कैसे लें फंसा हुआ पैसा
गाइडलाइन के मुताबिक, हर बैंक को अपनी वेबसाइट पर ऐसे फंसे पैसे और कस्टमर का जिक्र करना जरूरी है. जिस ग्राहक का पैसा फंसा हो, वो ग्राहक बैंक की वेबसाइट चेक करे और ब्रांच में संपर्क करे. आपको इसके लिए विधिवत क्लेम फॉर्म भरना होगा. फॉर्म के साथ डिपॉजिट की रसीद और फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है केवाईसी के दस्तावेज भी जमा कराने होंगे. कोर बैंकिंग सुविधा होने से बैंक के किसी भी ब्रांच में जा सकते हैं.

What are the Advantages of Fixed Deposit? In Hindi [सावधि जमा के क्या फायदे हैं? हिंदी में]

फिक्स डिपॉजिट के बारे में जानकारी | नियम और शर्तें Fixed Deposit rules in Hindi

निवेश के तमाम विकल्पों के बावजूद भारत फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है में फिक्स डिपॉजिट (FD)अकाउंट के प्रति लोगों का आकर्षण कम नहीं हुआ है।किसी के पास अगर कहीं से एकमुश्त पैसा आया है तो वह बैंक या पोस्ट ऑफिस में फिक्स डिपॉजिट (FD) अकाउंट खुलवा कर उसमें पैसा जमा करवा लेता है। इस लेख में हम जानेंगे कि फिक्स डिपॉजिट के नियम और शर्तें क्या है? Rules and information of Fixed Deposit in Hindi। इसके बारे में अन्य जरूरी जानकारियां भी यहां शामिल की हैं।

फिक्स डिपॉजिट ऐसा अकाउंट होता है, जिसमें आपके एक निश्चित समय के लिए, इकट्ठा पैसा जमा करते हैं। उस निश्चित अवधि के बाद आपको ब्याज सहित पैसा वापस मिल जाता है। पैसा आपको कितना वापस मिलेगा यह आपको खाता खोलते समय ही पता चल जाता है। क्योकि ब्याज दर भी खाता खोलते समय ही निश्चित हो जाती है। बीच में ब्याज दरों में बदलाव होने पर भी पुराने फिक्स डिपॉजिट (FD)अकाउंट की ब्याज दरो में कोई बदलाव नहीं होता है।

नियम 1 :- फिक्स डिपॉजिट में निश्चित अवधि के लिए जमा होता है पैसा।

फिक्स डिपॉजिट(FD)अकाउंट आप चाहे जहां खुलवाए बैक में, पोस्ट ऑफिस में उसमें आपका पैसा एक निश्चित अवधि के लिए जमा हो जाता है। उस अवधि के बीतने के बाद ही आपका पैसा वापस मिलता है। आजकल बैंक 7 दिन से लेकर 10 साल तक के फिक्स डिपॉजिट की सुविधा देते हैं। सामान्य स्थितियों में उस अवधि के बीच में आप पैसा नहीं निकाल सकते है।हालांकि पोस्ट ऑफिस में सिर्फ चार तरह की अवधि वाले फिक्स डिपॉजिट (FD) ही उपल्बध है।

  • 1-एक वर्षीय टाइम डिपॉजिट
  • 2-दो वर्षीय टाइम डिपॉजिट
  • 3-तीन वर्षीय टाइम डिपॉजिट
  • 4-चार वर्षीय टाइम डिपॉजिट

नियम 2 : फिक्स डिपॉजिट में ब्याज दर और रिटर्न भी निश्चित रहते है

आपके फिक्स डिपॉजिट अकाउंट पर कितनी ब्याज मिलेगी,यह भी आपकी अकाउंट खोलते समय ही पता चल जाता है।खाता खोलने वाले दिन जो भी ब्याज दर (Interest rate) उस अकाउंट पर लागू होगी, वह ब्याज दर पूरी अवधि के दौरान आपकी जमा पर मिलेगी। भले ही आपका फिक्स डिपॉजिट चार हफ्ते का हो या 10 साल के बीच में मार्केट भी ब्याज दरो में बदलाव करता भी है तो उस पर आपके पहले से खुले फिक्स डिपॉजिट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। यानी कि आपको, अपने एफडी रकम पर, पूरी अवधि तक वही ब्याज दर मिलती रहेगी जो अकाउंट खोलते समय थी।

चूंकि फिक्स डिपॉजिट की ब्याज उसकी पूरी अवधि के लिए फिक्स हो जाता है, इसलिए उसका रिटर्न भी पहले दिन ही फिक्स हो जाता है। उदाहरण के लिए, अगर आप पोस्ट ऑफिस में फिक्स डिपॉजित (Time Deposit) अकाउंट खुलवाते है तो उसकी मेच्योरिटी पर मिलने वाली रकम आपको पहले ही बता दी जाती है वह है-

नियम 4:- किसी भी उम्र के व्यक्ति के लिए खोला जा सकता है अकाउंट

18 वर्ष से अधिक उस कोई भी व्यक्ति अपने लिए फिक्स डिपॉजिट अकाउंट खुलवा सकता है। 10 वर्ष से अधिक उम्र का बच्चा अगर अपना हस्ताक्षर (Signature) से अकाउंट का संचालन कर सकता है, तो वह भी, अपने नाम पर फिक्स डिपॉजिट अकाउंट खुलवा सकता है। 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे के लिए, भी उसके अभिभावक की ओर से फिक्स डिपॉजिट अकाउंट खुलवाया जा सकता है। लेकिन ऐसे अकाउंट का संचालन का अधिकार, बच्चों के वयस्क होने तक उसके अभिभावक के पास रहती है।

दो या तीन वयस्क व्यक्ति चाहें तो एक साथ मिलकर संयुक्त फिक्स डिपॉजिट (Joint Fixed Deposit Account)अकाउंट भी खुलवा सकते है। संयुक्त अकाउंट प्रायः दो तरह के उपलब्ध होते हैं-

  • Joint A Type: इसमें सभी साझेदारों के नाम अकाउंट खुलवा सकते है, और सभी सझेदारों के हस्ताक्षर पर ही पैसा निकलता है।
  • Joint B Type: इनमें भी सभी साझेदारों के नाम अकाउंट होता है। लेकिन पैसा निकालने का अधिकार किसी एक को दे दिया जाता है।

Fixed Deposit क्या Advantages हैं? हिंदी में

अपने धन(money) का निर्माण करने का सबसे अच्छा तरीका बुद्धिमानी से निवेश करना है। बचत(Saving) की आदत(Habit) लगाना मुश्किल नहीं है। बचत शुरू(Saving Starting) करने का सबसे अच्छा तरीका आपके या आपके परिवार के लिए सावधि जमा(Fixed deposit) की स्थापना (establishment) है।

Why to invest in fixed deposited? / How to fixed deposit in best investment? / is fixed deposit a good investment [in Hindi]

फिक्स्ड डिपॉजिट बैंकों द्वारा प्रदान किए जाने वाले सबसे पुराने और सबसे सुरक्षित निवेश साधनों(Safe investment instruments) में से एक है। सावधि जमा(Fixed deposit) पर ब्याज दर बचत खाते(Saving Account) या चालू खाता(Current Account) शेष(outstanding) पर दिए गए ब्याज(Interest) फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है से अधिक है। यह हर व्यक्ति के लिए आवश्यक है कि वह अपने निवेश पोर्टफोलियो(Investment portfolio) को विभिन्न प्रकार की निश्चित आय और परिवर्तनीय आय निवेश स्रोतों(Variable income investment sources) में विविधता लाए। फिक्स्ड डिपॉजिट निवेश का एक नियमित आय स्रोत है।

PNB, SBI और Axis Bank ने बढ़ाया फिक्स डिपॉजिट रेट ! जानिए निवेश करने पर कितना मिलेगा रिटर्न

Fixed Deposit

Fixed Deposit

gnttv.com

  • नई दिल्ली,
  • 17 जुलाई 2022,
  • (Updated 18 जुलाई 2022, 12:49 AM IST)

PNB में बढ़ा 6 प्रतिशत से 7.25 प्रतिशत ब्याज दर

पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और एक्सिस बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट रेट को बढ़ाया है. जिसके चलते इन बैंक के ग्राहकों को काफी लाभ होने वाला है. फिक्स्ड डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट रेट बढ़ने पर अब बढ़ा हुआ रिटर्न मिलेगा. हम यहां बता रहे हैं कि इन बैंक में कितना फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दर बढ़ने पर आपको कितना फायदा होगा.

पीएनबी में इतना बढ़ा एफडी ब्याज दर
पीएनबी हाउसिंग में जमा अवधि के आधार पर एफडी ब्याज दरों में वृद्धि की है. पीएनबी ने ब्याज दरों में 10 बीपीएस से 25 बीपीएस की वृद्धि की है. ये दरे 15 जून से प्रभावी होंगी. जिसके चलते एफडी करने वालों को 6 प्रतिशत से 7.25 प्रतिशत तक का रिटर्न मिल सकता है. वहीं वरिष्ठ नागरिकों के लिए 0.25 प्रतिशत अधिक रिटर्न को बढ़ाया है.

एसबीआई में इतना बढ़ा एफडी ब्याज दर
पीएनबी की तरह ही एसबीआई ने भी फिक्स्ड डिपॉजिट के ब्याज दरों पर बढ़ोतरी की है. भारतीय स्टेट बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर रिटर्न में 20 बेसिस पॉइंट तक की बढ़ोतरी की है, लेकिन फिक्स्ड डिपॉजिट पर बढ़ा हुआ ब्याज दर जमा करने की अवधि पर निर्भर करता है. वहीं यह नई दरें 2 करोड़ रुए से कम जमा करने पर लागू किया गया है.

घर बैठे यूं ऑनलाइन खोलें SBI के साथ अपना फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट, जानें स्टेप-बाई-स्टेप तरीका

घर बैठे यूं ऑनलाइन खोलें SBI के साथ अपना फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट, जानें स्टेप-बाई-स्टेप तरीका

Fixed Deposit Investment : SBI के FD में निवेश करना है बेहतर विकल्प. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

State Bank of India (SBI) अपने सेविंग अकाउंट होल्डर कस्टमर्स फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है को फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट खोलने की सुविधा देता है. कोरोना वायरस के दौर में आमतौर पर लोग बैंक जैसी भीड़-भाड़ जगहों पर जाने से बचते हैं. इसके लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया आपको फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट खोलने की सुविधा ऑनलाइन भी देता है जिसके जरिए आप घर बैठे या कहीं से भी ऑनलाइन अकाउंट खोल सकते हैं. इसके अलावा आप अपना टर्म डिपॉजिट नेट बैंकिंग के जरिए पेमेंट कर सकते हैं और इसके लिए आपको बैंक जाने की जरूरत नहीं होती. एक बार ऑनलाइन अकाउंट खोलने के बाद ऑनलाइन अपने डिपॉजिट को रिन्यू करा सकते हैं या क्लोज कर सकते हैं.

ऐसे ऑनलाइन खोलें अपना फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट

  • अपने निजी क्रेडिशेंसियल यानी जानकारी डालकर करके SBI वेबसाइट पर लॉगिन करें.
  • होम पेज पर जाएं और 'डिपॉजिट स्कीम' पर क्लिक फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है करें इसके बाद आपको 'टर्म डिपॉजिट' ऑप्शन पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आपको मेन्यू के टॉप में 'ई-फिक्स्ड डिपॉजिट' पर क्लिक करना होगा.
  • अपने जरूरत की एफडी चुनें और प्रोसीड ऑप्शन पर क्लिक करें .
  • अगर आपके पास कई अकाउंट्स हैं तो जिस अकाउंट से पेमेंट करनी है, उसे सिलेक्ट करें.
  • FD की प्रिंसिपल वैल्यू चुनें और 'अमाउंट' कॉलम पर क्लिक करें और अगर आपकी उम्र 60 साल से ज्यादा है तो 'सीनियर सिटीजन' कॉलम पर क्लिक करें.
  • इसके बाद मैच्योरिटी डेट और इंटरनेट पे आउट फ्रीक्वेंसी चुनें.
  • इसके बाद टर्म्स एंड कंडीशन पढ़ कर सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करें और आपका एफडी अकाउंट खुल जाएगा.

Fixed Deposit Scheme: मैच्योर होने के बाद भी नहीं निकाल पा रहे FD का पैसा, ऐसे करें अप्लाई, फटाफट मिलेगी रकम

Fixed Deposit Scheme: RBI की गाइडलाइन के मुताबिक, सेविंग्स या करंट अकाउंट में दो साल तक ट्रांजैक्शन नहीं किया जाए तो वह खाता इनएक्टिव घोषित हो जाता है.

alt

6

alt

7

alt

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 585