नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने हमें यह बात तो अच्छे से सिखा दी है कि मुश्किल वक्त के लिए हमारे पास बचत होनी चाहिए. परेशानियां और बुरा वक्त कभी भी आ सकता है, इसीलिए इन सभी से बचने के लिए जरुरी है बेस्ट फायनेंशियल प्लानिंग. यदि आपके पास किसी भी स्त्रोत से पैसा आने लगा है तो उसका उपयोग सही तरीके से करना.

सऊदी अरब से समुद्र के रास्ते भारत को मिलेगी एनर्जी, डीप सी केबल के जरिए एनर्जी डिप्लोमेसी की शुरुआत
पैसे आने के बाद ज्यादातर लोग म्यूच्यूअल फंड्स और स्टॉक मार्केट में निवेश करने के बारे में सोचने लगते हैं. ऐसी योजनाओं में पैसा लगाने के लिए तत्पर रहते हैं, जिनसे ज्यादा रिटर्न मिल सके. जो सही भी है, लेकिन आपके निवेश का चयन सही क्रमांक में होना चाहिए. आज हम आपको बता रहे हैं कि फायनेंशियल प्लानिंग कैसे करें और सबसे पहला निवेश कहाँ किया जाना चाहिए.

मैं म्यूचुअल फंड्स में सीधे निवेश कैसे कर सकता हूँ?

अगर आपका KYC पूरा हो चुका है तो आप म्यूचुअल फंड में सीधे ऑफलाइन या ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं। अगर आप ऑनलाइन ट्रांज़ैक्शन करने में असहज महसूस करते हैं, तो आप नज़दीकी शाखा में जाकर फंड में निवेश कर सकते हैं।

ऑनलाइन म्यूचुअल फंड की स्कीमों में सीधे निवेश करने का सबसे आसान तरीका है और आपको कमीशन भी नहीं देना पड़ता। आप फंड की वेबसाइट या उसके RTA आपको पैसा कहां निवेश करना चाहिए? की साइट या फिर फिनटेक प्लेटफॉर्म से ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं। फंड की वेबसाइट पर सीधे निवेश करने पर आपको कई लॉगिन मैनेज करने पड़ते हैं।

डायरेक्ट प्लान में निवेश करने का मतलब है कि आप फिनांशियल प्लान बनाने, अपने गोल के लिए सबसे सही फंड्स को चुनने, अपने पोर्टफोलियो को नियमित तौर पर मैनेज करने और ज़रूरत पड़ने पर उसमें फेरबदल करने की ज़िम्मेदारी लेते हैं। हर किसी को म्यूचुअल फंड में सही फंड चुनना और पोर्टफोलियो को मैनेज करना नहीं आता है। इसलिए डायरेक्ट प्लान उन निवेशकों के लिए है जो इसे आसानी से कर सकते हैं। अन्यथा, म्युचुअल फंड के बारे में कम जानकार लोगों को डिस्ट्रीब्यूटर द्वारा निवेश करने की सलाह दी जाती है।

Plan: कैसे करें फाइनेंशियल प्लानिंग की शुरुआत, जानिये कहां करना चाहिए पहला निवेश

आज हम आपको बता रहे हैं कि फायनेंशियल प्लानिंग कैसे करें और सबसे पहला निवेश कहाँ किया जाना चाहिए.

financial planning

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने हमें यह बात तो अच्छे से सिखा दी है कि मुश्किल वक्त के लिए हमारे पास बचत होनी चाहिए. परेशानियां और बुरा वक्त कभी भी आ सकता है, इसीलिए इन सभी से बचने के लिए जरुरी है बेस्ट फायनेंशियल प्लानिंग. यदि आपके पास किसी भी स्त्रोत से पैसा आने लगा है तो उसका उपयोग सही तरीके से करना.

सऊदी अरब से समुद्र के रास्ते भारत को मिलेगी एनर्जी, डीप सी केबल के जरिए एनर्जी डिप्लोमेसी की शुरुआत
पैसे आने के बाद ज्यादातर लोग म्यूच्यूअल फंड्स और स्टॉक मार्केट में निवेश करने के बारे में सोचने लगते हैं. ऐसी योजनाओं में पैसा लगाने के लिए तत्पर रहते हैं, जिनसे ज्यादा रिटर्न मिल सके. जो सही भी है, लेकिन आपके निवेश का चयन सही क्रमांक में होना चाहिए. आज हम आपको बता रहे हैं कि फायनेंशियल प्लानिंग कैसे आपको पैसा कहां निवेश करना चाहिए? करें और सबसे पहला निवेश कहाँ किया जाना चाहिए.

सबसे पहले खरीदें इंश्योरेंस
वित्त सलाहकार हमेशा से ही कहते आये हैं कि किसी भी व्यक्ति का पहला निवेश इंश्योरेंस में ही होना चाहिए. आप लाइफ इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस, टर्म प्लान जैसे विकल्पों को चुन सकते हैं. इनकी शुरुआत जितनी जल्दी कर दी जाए उतना अच्छा है. क्योंकि इससे कम प्रीमियम में अच्छा कवरेज मिल सके.

पीपीएफ
इंश्योरेंस के बाद आपको अपनी कमाई के एक हिस्से को पीपीएफ यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश करना चाहिए. यह सरकारी योजना है, जिसमें निवेश करने से आपको कर में भी छूट मिलेगी. इसमें पैसा सुरक्षित रहता है. और तय समय बाद तय राशि मिलती है.

म्यूच्यूअल फंड
आप म्यूच्यूअल फंड में निवेश सिस्टैमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के जरिये कर सकते हैं. इसमें आप अपने आय बढ़ने के साथ ही निवेश भी बढ़ा सकते हैं. इसे भी जितना जल्दी शुरू किया जाए उतना अच्छा है क्योंकि इसमें एक समय बाद आपके पास काफी फंड जमा हो जाएगा.

इमरजेंसी फंड
कभी भी फाइनेंशियल प्लानिंग करते समय एक हिस्सा इमरजेंसी के लिए जरुर रखें. जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव से रक्षा से लिए यह फंड होना बहुत जरुरी है. इसका फायदा उस वक्त होगा जब आपको अचानक धन की आवश्यकता होगी और जिसके लिए आपको अपनी बचत को कम नहीं करना पड़ेगा.

आरडी यानी आवर्ती जमा
यह आपको कम समय के निवेश में सहायता करता है. इसमें हर महीने एक निश्चित राशि जमा की जाती है. जिसमें कम लेकिन फिक्स अमाउंट आपको मिलता है. जिससे आप सालाना इंश्योरेंस क़िस्त जैसे खर्चों को कम कर सकते हैं.

कम पैसे में करना चाहते ज्यादा कमाई, ये हैं आपके पास निवेश के बेस्ट ऑप्शन

नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। क्या आप निवेश की योजना बना रहे हैं लेकिन तय नहीं कर पा रहे हैं कि पैसा कहां लगाएं, तो चिंता न करें आप अकेले नहीं हैं जो इस दुविधा से गुजर रहे हैं। आम धारणा है कि लोग पैसा न होने की वजह से निवेश नहीं कर पाते। हालांकि निवेश न कर पाने की मुख्य वजह पैसा नहीं होती, वास्तविकता में लोग ये चुनाव ही नहीं कर पाते कि उन्हें अपना पैसा कहां लगाना है और इसी सवाल का जवाब तलाशते हुए वो गैर-जरूरी कामों में पैसा खर्च कर देते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि निवेश कितनी तरह के होते हैं जिससे आप वक्त पड़ने पर निवेश का सही फैसला ले सकें।

Stock Market Investment: what is stop loss order

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

नए जमाने के निवेश

नए जमाने आपको पैसा कहां निवेश करना चाहिए? में स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग, कमोडिटी ट्रेडिंग की खूब बातें होती है। स्टॉक ट्रेडिंग और कमोडिटी ट्रेडिंग के लिए आपको डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट की ज़रूरत पड़ेगी. डीमैट अकाउंट वो खाता है जिसमें शेयर डीमैटीरियलाइज़ फॉर्म (डिजिटिल फॉर्म) में होते हैं। दूसरा है ट्रेडिंग अकाउंट, जिसमें आप इंट्राडे कारोबार कर सकते हैं।

कमोडिटी मार्केट ( सोना, चांदी आदि)

स्टॉक मार्केट में दो तरह की ट्रेडिंग होती है. इंट्राडे ट्रेडिंग में आपको एक ही दिन में शेयर ख़रीदकर बेचने होते हैं. यानी बाज़ार खुला, आपने शेयर खरीदे और बाज़ार बंद होने से पहले बेच दिए. जो मिला वो आपकी जेब में गया.अगर आप मुनाफ़े की हाफ़ और फुल सैंचुरी लगाना चाहते है, तो 6 महीने से ज़्यादा लंबा खेलना होगा. इसे ही लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट कहते है. यानी डीमैट अकाउंट में शेयर 6 महीने से ज़्यादा रखे होने चाहिए.

अब आते हैं कमोडिटी मार्केट ट्रेडिंग पर.इसे यूँ समझें कि ट्रेडिंग हर चीज़ की हो सकती है. मिसाल के लिए अगर ये सामान आलू, प्याज, गेहूँ, चना है तो इसे कहेंगे एग्रीकमोडिटी ट्रेडिंग. ये भी बिल्कुल शेयर मार्केट की तरह होती है. इसमें भी डीमैट अकाउंट चाहिए. यानी न तो आपको अपने हाथ से कुछ बेचना है और न खरीदना.कुछ ऐसा ही होता है मेटल ट्रेडिंग में यानी सोने और चांदी की ट्रेडिंग में। मोबाइल उठाया और सौदा कर लिया. फ़ायदा दिखा, सौदा बेच दिया। अकाउंट में पैसे आ गए।

शेयर बाजार में रिस्क के अपने अपने स्तर होते हैं जो कई अलग अलग बातों पर निर्भर करते हैं। इस तरह के निवेश विकल्पों का सबसे बड़ा फायदा इनमें ऊंचे रिटर्न की संभावना और सबसे बड़ा नुकसान इससे जुड़े जोखिम होते हैं। कोरोना संकट में गिरावट के बाद शेयर बाजार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा था। इस दौरान मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों ने निवेशकों को बंपर रिटर्न दिए हैं।

जिन्हें शेयर बाजार से डर लगता है लेकिन कम समय में ज्यादा कमाई करना चाहते है। उनके लिए म्युचूअल फंड एक अच्छा ऑप्शन है। शेयर बाजार के बड़े एक्सपर्ट्स इस काम को आम आदमी के लिए करते है. अगर आसान शब्दों में समझें तो म्युचूअल फंड हाउस एक फंड मैनेजर को नियुक्त करता है। वो निवेशक के पैसों को शेयरों में लगाकर निवेशकों को एफडी के मुकाबले कई गुना तक रिटर्न दिलाते है।

इन दिनों एसआईपी की बातें बहुत होती है. SIP (सिप) क्या है- सिप (SIP) या सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान आपको हर महीने एक निश्चित रकम को आपकी पसंदीदा Mutual Fund स्कीम में डालने का अवसर देता है. यह आमतौर पर इक्विटी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में शुरू किया जाता है.

महंगाई के बीच ये है बेस्ट ऑप्शन

इस समय सब बढ़ती महंगाई से परेशान हैं. वहीं, एक आम आदमी खर्चों में हर साल 10-12% की दर से बढ़ोतरी होती है। मेडिकल और शिक्षा का खर्च भी हर साल बढ़ रहा है। इक्विटी को इन्वेस्टमेंट प्लानिंग का हिस्सा बनाएं, क्योंकि इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करना बेहतर होता है। इक्विटी में लंबी अवधि के लिए निवेश करें. लंबी अवधि में 12-15% रिटर्न मिल सकता है. बच्चों की पढ़ाई, शादी जैसे लक्ष्यों के लिए इक्विटी बेहतर होते हैं।

निवेश के कुछ ऑप्शन ये भी हैं

निश्चित रिटर्न वाले निवेश में आपको निवेश के वक्त ही पता चल जाता है कि एक खास समयअवधि के बाद निवेश पर कितना रिटर्न मिलेगा। क्योंकि इनका रिटर्न और समयसीमा तय होती है इसलिए इन्हें सबसे कम जोखिम का निवेश भी माना जाता है। निवेश की इस कैटेगरी में जोखिम के स्तर इस बात से तय होते हैं कि निवेश का ये विकल्प किस संस्थान के द्वारा दिया जा रहा है। इस तरह के निवेश की आपको पैसा कहां निवेश करना चाहिए? सबसे बड़ी खासियत ये होती है कि निवेशकों को इसमें अपनी तरफ से खास मेहनत नहीं करनी पड़ती, साथ ही इसमें निवेश की लागत भी न के बराबर होती है। भारत सरकार से लेकर निजी कंपनियां तक ऐसे प्रोडक्ट ऑफर करती हैं। यहां ऐसे ही कुछ निवेश विकल्प दिए गए हैं।

सरकारी योजनाएं, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड, पोस्ट ऑफिस स्कीम, किसान विकास पत्र, बैंक के द्वारा ऑफर निवेश विकल्प-सेविंग बैंक अकाउंट, बैंक फिक्सड डिपॉजिट,रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट,स्पेशल बैंक टर्म डिपॉजिट, अन्य-ये निवेश विकल्प सरकार और निजी कंपनियों दोनो के द्वारा ऑफर किये जा सकते हैं. बॉन्ड,डिबेंचर,कंपनियों की एफडी.

Investment Tips: इस तरह करें इन्वेस्टमेंट, तो आपका पैसा हो जाएगा डबल, ऐसे समझे क्या है फंडा

आज कल लोगों को अपना पैसा सही जगह इन्वेस्टमेंट (Investment) करने पर ज्यादा ध्यान देना पड़ता है, क्योकि डिजिटल फ्रॉड (Digital Fraud) के मामले काफी बढ़ गए है.

By: ABP Live | Updated at : 11 Aug 2022 06:31 PM (IST)

Edited By: Sandeep

Investment Planner in India : आज कल लोगों को अपना पैसा सही जगह इन्वेस्टमेंट (Investment) करने पर ज्यादा ध्यान देना पड़ता है, क्योकि डिजिटल फ्रॉड (Digital Fraud) के मामले काफी बढ़ गए है. वही दूसरी ओर शेयर बाजार (Share Market) में भारी उतार-चढ़ाव का दौर चल रहा है. सभी निवेशकों की हिम्‍मत पैसा लगाने की नहीं होती है.

Investment Double
ऐसे में सुरक्षा की गारंटी के साथ अपने निवेश को दोगुना करने के लिए आपको लंबा इंतजार करना पड़ता है. ऐसे में आपके मन में यह सवाल उठता होगा कि आखिर कौन सा निवेश का विकल्‍प है जो सुरक्षा के साथ जल्‍दी पैसों को डबल बना दे.

NPS Tier-2
अगर सुरक्षित निवेश विकल्‍पों पर नजर डालें तो इसमें Fixed Deposit, PPF, Sukanya Samriddhi Yojana, Kisan Vikas Patra (KVP), National Savings Certificate (NSC) and National Pension Scheme (NPS) Tier-2 जैसे ऑप्‍शन आते हैं. इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में जुलाई में सिर्फ 8,898 करोड़ का निवेश है, जो 9 महीने में सबसे कम है. ऐसे में सुरक्षित विकल्‍प का महत्‍व बढ़ जाता है, आप अपना पैसा कहां लगाएं, इसे एक्‍सपर्ट के नजरिये से देखें.

Mutual Fund
बैंकबाजार डॉट कॉम (bankbazaar.com) के सीईओ आदिल शेट्टी का कहना है कि ज्‍यादातर निवेश विकल्प पैसा डबल कर सकते हैं. पैसा डबल होने में समय कितना लगेगा. कुछ म्‍यूचुअल फंड (Mutual Fund) योजनाएं 4-5 साल में डबल करने की क्षमता रखती हैं. सरकारी निवेश विकल्पों में जोखिम नहीं है पर पैसा जल्दी डबल करना है तो जोखिम लेना होगा और बाजार से जुड़े विकल्पों में निवेश करना होगा.

News Reels

क्या है नियम
आपका पैसा कितने साल में दोगुना होगा. रूल ऑफ 72 Formula यह जानने का आसान तरीका है. इसके तहत आप अपने निवेश पर मिल रहे ब्याज दर से 72 में भाग देते हैं. आपने 4 फीसदी सालाना ब्याज दर पर किसी बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) कराई है तो इसके दोगुना होने में 18 साल लगेंगे. इसके लिए आपको 72 को 4 से भाग देना होगा, जिसका परिणाम 18 होगा. ऐसे निवेश करें, ये है निवेश का तरीका.

Bank and FD
रिजर्व बैंक के रेपो रेट बढ़ाने के बाद अधिकतर बैंक अपनी एफडी की ब्‍याज दरों में बढ़ोतरी कर रहे हैं. इस समय एफडी पर औसतन 6 फीसदी का ब्‍याज मिल रहा. ऐसे में यहां आपका पैसा डबल होने में करीब 12 साल लग जाएंगे.

PPF
पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) भी निवेश का बेहतर तरीका है और इस पर अभी सालाना 7.1 फीसदी दर से ब्याज मिल रहा है. लिहाजा इसमें आपके पैसे दोगुना होने में 10.14 साल लगेंगे.

Sukanya Samriddhi Yojana: अगर आप अपनी बेटी के नाम पर सुकन्‍या खाता खुलवाते हैं तो 9.4 साल में आपका पैसा दोगुना हो जाएगा. अभी सुकन्‍या योजना में सालाना 7.6 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा है.

KVP- यानी किसान विकास पत्र भी निवेश के लिए बेहतर सरकारी योजना है. इस पर अभी सालाना 6.9 फीसदी की दर से गारंटीड ब्‍याज दर मिल रही है. ऐसे में यह विकल्‍प 10.43 साल में आपके पैसे को दोगुना कर देगा.

NPS- नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NPS) भी सरकार की ओर से चलाई जाने वाली लघु बचत योजना है और इस पर अभी सालाना 6.8 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा है. ऐसे में आपके पैसे 10.58 साल में दोगुना हो जाएंगे.

NPS Tier-2 : नेशनल पेंशन स्‍कीम का यह खाता हर किसी के नाम खोला जा सकता है. इसे निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में काम करने वाले या प्रोफेशनल भी खोल सकते हैं. पिछले कुछ साल का रिकॉर्ड देखें तो 50 फीसदी से ज्‍यादा निवेश इक्विटी में करने वाले फंडों ने इस खाते को 10 से 12 फीसदी का रिटर्न दिया है. अगर हम 10 फीसदी सालाना का भी रिटर्न देखें तो आपके पैसे 7.2 साल में दोगुना हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें-

Published at : 11 Aug 2022 06:31 PM (IST) Tags: Share Market Investment Mutual fund fixed deposit Investment Planner in India bankbazaar हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Investment Tips: कहां निवेश करने पर पैसे हो जाएंगे डबल, जानिए निवेश का फॉर्म्यूला

Investment Tips: आप शेयर मार्केट, म्यूचुअल फंड या किसी सरकारी योजना में निवेश करें। जिससे पैसे फटाफट डबल हो जाएं। देखिए कुछ खास स्कीम

Investment Tips: आमतौर कोई भी निवेशक वहीं पैसे लगाते हैं, जहां उन्हें जोखिम कम और शानदार रिटर्न मिले। शेयर बाजार में जोखिम सबसे ज्यादा होता है। यहां कब पैसे पैसे दोगुना, तीन गुना चार गुना हो जाएं। कुछ पता नहीं है। शेयर बाजार में कब आपको झटका लग जाए। इसका भी कोई अनुमान नहीं है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर कहां निवेश करें। जिससे पैसे भी डबल हो जाएं और जोखिम भी काफी कम रहे।

अगर आप सुरक्षित निवेश की तलाश में है तो फिक्स्ड डिपॉजिट, पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना, किसान विकास पत्र (केवीपी), नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (एनएससी) और नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) जैसी तमाम योजनाओं में पैसे जमा कर सकते हैं। यहां बेहतर ब्याज दर मिलती है।

निवेश के लिए अपनाएं यह फॉर्म्यूला

संबंधित खबरें

Business Idea: ड्रैगन की खेती से सालाना होगी 20 लाख की कमाई, कई लोगों की बदल गई किस्मत

Kotak Bank: कोटक महिंद्रा बैंक ने FD पर बढ़ाया ब्याज, चेक करें लेटेस्ट रेट

Airtel Recharge: एयरटेल के 3 तगड़े प्लान, अनलिमिटेड कॉल, फ्री SMS, Prime Video और Disney+ Hotstar की सर्विस सब फ्री

अगर आप जानना चाहते हैं कि आपके पैसे को डबल होने में कितना समय लगेगा तो आप रूल ऑफ 72 फॉर्म्यूला अपना सकते हैं। अब सवाल यह उठता है कि आखिर यह कौन सा फॉर्म्यूला है? हम आपको इस फॉर्म्यूला के बारे में भी विस्तार से बताएंगे। इसे जानते ही आप समझ जाएंगे कि आपके पैसे को डबल होने में कितना समय लगेगा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस फॉर्म्यूले के तहत आपको मिल रहे ब्याज को 72 से भाग देना होगा। मान लीजिए, आपने 4 फीसदी सालाना ब्याज दर है। ऐसे में आपको 72 में 4 का भाग देना होगा। इसका रिजल्ट 18 आएगा। इसका मतलब ये हुआ कि आपके पैसे को डबल होने में 18 महीने लगेंगे।

यहां कर सकते हैं निवेश

सुकन्या समृद्धि योजना: यह सरकारी स्कीम है। इसे खासतौर से बेटियों के लिए शुरू किया गया है। अगर आप अपनी बेटी के नाम पर सुकन्‍या खाता खुलवाते हैं तो 9.4 साल में आपका पैसा दोगुना हो जाएगा। मौजूदा समय में सुकन्‍या योजना में सालाना 7.6 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा है।

बैंक FD: रिजर्व बैंक के रेपो रेट बढ़ाने के बाद ज्यादातर बैंक अपनी एफडी की ब्‍याज दरों में भी बढ़ोतरी कर रहे हैं। इस समय एफडी पर औसतन 6 फीसदी का ब्‍याज मिल रहा। ऐसे में यहां आपका पैसा डबल होने में करीब 12 साल लग जाएंगे।

PPF: पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF भी निवेश के लिए बेहतर विकल्प है। इस पर अभी सालाना 7.1 फीसदी दर से ब्याज मिल रहा है। लिहाजा इसमें आपके पैसे दोगुना होने में 10.14 साल लगेंगे।

किसान विकास पत्र: किसान विकास पत्र योजना भी निवेश के लिहाज से बेहतर है। अभी इस योजना में सालाना 6.9 फीसदी की दर से गारंटीड ब्‍याज दर मिल रही है। ऐसे में 10.43 साल में आपके पैसे डबल हो जाएंगे।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Aug 24, 2022 10:52 AM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips, न्यूज, पर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App डाउनलोड करें।

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 332