इस वजह से इस तरह के ब्रोकर अपने क्लाइंट (निवेशको और ट्रेडरो) से ज्यादा ब्रोकरेज लेते है।

stock broker kaise bane

Stock Broker Kya Hota Hai? Top 5 Broker In India

जब भी आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते है तो स्टॉक ब्रोकर के मदद से करते है ऐसे में सवाल ये है की stock broker kya hota hai और इसकी जरूरत क्यों होती है ? इसके साथ ही साथ ये भी स्टॉक ब्रोकर का काम जानने को मिलेगा की अपने इंडिया में कौन कौन से best stock broker है |

पैसे से पैसे कमाने की सोच रहे है स्टॉक ब्रोकर का काम या आप पैसे को इन्वेस्ट करने की सोच रहे है तो सबसे ज्यादा प्रॉफिट और return सिर्फ और सिर्फ स्टॉक मार्केट ही दे सकता है, लेकिन आपको पता तो होनी ही चाहिए की आखिर शेयर खरीदा कैसे जाता है ?

अगर आप भी शेयर खरीदना चाहते स्टॉक ब्रोकर का काम है तो ये सब करना एकदम जरूरी है :-

  • सबसे पहले Demat Account खोले
  • Demat अकाउंट के साथ trading अकाउंट की भी जरूरत होगी उसके लिए आपको स्टॉक ब्रोकर के मदद से आसानी से खोल सकते है
  • इसके बाद जिस कंपनी का शेयर खरीदना चाहते है आसानी से खरीद सकते है |

Stock Broker Kya Hota Hai?

Stock Broker वो person या company होता है जिसका काम आपके और stock exchange के बीच सभी Transaction को कम्पलीट करता है |

stock broker kya hota hai

मतलब ये हुआ की जब भी आप किसी कंपनी का स्टॉक खरीदेंगे तो उसके लिए आपको हर हाल में किसी न किसी स्टॉक ब्रोकर के मदद से ही स्टॉक को buy कर सकते है |

दोस्तों, कोई भी आदमी डायरेक्ट stock exchange से किसी कंपनी का शेयर नही खरीद सकता है, मतलब ये हुआ की हर हाल में स्टॉक ब्रोकर का काम स्टॉक ब्रोकर बीच में आएगा ही आएगा और सारे प्रोसेस को कम्पलीट करने पर आपसे उसके बदले में कुछ न कुछ fee जरुर लेगा|

How Stock Brokers Work

दोस्तों, मान लीजिये की ABCD नाम का कोई स्टॉक ब्रोकर है जिसपर आपने अपना अकाउंट ओपन किया है तो ऐसे में वो stock broker दो जगह से registered जरुर होनी चाहिए, पहला ये की वो SEBI जिसे Securities and Exchange Board of स्टॉक ब्रोकर का काम India कहते है उससे registered तो होनी ही चाहिए

साथ ही साथ आपका स्टॉक broker NSE और BSE दोनों exchange पर भी लिस्टेड होना जरूरी है क्योकि आपको पहले ये जानना जरूरी है की आखिर SEBI क्यों होता है |

SEBI का काम है की stock खरीदने और बेचने जो भी सरकारी गाइडलाइन्स की जरूरत होगी वो सभी के सभी SEBI ही कण्ट्रोल करता है और साथ ही साथ टाइम तो टाइम सभी स्टॉक होल्डर के पैसे का किसी तरह का फ्रॉड न हो इसके लिए टाइम to टाइम अलग अलग तरह के rules भी लेट रहता है |

Stock Broker Meaning in Hindi | स्टॉक ब्रोकर क्या होता है?

20220503 193011

एक स्टॉक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज जैसे NSE यानि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और BSE यानि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सदस्य होता है।

कोई भी स्टॉक ब्रोकर अपने client यानि कोई निवेशक या ट्रेडर तथा स्टॉक एक्सचेंज के बिच की कड़ी की तरह होता है।

वह निवेशक और ट्रेडर को स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर खरीदने और बेचने की पूरी व्यवस्था करता है।

Stock Broker kya hai और का उसका काम क्या है ?


शेयर बाजार में निवेश या ट्रेडिंग करने के लिए किसी भी व्यक्ति को ट्रेडिंग और डीमैट खाता खुलवाने की जरुरत होती है।

Meaning of StockBroker


एक ब्रोकर यह दोनों खाते खोल कर निवेश और ट्रेडिंग करने की सुविधा देता है।

कई Banks जैसे SBI और HDFC भी एक ब्रोकर की तरह रजिस्टर्ड होते है।

ऐसी बैंक आपको Bank Account, Demat Account और Trading Account तीनो खाते एक साथ खुलवाने की सुविधा देती है।

नई टेक्नोलॉजी की वजह से अब सभी ब्रोकर अपने client को सीधा खरीद और बिक्री का प्लेटफॉर्म देती है।

स्टॉक ब्रोकर के प्रकार (Types of StockBroker) :


स्टॉक ब्रोकर द्वारा दी जाने वाली सुविधा और ब्रोकरेज लेने के अनुसार उसके दो प्रकार है।

1) Full Service या Regular Broker :

इस प्रकार के ब्रोकर पुराने तरह के ब्रोकर है। Meaning of StockBroker
यह ब्रोकर खरीद बिक्री की सुविधा के साथ साथ निवेशको और ट्रेडरो को और भी बहुत सी सेवाए देते है।

  • निवेश या ट्रेडिंग की सलाह देना , Stock Broker kya hai
  • IPO भरने की सुविधा और उसके बारे में सलाह देना ,
  • शेयर बाजार के संबंध में आने वाली खबरों के बारे में अवगत करवाना ,
  • कॉल कर के शेयर की खरीद-बिक्री का ऑर्डर देने की सुविधा देना ,
  • कि जाने वाली खरीद बिक्री के Contract Note की कॉपी देना।

और भी बहुत सुविधाए देता है। Stock Broker kya hai

स्टॉक ब्रोकर का काम क्या होता है

शेयर मार्केट में जब हम अपना पहला कदम रखते हैं तो हमें Demat Account और Trading Account की जरूरत पड़ती है जो कि एक स्टॉक ब्रोकर का ही काम होता है और जब हम किसी कंपनी के Stock को buy करते हैं या Sell करते हैं तो स्टॉक एक्सचेंज NSE, BSE तक पहुंचाने का काम स्टॉक ब्रोकर का ही होता है. (अगर आप स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते है तो नीचे के लिए से पहले अपना फ्री में डीमैट खाता खोले

शेयर मार्केट में दो तरह के स्टॉक ब्रोकर काम करते हैं।

फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर (Full Service Sock Broker) : जैसा कि स्टॉक ब्रोकर का काम आपको नाम से ही पता चल रहा है फुल सर्विस यानी कि वह सारी सर्विस जो स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए जरूरत है जैसे कि Stock Academy यानी कौन सा शेयर खरीदना और कौन सा शेयर बेचना Merging, मोबाइल फोन से ट्रेडिंग की सुविधा, आईपीओ की सुविधा इसके अलावा 24 * 7 कस्टमर सपोर्ट और कई ब्रोकर के तो बहुत से ब्रांच तो शहरों में होते है. भारत में कुछ पोपुलर स्टॉक ब्रोकर है जिसमे आप अपना डीमैट खाता खोल सकते है.

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए योग्यता

Stock broker बनने के लिए सबसे पहले आपके पास धैर्य होना चाहिए और Risk का सामना करना आना चाहिए स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए Academic Qualification के साथ-साथ अच्छी Analysis, बुद्धि और रिसर्च Skill मजबूत होना चाहिए और स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग rules जरूर और process की जानकरीअच्छा तरीके से पता होना चाहिए

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपको मार्केट में क्या कुछ नया चल रहा है मार्केट कैसा परफॉर्म कर रहा है इन सभी बातों से Update रखना होगा स्टॉक ब्रोकर के फील्ड में एक्सपर्ट बनने के लिए आपको कंप्यूटर स्किल के साथ-साथ Decision Making टीम वर्क रिसर्च ,एनर्लिटिक्स की जानकारी भी होनी चाहिए

स्टॉक ब्रोकर कैसे बने (Stock Broker Kaise Bane)

Share Market Broker बनने के लिए आपको पहले कुछ दिन स्टॉक मार्केट में अनुभव करना होगा जिसके लिए आपको पहले एक डीमैट खाता खुलवाना होगा डीमैट खाता खुलवाने के लिए आप Upstox में खाता खोल सकते हैं और जब आप Upstox में अच्छे से आप स्ट्रोक्स को जान लेते हैं तो अब आप Upstox Patner बन जाए जिसे हम सब ब्रोकर भी कहते हैं.

स्टॉक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज में मेंबर तो नहीं होते लेकिन वह ग्राहकों को स्टॉक ब्रोकर की पूरी सुविधा दे सकते हैं सब ब्रोकर बनने के लिए आपके पास पैन कार्ड, आधार कार्ड एजुकेशन क्वालिफिकेशन इसके अलावा आपका घर और CA होना चाहिए सब ब्रोकर आप उन्हीं कंपनी में बने जो इन्वेस्टर को पसंद हो क्योंकि आज मार्केट में बहुत सारे कंपनी है जिस कंपनी का आप ब्रोकर बनना चाहते हैं उसके बारे में पहले से ही पूरी जानकारी होनी चाहिए शेयर मार्केट में रुचि होना चाहिए एक स्टॉक ब्रोकर ब्रोकर के तौर पर सिक्योरिटी एंड सेबी में रजिस्टर करवाना होगा रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए प्रश्न डिटेल के साथ-साथ बैंक अकाउंट डिटेल इत्यादि देना होगा

Step 1

एक स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए इच्छुक उम्मीदवार को Stock Broking और Capital Market और निवेश निवेश योजना और कई अन्य संबंधित Courses में Course करना पड़ता है जो भारत में कुछ प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा पेश किए जाते है.

इन Courses के माध्यम से जाने के बाद किसी को Stock Broking Company से जुड़ना पड़ता है और इसमें कम से कम 2 साल का अनुभव प्राप्त करना होता है.

Step 3

Stock Broking Company स्टॉक ब्रोकर का काम के साथ काम करने के दौरान पर्याप्त अनुभव और ज्ञान प्राप्त करने के बाद कोई भी अकेले अपना व्यवसाय शुरू कर सकता है या संबंधित अधिकारियों से अपेक्षित अनुमति के साथ Stock Broking Company को Registered कर सकता है.

एक Stock Broker के रूप में स्टॉक ब्रोकर का काम आपको अपने ग्राहक की Financial Profile को Manage करना होगा. आप निवेश विश्लेषकों से सलाह लेंगे उसके बाद आप अपने ग्राहक के स्टॉक ब्रोकर का काम साथ पूरे परिदृश्य पर चर्चा करेंगे कि ग्राहक के पैसे पर वापसी के रूप में सबसे अच्छा लाभ उठाने के लिए कौन से Financial Share खरीदने या बेचने है.

स्टॉक ब्रोकर में कैरियर की संभावनाएँ

स्टॉक ब्रोकर में कैरियर की संभावनाएँ बहुत अधिक मानी जाती है . 7000 से अधिक Listed Companies लगभग 6500 Brokers और 500 से अधिक निवेश बैंकरों के साथ भारत भर में लगभग 21 Operative Stock Exchange हैं जो सेबी के रूप में संक्षिप्त रूप से Stock Markets के शासी निकाय भारत के सुरक्षा और विनिमय बोर्ड के साथ Registered हैं. यदि हम इन आँकड़ों को देखते हैं तो यह आसानी से माना जा सकता है कि Stock Broking में Business की संभावनाएं उन लोगों के लिए उज्ज्वल हैं जो योग्य हैं और इस Business को संभालने के लिए पर्याप्त हैं और इसके साथ सामना करने के लिए आवश्यक व्यक्तित्व लक्षण है.

स्टॉक ब्रोकर की सैलरी काफी अच्छी होती है. स्टॉक ब्रोकर को शुरुआती में सैलरी के तौर पर 20,000 से 30,000 प्रति माह मिलते है. इसमें कुछ अनुभव प्राप्त करने के बाद वह यह 50,000 से 10,0000 प्रतिमाह और अधिक भी कमा सकता है.

स्टॉक ब्रोकर क्या होता है? (Stock Broker Meaning and Definition in Hindi)

अब स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए पहले ये जानना जरूरी है कि Stock broker kya hota hai? तो इसे एक उदाहरण से समझते हैं.

सबसे पहले कोई कंपनी अपने शेयर को बेचना चाहती है. तो वो पहले उसे सभी जगह से रजिस्टर्ड करवाएगी, सेबी से परमिशन लेगी और फिर शेयर मार्केट में अपने शेयर देगी. ये शेयर वो शेयर मार्केट में मौजूद उन कंपनियों को देती स्टॉक ब्रोकर का काम है जो इन शेयर को बेचने और खरीदने का काम करते हैं.

अब इन्हीं कंपनियों में वो कर्मचारी होते हैं जो निवेशकों को ये बताते हैं कि ‘सर एक बढ़िया शेयर आया है. आप इसे खरीद लीजिये. आगे चलकर इसका भाव आसमान को छूएगा.’ सामने वाला इनसे प्रभावित होकर या अपना निर्णय लेकर उन शेयर को खरीद लेता है.

तो ये जो निवेशक को प्रभावित करने वाला व्यक्ति है वही स्टॉक ब्रोकर कहलाता है. किसी शेयर को खरीदने और बेचने में इनका महत्वपूर्ण योगदान होता है. असल में देखा जाए तो किस कंपनी के शेयर बेचने है और किसके खरीदने हैं ये इन पर ही निर्भर रहता है. एक आम व्यक्ति शेयर मार्केट की इतनी ज्यादा समझ नहीं रखता इसलिए लोग स्टॉक ब्रोकर की बातों पर विश्वास करके अपना पैसा लगा देते हैं.

स्टॉक स्टॉक ब्रोकर का काम ब्रोकर का काम क्या होता है? (Stock broker job description)

  • एक स्टॉक ब्रोकर का काम होता है शेयर को खरीदना स्टॉक ब्रोकर का काम और बेचना.
  • जब भी कोई नई कंपनी अपने शेयर लेकर आती है तो स्टॉक ब्रोकर ही होते हैं जो कई बड़े निवेशकों को इनके शेयर में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं. वहीं शेयर को खरीदने का कार्य भी इन्हीं का होता है.
  • यदि कोई निवेशक शेयर को बेच रहा है तो उसे खरीदने वाले भी स्टॉक ब्रोकर ही होते हैं. हालांकि ये सारा काम अपनी कंपनी या फर्म के लिए करते हैं जिनके संबंध सीधे उन कंपनियों से होते हैं जो अपने शेयर उतार रही है.
  • इसके अलावा नए निवेशक तलाशना और उन्हें निवेश के लिए प्रोत्साहित करना भी एक स्टॉक ब्रोकर का काम होता है.
  • एक स्टॉक ब्रोकर को निवेशक का Demat account open करना और जरूरी कागजी कार्यवाही करना पड़ती है.

स्टॉक ब्रोकर कैसे बनें? (How to Become a Stock Broker?)

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपको ग्रेजुएट होना जरूरी है.

1) आप बिजनेस से संबन्धित किसी कोर्स में ग्रेजुएशन कर सकते हैं. जैसे कॉमर्स, मैनेजेमेंट, इक्नोमिक्स आदि. यदि आप पोस्ट ग्रेजुएट भी हैं तो भी आप अच्छे स्टॉक ब्रोकर बन सकते हैं.

2) ग्रेजुएशन के दौरान आप शेयर मार्केट को अच्छी तरह से जानें. इसके उतार-चढ़ाव को देखें.

3) शेयर मार्केट की बारीकियों को सीखें. इसकी हर टर्म को अच्छे से जाने.

4) लोगों के साथ बात करने के तरीके को सुधारें और विश्वासपात्र संबंध बनाने की कोशिश करें.

5) ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद आप स्टॉक ब्रोकिंग या कैपिटल मार्केट से संबन्धित कोर्स कर सकते हैं. इसमें आपको शेयर मार्केट की बारीकियाँ सीखने को मिलेगी.

6) इन कोर्स को करने के बाद आप किसी अच्छी Stock Broking Company के साथ जुड़ें और कुछ वर्षों का अनुभव लें.

स्टॉक ब्रोकर की कमाई कितनी होती है? (Stock Broker Average Salary)

एक स्टॉक ब्रोकर की कमाई (Stock broker earning) की कोई सीमा नहीं है. यदि आप एक फ्रेशर के तौर पर किसी Stock Broking Company में Job करते हैं तो शुरुआती तौर पर आपको 10 से 30 हजार रुपये तक सैलरी मिल सकती है. लेकिन जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ेगा, आपकी कमाई बढ़ती रहेगी. आप हर साल 7-8 लाख रुपये तक कमा सकते हैं.

इस सैलरी के अलावा यदि आपके पास पैसा है तो आप खुद भी निवेश करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. क्योंकि आप इस फील्ड के बारे में अच्छे से जानते हैं तो आप ये अनुमान लगा सकते हैं कि किस शेयर में पैसा लगाना आपके लिए फायदेमंद रहेगा.

स्टॉक ब्रोकर का करियर काफी सारी संभावनाओं से भरा है. इसमें कमाई की कोई सीमा नहीं है. आपने कई फिल्में देखी होगी जिनमें एक स्टॉक ब्रोकर अपने स्टॉक बेचने की कला से ही करोड़ों रुपये छाप देता है. इसका सबसे अच्छा उदाहरण ‘हर्षद मेहता’ है. हर्षद मेहता ने अपने दिमाग के बल पर शेयर मार्केट को एक अलग ही रुख दिया और बैंक से काफी घोटाला किया. लेकिन आखिर में ये पकड़े गए.

रेटिंग: 4.45
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 648