इंसान बने रहने में मदद करता है। कहा जाता है कि अगर व्यक्ति के बैंक अकाउंट (Bank Account) में पैसा होता है तो वह बड़ी समस्या का भी आसानी से समाधान निकाल लेता है। यही बात महिलाओं के लिए भी लागू होती है। निवेश का सही विकल्प व्यक्ति के जीवन भर की कमाई (Lifetime Income) का एक उचित रिटर्न प्रदान करता है। हालांकि, निवेश के लिए सबसे अच्छा विकल्प सेलेक्ट करना हमेशा भ्रमित करने वाला होता है। इसके क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है? लिए एक अच्छे विशेषज्ञ की आवश्यकता होती है।

Silver Lake ने किया Byju's में निवेश, नए फंडिंग राउंड में कंपनी ने जुटाए 3672 करोड़ रुपए

Microsoft कर रही है OYO में निवेश के लिए बातचीत, 9 अरब डॉलर आंका गया है बाजार मूल्‍याकंन

महिलाओं की बढ़ रही भागीदारी

आमतौर पर ज्यादातर महिलाएं उस तरह का निवेश चुनना पसंद करती हैं, जिसमें रिस्क कम और अच्छा रिटर्न मिलने की गारंटी होती है। अगर हम पिछले जेनेरेशन की बात करें तब उस तरह के निवेश एक बेहतर ऑप्शन थे जहां आप एक निर्धारित पूंजी को तय रिटर्न रेट के मुताबिक इन्वेस्ट कर दिया करते थे। आज के परिपेक्ष्य में यह बात पुरानी लगती है। इस समय निवेश के कई सारे ऑप्शन आ गए हैं, जिसे नई जेनेरेशन की महिलाओं द्वारा अपनाया भी जा रहा है। फाइनेंस मार्केट को आमतौर पर मेल-ड्रिवेन माना जाता है लेकिन अब उसमें महिलाओं की भागीदारी तेजी से बढ़ रही है। आज के निवेश मार्केट में महिलाओं के निवेश करने के लिए इक्विटी और एसआईपी से लेकर ईटीएफ और यहां तक ​​कि पुरानी एफडी तक निवेश विकल्पों का एक विशाल अवसर है, जहां थोड़े से जोखिम के साथ अच्छा रिटर्न हासिल किया जा सकता है।

विशेषज्ञों के अनुसार, सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) में निवेश जोखिम कम करने वाला एक प्रभावी तरीका हो सकता है। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) और FD लंबी अवधि के नजरिए से वित्तीय स्थिरता हासिल करने के लिए अच्छे विकल्प हैं।

बिना जोखिम के FD में निवेश बेहतर

15 महीने के लिए 2 करोड़ रुपये से कम की FD पर RBL बैंक सामान्य वर्ग को 7% और वरिष्ठ नागरिकों को 7.5% की ब्याज दर प्रदान करता है। वहीं एसबीआई 5-10 साल की FD पर सामान्य वर्ग के लिए 5.65% और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 6.45% का इंटरेस्ट रेट ऑफर कर रहा है। आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक की उच्चतम दर 3-5 साल के कार्यकाल पर सामान्य नागरिकों के लिए 6.10% और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 6.60% की दर से ब्याज दर दे रहा है।

अन्य बैंको का क्या है हाल?

श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस में अगर आप फिक्स्ड डिपॉजिट करते हैं तो आपको मोटा रिटर्न मिल सकता है। बैंक आम जनता के लिए 8.25% और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 8.75% की अधिकतम ब्याज दर ऑफर कर रही है। यह ऑफर 60 महीनों के लिए डिपॉजिट करने पर दी जा रही है। उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक ने हाल ही में 12 अगस्त 2022 को ₹2 करोड़ से कम की FD पर ब्याज दरों में बदलाव किया था। बैंक अब आम नागरिक के लिए 7.50% और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 8.25% की अधिकतम ब्याज दर दे रही है, जो 5 साल के डिपॉजिट पर मिल रहा है। इंडसइंड बैंक की उच्चतम दर 61 महीने से कम यानि 1 वर्ष 6 महीने के FD पर वरिष्ठ नागरिकों के लिए 7.50% है, जबकि इन कार्यकालों पर सामान्य वर्ग के लिए दर 6.75% है।

पीपीएफ अकाउंट में निवेश टैक्स दायरे से बाहर

पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट (PPF) एक सरकार समर्थित छोटी बचत योजना है, जिसमें एक क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है? वित्तीय वर्ष में न्यूनतम ₹500 से अधिकतम ₹1.50 लाख का निवेश होता है। पीपीएफ 7.1% की ब्याज दर प्रदान करता है। इस योजना में अर्जित ब्याज आयकर अधिनियम के तहत कर मुक्त है। इस अकाउंट में आप अगले 15 सालों तक के लिए निवेश कर सकते हैं। बता दें, एफडी और पीपीएफ दोनों खातों पर आईटी अधिनियम की धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये की कर छूट का लाभ मिलता है।

Crypto में निवेश करना कितना सही

क्रिप्टो को लेकर भारत में अभी भी तस्वीर साफ नहीं हुई है। भारत सरकार के तरफ से इसको लेकर कोई नियम अभी तक नहीं बनाया गया है। विशेषज्ञ का मानना है कि अगर आप छोटे निवेशक हैं तो क्रिप्टो में निवेश ना करें। क्योंकि इसमें नुकसान होने की संभावना काफी अधिक है।

गोल्ड में निवेश करने वालों की हमेशा रहती है चांदी

निवेशक सोने (Gold) को सबसे भरोसेमंद निवेश मानते हैं। अब त्योहार का सीजन शुरु हो गया है। ऐसे में भारतीय महिलाएं अधिक मात्रा में सोने की खरीददारी करती हैं। अभी दुर्गापूजा आने वाला है। अगर आप उससे पहले सोना खरीदना चाहते हैं तो ये सही समय है। भारतीय बाजार (Indian Market) में आज 10 ग्राम 24 Carat Gold की कीमत 110 रुपये की उछाल के बाद 50,130 रुपये हो गई है।

क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

Invest In SIP : जानिए क्या है इसके फायदे और कैसे करें निवेश

कई म्यूचुअल फंड हाउस एसआईपी के जरिये अपनी योजनाओं में निवेश करने वाले लोगों को अतिरिक्त सुविधा के रूप में मुफ्त टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्रदान करते हैं।

pc : pti

SIP Investment : अगर आपको लगता है कि म्यूचुअल फंड में सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Systematic Investment Plan (SIP)) के जरिए निवेश करना एक स्मार्ट सेविंग टूल है, तो यहां आपके लिए अच्छी खबर हैं। आपके म्यूचुअल फंड एसआईपी (mutual fund SIP) में मुफ्त जीवन बीमा कवरेज (life insurance coverage) शामिल हो सकता है।

कई म्यूचुअल फंड हाउस (mutual fund houses offer) एसआईपी के जरिये से अपनी योजनाओं में निवेश करने वाले लोगों को अतिरिक्त सुविधा के रूप में मुफ्त टर्म लाइफ इंश्योरेंस सर्विस प्रोवाइड करते हैं। इसे एसआईपी बीमा कहा जाता है, जो अनिवार्य रूप से निवेशकों की मौजूदा बीमा योजना (existing insurance plan के लिए टॉप-अप के रूप में कार्य करता है।

SIP बीमा कैसे काम करता है?

बीमा से जुड़े फंड के तहत, म्यूचुअल फंड बिना किसी अतिरिक्त लागत के निवेशकों को समूह अवधि बीमा कवर प्रदान करते हैं। जीवन बीमा कवरेज एसआईपी की राशि (मुद्रा) से जुड़ा होता है और तब तक जारी रहता है जब तक निवेशक यहां अपना निवेश नहीं रखता।

वहीं बता दें कि क्लियर के फाउंडर और सीईओ अर्चित गुप्ता के अनुसार, निवेशक को एसआईपी कार्यकाल के अंदर मृत्यु होने पर मासिक एसआईपी के जरिये 20 से 120 गुना तक मृत्यु दर (मृत्यु लाभ) मिलता है।

उदाहरण के तौर पर, एएमसी पहले वर्ष में मासिक एसआईपी का 20 गुना, दूसरे वर्ष में मासिक एसआईपी का 75 गुना और तीसरे वर्ष में मासिक एसआईपी का 120 गुना अधिकतम 50 लाख रुपये तक का जीवन बीमा कवर प्रदान करता है। कई एएमसी मुफ्त जीवन बीमा की पेशकश तभी करते हैं जब निवेशक यानि इन्वेस्टर 36 महीने के टेन्योर के साथ एसआईपी का विकल्प चुनते हैं, ”

इस समय कौन से फंड हाउस इसे उपलब्ध करा रहे हैं?

निवेश डॉट कॉम के सीईओ और सह-संस्थापक (Co-Founder) अनुराग गर्ग के अनुसार, निप्पॉन, एक्सिस और पीजीआईएम जैसे फंड हाउस एसआईपी के साथ अपनी कुछ योजनाओं (आमतौर पर इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी हाइब्रिड योजनाओं) के लिए मुफ्त जीवन बीमा कवर प्रदान करते हैं।

क्या एसआईपी बीमा के लिए कोई न्यूनतम और अधिकतम प्रवेश आयु है?

निवेश डॉट कॉम के गर्ग बताते हैं कि म्यूचुअल फंड द्वारा कुछ स्पेसिफाएड प्रवेश आयु है, जो एक फंड से दूसरे फंड के लिए अलग हो सकती है। उदाहरण के लिए न्यूनतम प्रवेश आयु 18 वर्ष है और अधिकतम 51 वर्ष है और निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड के मामले में बीमा कवर 55 वर्ष की आयु में समाप्त हो जाता है।

SIP क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है? बीमा से निवेशकों को क्या लाभ मिलता है?

एसआईपी बीमा के साथ बीमा कवर तब शुरू होता है जब निवेशक अपनी एसआईपी किस्तें शुरू करते हैं। बता दें कि इसकी कोई प्रतीक्षा अवधि नहीं होती। निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड के उदाहरण का हवाला देते हुए गर्ग बताते हैं कि बीमा कवरेज पहले वर्ष के लिए एसआईपी किस्त राशि का 10x, दूसरे वर्ष में 50x और तीसरे वर्ष से 120x है। अधिकतम सीमा 50 लाख रुपये है। यदि एसआईपी राशि 10,000 रुपये है, तो निवेशक निम्नलिखित बीमा कवरेज का हकदार होगा। जैसे-

वर्ष 1: Rs. 10,000 x 10 = Rs 1,00,000
वर्ष 2: Rs. 10,000 x 50 = Rs 5,00,000
वर्ष 3: Rs. 10,000 x 120 = Rs 12,00,000

गर्ग कहते हैं कि अगर किस्त की राशि 1,00,000 रुपये प्रति माह थी, तो कवर की अधिकतम राशि 50 लाख रुपये तक सीमित होगी।

(Disclaimer: Republic Bharat यूजर को कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले प्रमाणित विशेषज्ञों से जांच करने की सलाह देता है।)

रेटिंग: 4.17
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 655