12वां सिक्का: आरबीआई ने दस रुपये के सिक्के का 12वां डिजाइन 22 जून 2016 को जारी किया कौन सा सिक्का चुनना है? गया. यह सिक्का स्वामी चिन्मयानंद की जन्म शताब्दी की थीम पर डिजाइन किया गया.

सिक्कों को बनाने में होता है इस मेटल का इस्तेमाल, भारत में इतनी जगह पर बनाए जाते हैं सिक्के

तीन सिक्के दिए गए हैं। एक सिक्के के दोनों और पट है। दूसरा सिक्का अभिनत है जिसमे चित 60 % बार प्रकट होता है और तीसरा सिक्का अनभिनेत है। तीनों में से एक सिक्के को यदृच्छया चुना है और उसे उछाला गया है। यदि सिक्के पर पर प्रकट हो, तो क्या प्रायिकता है की वह दोनों पट वाला सिक्का है।

हेलो फ्रेंड्स और प्रश्न तीन सिक्के दिए गए हैं एक सिक्के के दोनों और पटा दूसरा सिक्का अभिनेता है यानी कि उसमें कुछ फोल्डर जिसमें चित्र साभार प्रकट होता है और तीसरा सिक्का अन बिना तैयारी की सही है तीन में से एक सिक्के को याद अच्छा चुना गया है और उसे उछाला गया है यदि सिक्के पर प्रकट होता हो तो क्या पता कि वह दोनों पटवाला सिक्का है हमारे पास क्या 3 सिक्के एक सिक्के के दोनों और पटा दूसरा कौन सा सिक्का चुनना है? चेक अभिनेता ने की जिसमें क्या 8:30 6% वार्षिक प्रकट होता है वह तीसरा अभिनेता ने की एक बार जीत और एक बार प्रकट प्रकट होता तो 3 में से 1 सिक्कों को यादव से चुना गया और उसे उछलते हैं यदि सिक्के पर पढ़ प्रकट होता हो तुम क्या पता कि वह दोनों पट वाला सिक्का है तो सबसे पहले मेरे पास तीन सिक्के और तो कोई सा भी सिखा सकता है माना माना सिक्का ए होने की प्रायिकता ए का चुनना तो उसकी क्या फैक्टर तीन सिक्के तो कोई सभी शिक्षक

तीसरे सिक्के दिए गए हैं। एक सिक्के दोनों ओर चित ही है। दूसरा सिक्का अभिनत है जिसमें चित 75% बार प्रकट होता है और तीसरा अनभिनत सिक्का है। तीनों में से एक सिक्के को यादृच्छया चुना गया और उसे उछाला गया है। यदि सिक्के पर चित प्रकट हो, तो क्या प्रायिकता है कि वह दोनों चित वाला सिक्का है?

दोस्तों आइए देखें एक और प्रश्न करें कि तीसरे शक्ति से सिक्के दिए गए किस अरे नहीं 3:00 के दिए गए हैं एक के पर दोनों औरत ही है और दूसरे से का अभिनय अभिनय का मतलब बेईमान एक तरफ तो जीने कौन सा सिक्का चुनना है? चित 75% बार प्रकट होता है और क्लासिक का जो है वह अभिनय थे मतलब उसमें वह सिक्का सही है ठीक है दोनों के एमएलए तीर से एक सिक्के को याद रिक्शा चुना गया और उसे उछाला गया है यदि से परिचित प्रकट हो तो क्या पता है कि वह दोनों चित्र वाला का ही है तो देखे यह कौन सा सिक्का चुनना है? जो प्रश्न है यह प्रवेश प्रवेश पर आधारित प्रश्न है उससे पहले हम ही माना कि 3 सिक्के दिखाइए तो तीन लिखा हुआ तीन सिक्के दिए गए थे आप के 3 सिक्के हो गए उन्होंने कहा कि एक के पर दोनों ओर चित ही है एक से क्या कह सकते हैं कि यह सिक्के पर दोनों जीत है इस पर जो है जो दोनों क्या है चित्र ही है तो यह लिखा है कि दूर जो है वह अध्यक्ष है अभिनय का मतलब यह वह

राशि अनुसार, कौन सा सिक्का अपने पास रखने से बदलेगी किस्मत

प्रज्ञा बाजपेयी

मेष- आपको अपने साथ एक ताम्बे का सिक्का रखना चाहिए, ताम्बे के सिक्के को मंगलवार प्रातः लाल धागे में गले में धारण भी कर सकते हैं. इससे आपका स्वास्थ्य उत्तम होगा, क्रोध कम आएगा, और धन की कमी नहीं होगी.

राशि अनुसार, कौन सा सिक्का अपने पास रखने से बदलेगी किस्मत

वृष- आप एक चांदी या जस्ते का सिक्का अपने पास रखिये. सिक्का गुलाबी कागज़ या कपडे में, धन रखने के स्थान पर रखिये . इससे आपका वैवाहिक जीवन उत्तम होगा, धन सम्बन्धी समस्याओं से राहत मिलेगी, और कर्ज आपको परेशान नहीं करेगा.

सिक्‍कों की होती है मैटेलिक वैल्‍यू

ऐसे में यह भी हो सकता है कि मेटैल‍िक वैल्‍यू का फायदा उठाने के लिए लोग सभी सिक्‍कों को पिघलाकर मुनाफा कमा लें. एक ऐसा भी समय आ सकता है, जब बाजार से सभी सिक्‍के गायब भी हो सकते है. ऐसी स्थिति में सरकार और अर्थव्‍यवस्‍था को लिए बड़ी चुनौती खड़ी हो जाएगी. यही कारण है कि सिक्‍कों के मेटैलिक वैल्‍यू को उसके फेस वैल्‍यू से कम रखा जाता है. इससे लोगों के पास सिक्‍के पिघलाकर मुनाफा कमाने का मौका न मिले. इसीलिए सरकार हर साल महंगाई के हिसाब से सिक्‍कों की साइज और वजन कम करती रहती है.

भारत में करेंसी नोट कौन सा सिक्का चुनना है? छापने और अर्थव्‍यवस्‍था में सर्कुलेट करने की जिम्‍मेदारी भारतीय रिज़र्व बैंक के पास होती है. आरबीआई ही अर्थव्‍यवस्‍था में करेंसी कौन सा सिक्का चुनना है? को रेगुलेट करता है. अगर बाजार में ज्‍यादा पैसा है तो आरबीआई मौद्रिक नीति के जरिए उसे कम करता है. वहीं, अगर बाजार में कम पैसा है तो उसे आरबीआई की मौद्रिक नीति के तहत ही बढ़ाया भी जाता है. हालांकि, 1 रुपये के नोट छापने की जिम्‍मेदारी कौन सा सिक्का चुनना है? वित्‍त मंत्रालय के पास होती है. इसपर वित्‍त सचिव का सिग्‍नेचर होता है. हालांकि, आरबीआई के जरिए ही वित्‍त मंत्रालय अर्थव्‍यवस्‍था में 1 रुपये के नोट व स‍िक्‍के सर्कुलेट करता है.

14 डिजाइन वाले 10 रुपये के सिक्के

पहला डिजाइन: 26 मार्च 2002 को जारी किया गया. यह सिक्का (Indian 10-rupee coin) कनेक्टिविटी और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी थीम पर आधारित है. इस सिक्के का वजन 7.71 ग्राम है. यह सिक्का 92 प्रतिशत कॉपर से बना है.

दूसरा डिजाइन: 10 रुपये के सिक्के का दूसरा डिजाइन भी 26 मार्च 2002 को जारी किया गया था. यह सिक्का (designs of Indian 10 rupee coin) अनेकता में एकता की थीम पर डिजाइन किया गया है.

तीसरा डिजाइन: सिक्के का तीसरा डिजाइन 11 फरवरी 2010 को जारी किया गया था. यह सिक्का होमी जहांगीर भाभा की जन्म शताब्दी वर्ष के मौके पर जारी किया गया था. इसका बाहरी हिस्सा 92 प्रतिशत कॉपर से बना हुआ है.

चौथा डिजाइन: आरबीआई ने 10 रुपये का चौथा डिजाइन वाला सिक्का 1 अप्रैल 2010 को जारी किया गया. यह सिक्का भारतीय रिजर्व बैंक (Indian 10-rupee coin) के प्लेटिनम जुबली यानी 75 साल पूरे होने के मौके पर जारी किया गया था.

रेटिंग: 4.40
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 758