स्मॉल कैप कंपनी ने किया डिविडेंड का ऐलान, रिकॉर्ड डेट घोषित

प्रमुख वैश्विक सूचकांक

इस पेज पर रियल टाइम सीएफडी मूल्यों के साथ भारत तथा विश्व भर में प्रमुख वैश्विक सूचकांक ट्रेड दिए गए हैं। रियल टाइम मूल्यों के अतिरिक्त, टेबल उच्च तथा निम्न मूल्य भी प्रदान करता है जो सूची में एक आसान पढ़े जाने योग्य प्रारूप में व्यापारिक दिन के व्यापार के लिए होते है। अपनी पसंद की इंडेक्स के नाम पर प्रासंगिक समाचारों तथा तकनीकी विश्लेषण के अतिरिक्त, उसके मूल्य तथा चार्ट्स, के लिए क्लिक करें।

जोखिम प्रकटीकरण: वित्तीय उपकरण एवं/या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग में आपके निवेश की राशि के कुछ, या सभी को खोने का जोखिम शामिल है, और सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत काफी अस्थिर होती है एवं वित्तीय, नियामक या राजनैतिक घटनाओं जैसे बाहरी कारकों से प्रभावित हो सकती है। मार्जिन पर ट्रेडिंग से वित्तीय जोखिम में वृद्धि होती है।
वित्तीय उपकरण या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने का निर्णय लेने से पहले आपको वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग से जुड़े जोखिमों एवं खर्चों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, आपको अपने निवेश लक्ष्यों, अनुभव के स्तर एवं जोखिम के परिमाण पर सावधानी से विचार करना चाहिए, एवं जहां आवश्यकता हो वहाँ पेशेवर सलाह लेनी चाहिए।
फ्यूज़न मीडिया आपको याद दिलाना चाहता है कि इस वेबसाइट में मौजूद डेटा पूर्ण रूप से रियल टाइम एवं सटीक नहीं है। वेबसाइट पर मौजूद डेटा और मूल्य पूर्ण रूप से किसी बाज़ार या एक्सचेंज द्वारा नहीं दिए गए हैं, बल्कि बाज़ार निर्माताओं द्वारा भी दिए गए हो सकते हैं, एवं अतः कीमतों का सटीक ना होना एवं किसी भी बाज़ार में असल कीमत से भिन्न होने का अर्थ है कि कीमतें परिचायक हैं एवं ट्रेडिंग उद्देश्यों के लिए उपयुक्त नहीं है। फ्यूज़न मीडिया एवं इस वेबसाइट में दिए गए डेटा का कोई भी प्रदाता आपकी ट्रेडिंग के फलस्वरूप हुए नुकसान या हानि, अथवा इस वेबसाइट में दी गयी जानकारी पर आपके विश्वास के लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं होगा।
फ्यूज़न मीडिया एवं/या डेटा प्रदाता की स्पष्ट पूर्व लिखित अनुमति के बिना इस वेबसाइट में मौजूद डेटा का प्रयोग, संचय, पुनरुत्पादन, प्रदर्शन, संशोधन, प्रेषण या वितरण करना निषिद्ध है। सभी बौद्धिक संपत्ति अधिकार प्रदाताओं एवं/या इस वेबसाइट में मौजूद डेटा प्रदान करने वाले एक्सचेंज द्वारा आरक्षित हैं।
फ्यूज़न मीडिया को विज्ञापनों या विज्ञापनदाताओं के साथ हुई आपकी बातचीत के आधार पर वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों के लिए मुआवज़ा दिया जा सकता है। इस समझौते का अंग्रेजी संस्करण मुख्य संस्करण है, जो अंग्रेजी संस्करण शेयर बाजार संकेतक क्या है? और हिंदी संस्करण के बीच विसंगति होने पर प्रभावी होता है।

बाजार संकेतक

मंडी संकेतक बाजार की चाल का पूर्वानुमान लगाने के लिए वित्तीय या स्टॉक इंडेक्स डेटा की व्याख्या करना चाहते हैं। वे प्रकृति में मात्रात्मक हैं और तकनीकी संकेतकों का एक हिस्सा हैं जो आमतौर पर सूत्रों और अनुपातों से बने होते हैं। ये संकेतक निवेशकों के लिए उनके व्यापार और निवेश निर्णयों में सहायक होते हैं।

Market Indicators

दूसरे शब्दों में, मौजूदा बाजार संकेतक तकनीकी संकेतकों के समान हैं। वे दोनों निष्कर्ष निकालने के लिए डेटा बिंदुओं की एक श्रृंखला के लिए आँकड़ों को लागू करते हैं। बाजार संकेतक कई प्रतिभूतियों के डेटा बिंदुओं का उपयोग करते हैं, न कि केवल एकल सुरक्षा से। ये बाजार संकेतक अक्सर एक सूचकांक मूल्य चार्ट के ऊपर या नीचे प्रदर्शित होने के बजाय एक अलग चार्ट में रखे जाते हैं।

शेयर बाजार संकेतक के प्रकार

बाजार संकेतक दो सामान्य प्रकार के होते हैं, जैसे:

1. बाजार की चौड़ाई

इसके तहत बाजार संकेतक प्रवृत्ति के समान दिशा में चलने वाले शेयरों की संख्या की तुलना करते हैं।

2. बाजार की भावना

बाजार की भावना एक संकेतक है जो यह निर्धारित करने के लिए कीमत और मात्रा की तुलना करती है कि क्या निवेशक बाजार में तेजी या मंदी के रूप में दिखाई देते हैं।

प्रसिद्ध बाजार संकेतक

आज दुनिया भर के सूचकांकों को कवर करने वाले विभिन्न बाजार संकेतक हैं। कुछ प्रसिद्ध बाजार संकेतक NYSE, AMEX, NASDAQ, TSX, TSX-V, आदि हैं।

बाजार संकेतक उदाहरण

सबसे लोकप्रिय बाजार संकेतक नीचे उल्लिखित हैं:

1. नई ऊंचाई-नई चढ़ाव

बाजार में किसी भी बिंदु पर नई ऊंचाई-नई चढ़ाव हो सकती है। ध्यान दें कि जब कई नई ऊंचाइयां होती हैं, तो यह संकेत दे सकता है कि बाजार में झाग आ रहा है। नए चढ़ाव यह संकेत दे सकते हैं कि बाजार में गिरावट आ रही है।

2. अग्रिम-अस्वीकार

एडवांस एंड डिक्लाइन का मतलब बाजार में उतार-चढ़ाव से है। बाजार में किसी भी समय गिरती हुई प्रतिभूतियों की ओर बढ़ना हो सकता है। इंडेक्स को बाजार पूंजीकरण द्वारा भारित किया जाता है जो एक इंडेक्स में बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन को देखने के बजाय निकासी की भावना को समझने में सहायक होता है।

3. मूविंग एवरेज

यह बाजार में औसत को संदर्भित करता है। बाजार संकेतक प्रमुख मूविंग एवरेज सेक्टर 50 और 200 के ऊपर या नीचे शेयरों का प्रतिशत देखते हैं।

You Might Also Like

Get it on Google Play

AMFI Registration No. 112358 | CIN: U74999MH2016PTC282153

Mutual fund investments are subject to market risks. Please read the scheme information and other related documents carefully before investing. Past performance is not indicative of future returns. Please consider your specific investment requirements before choosing a fund, or designing a portfolio that suits your needs.

Shepard Technologies Pvt. Ltd. (with ARN code 112358) makes no warranties or representations, express or implied, on products offered through the platform. It accepts no liability for any damages or losses, however caused, in connection with the use of, or on the reliance of its product or related services. Terms and conditions of the website are applicable.

भारतीय शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे आम बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

टिम Grittani के सरल चार्ट सेटअप और शेयर बाजार संकेतक (दिसंबर 2022)

भारतीय शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे आम बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

विषयसूची:

भारतीय शेयर बाजार में दो प्रमुख एक्सचेंज हैं। पिछले कुछ दशकों में दक्षिण एशियाई देश के लिए अतिरिक्त बाजार संकेतकों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है, लेकिन भारतीय बाजार में लगभग सभी व्यापार बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में होता है। नतीजतन, बीएसई या एनएसई के सूचकांक के आसपास भारतीय अर्थव्यवस्था केंद्र के लिए सबसे अधिक बाजार विस्तार संकेतक।

व्यक्तिगत तकनीकी चौड़ाई संकेतक की प्रकृति देशों के बीच अनुक्रमित से व्यापक रूप से भिन्न नहीं होती है। उदाहरण के लिए, अग्रिम-गिरावट (ए / डी) लाइन और व्यापार सूचकांक सूचक को आसानी से न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (एनवाईएसई), लंदन स्टॉक एक्सचेंज (एलएसई) या भारत में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में लागू किया जा सकता है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज मुंबई में स्थित है, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज 5000 प्रमुख कंपनियों - दुनिया में सबसे बड़ा ऐसा एक्सचेंज सूचीबद्ध करता है। बीएसई की विनम्र शुरुआत 1855 में मुंबई के टाउन हॉल के सामने पांच ब्रोकरों के इकट्ठा करने का पता लगाती है, जो अंततः 1875 में शेयर ब्रोकर्स एसोसिएशन के रूप में आयोजित करती है। सेंसेक्स और बीएसई राष्ट्रीय सूचकांक के रूप में जाने जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण भारतीय बाजार अनुक्रमित दोनों भारी भारित हैं बीएसई पर सूचीबद्ध शेयरों की ओर बीएसई सूचकांक समिति द्वारा सभी बीएसई-आधारित इंडेक्स की समीक्षा की जाती है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज

मुंबई में भी स्थित है, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड का गठन 1992 में हुआ था, बीएसई के एक सदी के बाद। एनएसई को व्यापक रूप से सुलभ इलेक्ट्रॉनिक एक्सचेंज बनाया गया था जो भारतीय शेयर बाजार की पारदर्शिता में सुधार करेगा। इसका सबसे महत्वपूर्ण बेंचमार्क इंडेक्स, सीएनएक्स निफ्टी, 22 अलग-अलग क्षेत्रों के शेयर बाजार संकेतक क्या है? जरिए भारतीय इक्विटी बाजार का अनुसरण करता है। इसे अक्सर डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज (डीजेआईए) या संयुक्त राज्य अमेरिका के एसएंडपी 500 के बराबर भारतीय अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य के लिए त्वरित संदर्भ के रूप में प्रयोग किया जाता है।

यूरोपीय शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे सामान्य बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

यूरोपीय शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे सामान्य बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

देखें कि यूरोपीय शेयर शेयर बाजार संकेतक क्या है? बाजार को मापने के लिए व्यापारियों और विश्लेषकों द्वारा कौन से बाज़ार संकेतक और प्रमुख बाजार अनुक्रमित उपयोग सबसे अधिक बार किया जाता है।

यू एस एस शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे आम बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

यू एस एस शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे आम बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

कुछ प्रमुख संकेतक समझते हैं कि विश्लेषकों ने यू.एस. स्टॉक मार्केट का पालन करने और यू.एस. अर्थव्यवस्था शेयर बाजार संकेतक क्या है? की समग्र स्थिति का आकलन करने के लिए उपयोग किया है।

जापानी शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे सामान्य बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

जापानी शेयर बाजार और अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए सबसे सामान्य बाजार संकेतक क्या हैं? | इन्वेस्टमोपेडिया

जापानी शेयर बाजार और जापानी अर्थव्यवस्था का पालन करने के लिए बाजार विश्लेषकों द्वारा उपयोग किए जाने वाले सबसे सामान्य बाजार और आर्थिक संकेतक सीखें

शेयर बाजार (Share Bazaar)

शेयर बाजार क्या है?
शेयर बाजार यानी इक्विटी मार्केट एक ऐसा प्लैटफॉर्म है, जो कंपनियों और निवेशकों को एक-दूसरे से जोड़ता है। कंपनियां पूंजी जुटाने के लिए शेयर बाजार में लिस्ट होती हैं। शेयर बाजार में लिस्टिंग के बाद निवेशक कंपनियों के शेयरों खरीदते -बेचते हैं।
बीएसई और एनएसई
भारत में दो बड़े शेयर बाजार हैं, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी एनएसई। बीएसई एशिया का सबसे पुराना शेयर बाजार है। इसकी स्थापना 1895 में की गई थी। एनएसई भारत का सबसे बड़ा और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा शेयर बाजार है।
सेंसेक्स और निफ्टी
सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई का संवेदी सूचकांक है। सेंसेक्स में बीएसई की टॉप 30 कंपनियां शामिल की जाती हैं इसलिए इसे बीएसई 30 (BSE 30) भी कहते हैं। बाजार पूंजीकरण के हिसाब से सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियां बदलती रहती हैं।

निफ्टी नैशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी एनएसई का संवेदी सूचकांक है। निफ्टी दो शब्दों को मिला कर बना है NATIONAL और FIFTY। इससे साफ पता चलता है कि निफ्टी एनएसई की टॉप 50 कंपिनयां शामिल होती हैं।
ट्रेडिंग की शुरुआता
शेयर बाजार में ट्रेडिंग यानी शेयरों की खरीद-बिक्री के लिए बैंक, डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट जरूरत होती है। शेयर डीमैट अकाउंट में जमा होते हैं शेयर बाजार संकेतक क्या है? और ट्रेडिंग अकाउंट के जरिये शेयरों की खरीद-बिक्री की जाती है।

इस सप्ताह कैसी रहेगी शेयर मार्केट की चाल, ये फैक्टर तय करेंगे रफ्तार

Stock Market: विश्लेषकों के अनुसार, अगले सप्ताह अक्टूबर की उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई और थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित महंगाई के आंकड़े जारी होने वाले हैं।

इस सप्ताह कैसी रहेगी शेयर मार्केट की चाल, ये फैक्टर तय करेंगे रफ्तार

अमेरिकी फेड रिजर्व के ब्याज दर में बढ़ोतरी के आक्रामक रुख में नरमी आने की उम्मीद में बीते सप्ताह 1.4 प्रतिशत की छलांग लगा चुके घरेलू शेयर बाजार की अगले सप्ताह दिशा निर्धारित करने में खुदरा एवं थोक महंगाई के आंकड़े, कपंनियों के तिमाही नतीजे और विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) के रुख की अहम भूमिका होगी।

बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 844.68 अंक की उड़ान भरकर सप्ताहांत पर 61 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 61795.04 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 220.25 अंक की छलांग लगाकर 18349.70 अंक पर रहा। वहीं, समीक्षाधीन सप्ताह बीएसई की दग्गिज कंपनियों के विपरीत मझौली और छोटी कंपनियों में गिरावट दर्ज की गई। इससे मिडकैप 181.87 अंक टूटकर सप्ताहांत पर 25465.20 अंक और स्मॉलकैप 122.18 अंक कमजोर पड़कर 28985.06 अंक पर आ गया।

स्मॉल कैप कंपनी ने किया डिविडेंड का ऐलान, रिकॉर्ड डेट घोषित

विश्लेषकों के अनुसार, अगले सप्ताह अक्टूबर की उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई और थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित महंगाई के आंकड़े जारी होने वाले हैं। इसके साथ ही आखिरी बैच में कंपनियों के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के नतीजे भी आएंगे। अगले सप्ताह इनका असर बाजार पर देखने को मिलेगा। इसी तरह रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास के उस बयान पर भी अगले सप्ताह बाजार की प्रतिक्रिया आएगी, जिसमें उन्होंने कहा है कि अक्टूबर में खुदरा महंगाई की दर सात प्रतिशत से कम होगी। साथ ही विदेशी संस्थागत निवेशकों की लगातार जारी मजबूत निवेश धारणा की भी बाजार को दिशा देने में महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

विदेशी संस्थागत निवेश्कों (एफआईआई) ने नवंबर में अबतक कुल 84,048.44 करोड़ रुपये की लिवाली जबकि कुल 71,558.70 करोड़ रुपये की बिकवाली की है, जिससे उनका शुद्ध निवेश 12,489.74 करोड़ रुपये रहा है। वहीं, इस अवधि में घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) की निवेश धारणा कमजोर रही है। उन्होंने बाजार में कुल 50,810.78 करोड़ रुपये का निवेश किया जबकि 56,455.65 करोड़ रुपये निकाल लिए, जिससे वह 5,644.87 करोड़ रुपये के शेयर बाजार संकेतक क्या है? बिकवाल रहे।

2022 में स्टॉक की कीमतों में 163% की उछाल, अब निवेशकों को 2 बोनस शेयर देगी कंपनी

रेटिंग: 4.77
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 353