बास्केट भर चाहिए मुनाफा तो ऑप्शन्स हैं शानदार विकल्प, ऐसे करते हैं Options Trading

जब कोई व्यक्ति ऑप्शन ट्रेड करता है तो उसके लिए ऑर्डर देना पड़ता है। इसके बाद अगर उसे दूसरा ऑप्शन ट्रेड करना हो तो वो एक बार फिर ऑर्डर देने की प्रक्रिया अपनाता है। यानी जितने ज्यादा ट्रेड होते हैं आपका वक्त उतना ही लगता है।

नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। बढ़ते खर्चों के साथ नौकरीपेशा लोगों के लिए सैलरी के साथ अतिरिक्त कमाई की जरूरत बढ़ती जा रही है और महामारी के साथ शेयर बाजार में निवेश अतिरिक्त आय का बेहतर विकल्प बन गया है। हालांकि ऑफिस के काम के साथ बाजार में trading बिल्कुल भी आसान नहीं होता और स्थिति तब बिगड़ जाती है जब आप कई सौदों में उलझे हुए हों। कई बार ऐसी स्थिति में लोगों को तगड़े नुकसान भी हो जाते हैं क्योंकि ऑफिस पर फोकस करने से आप समय पर सौदे नहीं कर पाते। हालांकि नई तकनीक के साथ साथ अब आप दूसरे काम में बिजी रहते हुए कई कई सौदे निपटा सकते हैं। ये फीचर बास्केट ट्रेडिंग कहलाता है और ब्रोकर्स इसमें लगातार इनोवेशन करते हुए इसे और भी आकर्षक बनाते जा रहे हैं। 5paisa इसी खासियत के साथ ऐसे और फीचर्स देते हैं जिसमें ऑर्डर की संख्या और वक्त दोनों पर ही आपका नियंत्रण रहता है और मुनाफे की उम्मीदें कई गुना बढ़ जाती हैं। आपको बता दें कि 5paisa option trading से जुड़ी जरूरी जानकारी शेयर कर रहा है।

Stock Market Investment: what is Face Value, Know all details

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

क्या होती है बास्केट ट्रेडिंग?

आम तौर पर जब कोई शख्स option trade करता है तो उसके लिए ऑर्डर देना पड़ता है। इसके बाद अगर उसे दूसरा ऑप्शन ट्रेड करना हो तो वो एक बार फिर ऑर्डर देने की प्रक्रिया अपनाता है। यानी जितने ज्यादा ट्रेड होते हैं आपका उतना ही ज्यादा वक्त लगता है। अगर आप किसी काम में व्यस्त हैं तो आपके हाथ से मौका निकलने की आशंका उतनी बढ़ जाती है। बास्केट ट्रेडिंग इस टेंशन को खत्म करता है क्योंकि इसमें आपको एक साथ कई option trade करने की सुविधा मिलती है। बास्केट ट्रे़डिंग का सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये आपके समय को बचाता है, और तेजी से फैसले लेने में मदद करता है। समय पर तेजी के साथ फैसले लेने से आप ऑप्शन सौदों का सबसे ज्यादा फायदा उठाने में सफल होते हैं।

Keep these things in mind for long term investment

#AiseKarteHainOptionsTrading की अधिक जानकारी के लिए देखें ये वीडियो-

5paisa कराएगा मुनाफे की ट्रे़डिंग

Basket Order की ये खूबियां आप 5paisa के एप के जरिए भी पा सकते हैं और अपने सभी विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं ऑप्शन के ऑर्डर बाजार के खुलने से पहले भी चुन सकते हैं। इसकी मदद से आप बाजार में कारोबार के दौरान भी अपने दूसरी जरूरी काम निपटा सकते हैं। जिस समय आप जरूरी मीटिंग में व्यस्त होंगे आपकी तरफ से आपके लिए 5paisa एक साथ कई सौदे विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं निपटा रहा होगा। यानी 5paisa के इस फीचर की मदद से आप अपनी कमाई कई गुना तक बढ़ा सकते हैं।

विकल्प (Options) ऑप्शन ट्रेडिंग विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं - Options Trading

आपके द्वारा ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू करने से पहले आप क्या पूर्ण करने की आशा रखते हैं, उसकी समझ होना बेहद जरूरी है. केवल तभी आप ऑप्शन ट्रेडिंग रणनीति पर ध्यान केंद्रित कर पाएंगे. आइये पहले ऑप्शन की अवधारणा को समझते हैं.

ऑप्शन की अवधारणा को इस उदाहरण से समझा जा सकता है. उदाहरण के लिए, जब आप कुछ संपत्ति खरीदने की योजना बनाते हैं, तो आपने अन्य ऑप्शन का मूल्यांकन करने के दौरान उसे कुछ समय के लिए होल्ड करने के लिए नॉन-रिफंडेबल डिपॉजिट रखा हो सकता है.

यह ऑप्शन के प्रकार का उदाहरण है. उसी प्रकार, शायद आपने सुना हो कि बॉलीवुड किसी उपन्यास पर कोई ऑप्शन खरीद रहा है. किसी उपन्यास को ऑप्शन करने में निर्देशक पैसा रखा निर्दिष्ट दिनांक से पहले उपन्यास पर फिल्म बनाने के अधिकार खरीदता है. मकान और स्क्रिप्ट वाले दोनों मामलों में, किसी ने निश्चित दिनांक से पहले निश्चित मूल्य पर कोई उत्पाद खरीदने के अधिकार के लिए कुछ हैं. स्टॉक ऑप्शन खरीदना भी कुछ ऐसा ही है. ऑप्शन वे अनुबंध हैं जो निश्चित समय के भीतर धारक को निश्चित मूल्य पर निश्चित स्टॉक की तय मात्रा बेचने या खरीदने का अधिकार देते हैं. कोई पुट ऑप्शन धारक को प्रतिभूति बेचने का अधिकार देता है, कोई कॉल ऑप्शन प्रतिभूति खरीदने का अधिकार देता है. हलांकि इस प्रकार के अनुबंध धारक को अधिकार देते हैं, बल्कि निश्चित दिनांक से पहले निश्चित मूल्य पर स्टॉक व्यापार करने की कोई बाध्यता नहीं देते हैं. कई व्यक्तिगत निवेशक को ऑप्शन उपयोगी साधन लगता हैक्योंकि वे इसे निम्न तरह से उपयोग कर सकते हैं:

ए) लेवरेज के प्रकार के रूप में या

बी) बीमा के प्रकार के रूप में.

ऑप्शन में ट्रेड करना आपको शेयर का पूरा मूल्य दिए बिना शेयर के मूल्य से लाभ उठाने देता है. वे आपको पूर्ण रूप से शेयर खरीदने के लिए आवश्यक पैसों की तुलना में बेहद कम पैसों से स्टॉक के शेयर पर सीमित नियंत्रण प्रदान करते हैं. बीमा के रूप में उपयोग किए जाने पर ऑप्शन आपको सीमित समय के लिए खरीदने या बेचने का अधिकार प्रदान करके किसी निश्चित प्रतिभूति के मूल्यों में उतार चढ़ाव से आपकी सुरक्षा करते हैं. ऑप्शन स्वाभविक रूप से जोखिमभरा निवेश साधन है केवल अनुभवी एवं ज्ञानी निवेशकों के लिए उचित है जो कि बाजार स्थिति को करीब से देखने के लिए तैयार है और अनुमान लगाकर संभावित नुकसान उठाने के लिए वित्तीय रूप से तैयार हैं.

अलग-अलग प्रकार ऑप्शन क्या है? ऑप्शन को लाभ कमाने / हानि घटाने के लिए रणनीतिक उपाय के रूप में कैसे उपयोग किया जा सकता है?

अः ऑप्शन को निम्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, ऑप्शन के दो प्रकार हैं, कॉल और पुट. कॉल ऑप्शन धारक को समापन अवधि से पहले किसी भी समय स्ट्राइक मूल्य पर अंतनिर्हित स्टॉक खरीदने का अधिकार देता है. समान्य तौर पर, अंतनिर्हित साधनों का मूल्य बढ़ने पर कॉल ऑप्शन का मूल्य भी बढ़ता है..

इसके विपरीत पुट ऑप्शन समापन दिनांक को या उसके विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं पहले स्ट्राइक मूल्य पर धारक को अंतर्निहित शेयर बेचने का अधिकार प्रदान करते हैं. अंतर्निहित साधनों का मूल्य कम होने पर पुट ऑप्शन का मूल्य बढ़ता है.

पुट ऑप्शन वह है जिसमें कोई व्यक्ति बाद में होने वाली मूल्य गिरावट के लिए कोई स्टॉक सुनिश्चित कर सकता है. यदि आपके स्टॉक का मूल्य कम होता है, तो आप अपना पुट ऑप्शन लेकर इसे पूर्व में निर्धारित मूल्य स्तर पर बेच सकते हैं.यदि स्टॉक मूल्य ऊपर जाता है, तो आपको बस केवल चुकायी गई प्रीमियम राशि की हानि होती है. ध्यान रखें कि समाचार पत्रों और ऑनलाइन उदाहरणों में आप कॉल को सी के रूप में और पुट को पी के रूप में संक्षिप्त किया

नीचे दिए उदाहरणों में पुट ऑप्शन का स्पष्ट रूप से वर्णन किया गया है: केस 1: राजेश ने मई इंफ़ोसिस टेक्नोलॉजिस मई 3000 पुट का 1 लोट खरीदता है और 250 का प्रीमियम देता है,

यह अनुबंध राजेश को वर्तमान दिनांक से मई के अंत तक 3000 रुपए के 100 शेयर खरीदने देता है. इसका लाभ उठाने के लिए, राजेश को बस 25000 रुपए का प्रीमियम देना है ( 250 रुपए एक शेयर के लिए कुल 100 शेयर). पुट के खरीदार ने बेचने का अधिकार खरीद लिया है. पुट के स्वामी के पास बेचने का अधिकार हैं.

केस 2:यदि आप सोचते हैं कि कोई विशेष स्टॉक जैसे रे टक्नोलॉजिस” का फरवरी के महीने में मूल्य अधिक है, और भविष्य में मूल्यों में सुधार हो सकता है. हालांकि आप मूल्य बढ़ने के मामले में कोई खतरा नहीं उठाना चाहते हैं. तो आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प स्टॉक पर पुट ऑप्शन लेना रहेगा. मान लीजिए स्टॉक के लिए भाव इसके अंतर्गत हैं:

1050 रुपए 10 पर मई पुट 1070 रुपए 30 पर मई पुट

इसलिए आपने स्ट्राइक मूल्य 1070 और पुट मूल्य 30 रुपए पर 1000 रे टेक्नोलॉजिस” पुट खरीदे

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

शेयर मार्केट में बहुत सारे लोगों को नहीं पता Option Trading क्या है, Call और Put क्या है। शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने के लिए बहुत सारे माय्धाम है उनमे से एक है Option Trading। बहुत सारे लोग शेयर मार्केट में Call & Put खरीद करके ट्रेडिंग करते हैं। आज हम सरल भाषा में जानेंगे Option Trading कैसे करे, क्या हैं-

Option Trading क्या हैं:-

आपको नाम से ही पता लग गया होगा Option का मतलब विकल्प। उदाहरण के लिए- मान लीजिये आप एक कंपनी का 1000 शेयर 5000 रुपये प्रीमियम देकर 1 महीने बाद का 100 रुपये में खरीदने का Option लेते हो। ऐसे में उस कंपनी का शेयर 1 महीने बाद 70 हो गया तब आपके पास विकल्प (Option) रहेगा उस शेयर को नुकसान में ना खरीदने का।

ऐसे में आपका प्रीमियम का पैसा डूब जायेगा। आप्शन ट्रेडिंग में नुकसान आपका उतना ही है जितना पैसा आपने प्रीमियम लेते समय दिया था। तो ऐसे में नुकसान कम से कम करने के लिए Option का प्रयोग होता हैं।

Call और Put क्या है:-

Option Trading दो तरह का होता है एक है Call और दूसरा Put। ऑप्शन ट्रेडिंग में आप दोनों तरफ पैसा लगा सकते हैं। आप यदि Call खरीद रहे हो तो तेजी की तरफ पैसा लगा रहे हो ठीक उसी तरह Put खरीदते हो तो मंदी की तरफ पैसा लगा रहे हो। आप जिस प्राइस के ऊपर Call खरीदा उसके ऊपर का प्राइस जाने के बाद ही आपको फ़ायदा होगा। ठीक उसी तरह Put खरीदा तो जिस प्राइस के ऊपर खरीदा उसके नीचे गया तो ही आपको फ़ायदा होगा।

Option Trading का Expiry कब होता है:-

Option Trading में दो तरह का Expiry होता है एक होता है सप्ताह और दूसरा होता है महीना में। सप्ताह (Weekly Expiry) में हर गुरूवार को ही NIFTY 50 और BANK NIFTY का expiry होता हैं। महीना में शेयर का अंतिम गुरूवार expiry होता है, जो शेयर Option Trading में लिस्टेड हैं।

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

कब ज्यादा नुकसान हो सकता है:-

जो लोग Call या Put Option को खरीदते है उनको Premium का ही ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो सकता विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं है। लेकिन जो लोग Call और Put को बेच देते है उनका नुकसान असीमित हैं। बहुत बड़े बड़े ट्रेडर ही Call या Put को बेचते हैं उसके पास नॉलेज के साथ पैसा भी बहुत होता हैं।

Option Trading कैसे करे:-

ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए आप एक कंपनी का 1 शेयर नहीं खरीद सकते आपको LOT में खरीदना पड़ेगा. Nifty50 का एक Lot 75 का होता है लेकिन शेयर में ज्यादा होता हैं। किसी भी शेयर और Nifty50, Bank NIfty का Option खरीदने के लिए आपको जाना होगा आपके Demat Account में। उसके बाद जो भी खरीदना है उसमे आपको देखने को मिलेगा Option Chain आप उस पर से आपको Call या Put जो भी खरीदना है खरीद सकते हैं।

क्या आपको Option Trading करना चाहिए हमारी राय:-

दोस्तों आप यदि नए हो शेयर मार्केट में तो आपको इतना जोखिम नहीं लेना है। आपको लंबे समय के लिए शेयर में इन्वेस्ट करना चाहिए। Option Trading बहुत ज्यादा रिस्क भी है और रिवॉर्ड भी। आप यदि सही तरीके से पैसा लगाएंगे तो आपको बहुत अच्छा मुनाफा होगा। किसी के दिए हुए नुस्के से आप बिल्कुल मत इन्वेस्ट करो विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं आप पहले सीखिए उसके बाद इन्वेस्ट करे।

आशा करता हु आप हमारे पोस्ट शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है पढ़के आपको सिखने को मिला। और भी शेयर मार्केट के बारे में जानने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को पढ़ सकते हैं।

Pocket Option Trading Strategi

इस एप्लिकेशन की स्थापना विदेशी मुद्रा में जल्दी और आसानी से पैसा बनाने की संभावना प्रदान करती है। आपको उबाऊ पाठ या ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में भाग लेने की आवश्यकता नहीं है। दीर्घकालिक अभ्यास और प्रशिक्षण के बिना सफल व्यापार संभव है। आपको बस इस एप्लिकेशन में दी गई रणनीति को चुनना होगा और उसका पालन करना होगा। अब, यह वास्तव में कोई फर्क नहीं पड़ता है, चाहे आप एफएक्स पर शुरुआती हों, या एक विशेषज्ञ, चाहे आप यूएसडी, यूरो या किसी अन्य मुद्रा का व्यापार करते हों, या हो सकता है, आप इंट्राडे स्केलिंग पसंद करते हैं

यह एप्लिकेशन आपको सभी व्यापारिक रणनीतियों तक पहुंच प्रदान करता है, जो विशेषज्ञों द्वारा विकसित किए गए हैं और व्यापारियों द्वारा उपयोग किए जा सकते हैं, विभिन्न अनुभव स्तर हैं और विभिन्न मुद्रा जोड़े का उपयोग कर सकते हैं। ये ऐसी रणनीतियाँ हैं, जो हर स्वाद में फिट होती हैं!

एक विकल्प व्यापक है - शुरुआती विदेशी मुद्रा व्यापारियों के लिए शुरुआती और अतिरिक्त-लाभदायक प्रणालियों के लिए सरल रणनीतियों से। आपको चुनने के लिए मिलता है!

अपने समय और पैसे को फैंसी सलाहकारों या दलालों से अविश्वसनीय संकेतों पर बर्बाद न करें, क्योंकि वे आपको पैसा कमाने का मौका नहीं दे सकते हैं। हम आपको मैन्युअल रूप से और कट्टर के उपयोग के साथ व्यापार करने का सुझाव देते हैं! विदेशी मुद्रा बाजार में, साथ ही साथ हर जगह, सबसे मजबूत जीवित रहता है, और वे जानते हैं कि बड़े रुपये बनाने के लिए बाजार के लाभों का उपयोग कैसे करें।

हमारे सभी सिस्टम वास्तविक ट्रेडिंग खातों और उद्धरणों पर परीक्षण किए गए हैं।
सभी प्रकार की रणनीतियाँ - ग्राफिकल विश्लेषण, संकेतक या बिना किसी संकेतक, स्केलिंग और मार्टिंगेल और पैटर्न के साथ-साथ द्विआधारी विकल्पों के लिए रणनीतियों के उपयोग के साथ। हम 100 से अधिक विभिन्न रणनीतियों की पेशकश करते हैं और आप उन सभी का परीक्षण कर सकते हैं!

आप एक संकेतक या एक चार्ट का नाम नहीं जानते हैं हमारे आवेदन में एक शब्दावली है, जिसमें विकल्प ट्रेडिंग क्या हैं एफएक्स बाजार में उपयोग की जाने वाली सभी शर्तों की स्पष्ट परिभाषाएं हैं।

हम नए और गुप्त सिस्टम "व्हिप" और "10-40" पेश कर सकते हैं। आप उन्हें मुफ्त में परीक्षण कर सकते हैं और उन पर अपनी राय बना सकते हैं। एफएक्स एक खेल नहीं है, बल्कि पैसा कमाने का एक अलग अवसर है। शीर्ष गुप्त विदेशी मुद्रा ट्रेडिंग रणनीतियाँ पहली बार सामने आईं

आवेदन दैनिक अद्यतन किया जाता है। हम इसमें नई रणनीतियाँ भी जोड़ते हैं। आपको बस एक ऐप दर्ज करने और अपने लिए सबसे उपयुक्त रणनीति चुनने की आवश्यकता है, जो आपको अंतर्राष्ट्रीय विदेशी मुद्रा बाजार में एक स्थिर और उच्च लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा।

सफल व्यापारियों के विदेशी मुद्रा क्लब में आपका स्वागत है जो मुद्रा विनिमय दर में अंतर पर पैसा कमाना जानते हैं। एप्लिकेशन की स्थापना के साथ एक व्यापारी को एक विशेष बोनस भी मिलता है।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 394