Exit Poll के बाद ऐतिहासिक स्तर पर पहुंचा शेयर बाजार, 1422 अंक झूमकर बंद हुआ सेंसेक्स

Share Market

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 ( Loksabha Election ) के एग्जिट पोल के नतीजों भाजपा की अगुवाई में एनडीए सरकार बनने की खबर के बाद आज सप्ताह के पहले कारोबारी दिन घरेलू शेयर शेयर बाजार में झूमकर हुआ कारोबार बाजार ( share market ) जमकर झूमा। सुबह कारोबार के शुरुआत में ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर निफ्टी 50 में जोरदार तेजी देखने को मिली। शुरुआती कारोबार में तेजी की वजह से मात्र 60 सेकेंड के अंदर निवेशकों को करीब 3.2 लाख करोड़ रुपए का फायदा हुआ। बीएसई और एनएसई पर दोनों प्रमुख इंडेक्स ने एक कारोबारी सत्र में साल 2009 के बाद सबसे बड़ी बढ़त हासिल की। दिनभर के कारोबार के दौरान बाजार में यह तेजी लगातार देखने को मिली।

शेयर बाजार में छप्पर फाड़कर बरसा पैसा, बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का एमकैप 288.50 लाख करोड़ रुपये के पार

Disclaimer: citykhabre.com is news sharing website only. citykhabre.com share the news/information which has already published in various newspapers/websites and also on citykhabre.com. All the content/logos/images posted on this website are the property of their actual copyright/trademark owners which can be a publisher/authors/news agencies etc.

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 173 अंक गिरा

निफ्टी 55.23 अंकों (1.05 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 5,222.75 पर बंद हुआ।

निफ्टी 55.23 अंकों (1.05 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 5,222.75 पर बंद हुआ।

  • आईएएनएस
  • Last Updated : May 03, 2010, 05:05 IST

मुंबई। देश के शेयर बाजारों में साप्ताहिक कारोबार के पहले दिन सोमवार को कारोबार में गिरावट का रुख रहा। सेंसेक्स 172.63 और निफ्टी 55.25 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुए।
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स 172.63 अंकों (0.98 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 17,386.08 पर बंद हुआ।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित सूचकांक निफ्टी 55.23 अंकों (1.05 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 5,222.75 पर बंद हुआ।
बीएसई का मिडकैप सूचकांक 32.31 अंकों (0.45 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 7,152.47 पर बंद हुआ। स्मालकैप सूचकांक 38.52 अंकों (0.42 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 9,168.62 पर बंद हुआ।

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

शेयर बाजार ने साल को दी झूमकर विदाई, सेंसेक्स 460 और निफ्टी 150 अंक चढ़ा

मुंबई। कोरोना की दूसरी लहर और ओमीक्रॉन की चुनौतियों के बावजूद अर्थव्यवस्था के मजबूत रहने से उत्साहित निवेशकों की चौतरफा लिवाली से शेयर बाजार ने लगभग एक प्रतिशत चढ़कर इस वर्ष शेयर बाजार में झूमकर हुआ कारोबार के अंतिम दिन शुक्रवार को झूमकर विदाई दी।

रिलायंस, टाटा स्टील, एसबीआई, मारुति और आइटीसी समेत 26 कंपनियों में हुई जबरदस्त लिवाली से बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 459.50 अंक की छलांग लगाकर 58 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 58,253.82 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 150.10 अंक उछलकर 17,354.05 अंक पर रहा।

दिग्गज कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों में भी तेजी रही। इस दौरान मिडकैप 1.38 फीसदी चढ़कर 24,970.08 अंक और स्मॉलकैप 1.16 प्रतिशत मजबूत होकर 29,457.76 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 3480 कंपनियों शेयर बाजार में झूमकर हुआ कारोबार के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें से 2413 में लिवाली जबकि 975 बिकवाली हुई। वहीं, 92 शेयरों के भाव स्थिर रहे।

इस दौरान बीएसई के सभी 19 समूहों में लिवाली हुई। बेसिक मैटेरियल्स 1.92, सीडीजीएस 1.49, ऊर्जा 0.65, एफएमसीजी 1.27, वित्त 1.25, हेल्थकेयर 0.82, इंडस्ट्रियल्स 0.93, आईटी 0.09, दूरसंचार 1.72, यूटिलिटीज 0.50, ऑटो 1.73, बैंकिंग 1.36, कैपिटल गुड्स 0.65, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 1.99, धातु 2.10, तेल एवं गैस 1.16, पावर 0.36, रियल्टी 1.27 और टेक समूह के शेयर 0.शेयर बाजार में झूमकर हुआ कारोबार 29 प्रतिशत चढ़े।

विश्लेषकों की मानें तो वर्ष 2021 कोरोना महामारी की चुनौतियों के बीच अर्थवयवस्था की मजबूत रिकवरी का गवाह बना। इससे उत्साहित निवेशकों ने शेयर बाजार में आज इस वर्ष को सकारात्मक रूप से विदाई दी। भारतीय अर्थव्यवस्था ने खुदरा निवेशकों की मजबूत भागीदारी, आर्थिक सुधार, वैक्सीन कवरेज तथा वस्तुओं एवं सेवाओं की बढ़ती मांग से समर्थन पाकर विश्व की अधिकांश अर्थव्यवस्थाओं से बेहतर प्रदर्शन किया। ओमीक्रॉन के बढ़ते मामलों से बढ़ी आशंकाओं के बावजूद नये वर्ष में घरेलू शेयर बाजार के आर्थिक सुधारों के समर्थन से मजबूत बने रहने की उम्मीद है।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स लगभग 55 अंक की बढ़त लेकर 57,849.76 अंक पर खुला और मामूली बिकवाली से 57,846.52 अंक के निचले स्तर पर आ गया। जबरदस्त लिवाली के दम पर यह 58,409.30 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंचा। अंत में पिछले दिवस के 57,794.32 अंक की तुलना में 0.80 फीसदी चढ़कर 58,253.82 अंक पर रहा।

एनएसई का निफ्टी भी लगभग 41 अंक बढ़कर 17,244.50 अंक पर खुला और सत्र के दौरान 17,238.50 अंक के न्यूनतम एवं 17,400.80 अंक के उच्चतम स्तर पर रहा। अंत में पिछले सत्र के 17,203.95 अंक के मुकाबले 0.87 फीसदी उछलकर 17,354.05 अंक पर रहा।

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से बढ़त में रहने वालों में टाइटन 3.60, अल्ट्राटेक सीमेंट 2.62, कोटक बैंक 2.36, मारुति 1.96, एसबीआई 1.91, नेस्ले इंडिया 1.59, बजाज फाइनेंस 1.57, हिंदुस्तान यूनीलीवर 1.43, एक्सिस बैंक 1.43, सन फार्मा 1.32, बजाज फिनसर्व 1.31, एचडीएफसी बैंक 1.25, एचडीएफसी 0.95, टाटा स्टील 0.94, आईटीसी 0.93, महिंद्रा 0.87, एयरटेल 0.63, आईसीआईसीआई बैंक 0.60, एशियन पेंट 0.52 और रिलायंस ने 0.50 प्रतिशत का मुनाफा कमाया। इनके अलावा अन्य कंपनियां भी 0.50 प्रतिशत तक के लाभ में रहीं। वहीं, एनटीपीसी 1.97 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 0.56 प्रतिशत, पावरग्रिड 0.49 प्रतिशत और इंफोसिस ने 0.16 प्रतिशत का नुकसान उठाया।

शेयर बाजार में छप्पर फाड़कर हुई पैसों की बरसात, बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का एमकैप पहुंचा 288.50 लाख करोड़ रुपये के पार

नई दिल्ली। शेयर बाजार में आज छप्पर शेयर बाजार में झूमकर हुआ कारोबार फाड़कर पैसे की बरसात हुई। शेयरों में जारी तेजी के बीच बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बुधवार को अब तक के उच्चतम स्तर 288.50 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बेंचमार्क सेंसेक्स पहली बार 63,000 के स्तर से ऊपर बंद हुआ।

निवेशकों को अरबों का मुनाफा

सात दिनों में निवेशकों की संपत्ति भी 7,59,642.89 करोड़ रुपये बढ़ गई। बीएसई पर सूचीबद्ध फर्मों का बाजार पूंजीकरण (एमकैप) 2,88,50,896.03 करोड़ रुपये हो गया। मेहता इक्विटीज लिमिटेड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रशांत तापसे ने कहा कि दलाल स्ट्रीट में जोखिम भरे रवैये को दर्शाती शानदार रैली से निफ्टी सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। सेंसेक्स ने पहली बार 63,000 का दायरा तोड़ दिया।

Aaj Tak CG -Desk2 3 weeks ago

Aaj Tak CG -Desk2

दूसरी तिमाही में अर्थव्यवस्था में तेजी कायम, 6.3 फीसद रही GDP ग्रोथ

प्रस्तावित डिजिटल विश्वविद्यालय का भारत ही नहीं दुनिया को भी है इंतजार, जुलाई 2023 से हो सकती है शुरूआत

Related Articles

Leave a Reply Cancel reply

यह एक प्रादेशिक न्यूज़ पोर्टल हैं, जहां आपको मिलती हैं राजनैतिक, मनोरंजन, खेल -जगत, व्यापार , अंर्राष्ट्रीय, छत्तीसगढ़ , मध्याप्रदेश एवं अन्य राज्यो की विश्वशनीय एवं सबसे प्रथम खबर ।

रेटिंग: 4.15
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 600