Hint

Active Income और Passive Income क्या है? आपके लिए क्या सही है?

एक्टिव इनकम क्या है? (What is Active Income in Hindi?)

ऐसा कोई काम जिसे आप सक्रीय रूप से कर रहे हैं और उसके आपको पैसे मिलते हैं तो उस इनकम को एक्टिव इनकम कहा जाता है।

नौकरी से प्राप्त होने वाला इनकम Active income का बड़ा उदाहरण है, इसके अलावा यदि आपकी कोई दूकान है जिसमे आपको हर रोज काम करना पड़ता है तो आप वहां active income कमा रहे हैं।

यदि एक्टिव इनकम हमारी आय का प्रमुख साधन है तो हमें लगातार काम करना पड़ेगा और लगातार मेहनत करनी पड़ेगी। यदि हम काम करना बंद कर दें तो हमारी आय भी बंद हो जायेगी।

एक्टिव इनकम के उदाहरण

  • नौकरी करना
  • दूकान चलाना
  • मजदूरी करना
  • सामान बेचना
  • फ्रीलांसिंग करना आदि।

एक्टिव इनकम कमाने के फायदे?

आइये जानते हैं की एक्टिव इनकम कामने के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं और लोग एक्टिव इनकम के लिए क्यों काम करते हैं:

  • एक्टिव इनकम कमाने में जोखिम (risk) कम होता है।
  • हम बिना पैसा निवेश किये काम कर सकते हैं।
  • महीने के आखिर में एक निश्चित कमाई (fixed income) पा सकते हैं।
  • आय के अनुसार बजट बनाना आसान होता है।
  • ज्यादा हिसाब रखने की जरुरत नही पड़ती।
  • अपने काम के लिए किसी दुसरे को पैसे देने नही पड़ते।
  • हम बिना स्टाफ या नौकर के भी काम कर सकते हैं।
  • खुद का ऑफिस खोलना अनिवार्य नही है।

एक्टिव इनकम के नुकसान?

  • कमाई सीमित होती है।
  • हम अपनी आय स्वयं की इच्छानुसार नही बढ़ा सकते।
  • जिंदगी भर काम करना पड़ता है
  • हमें हर दिन काम करना पड़ता है।
  • हमें खुद का समय लगाना पड़ता है।
  • खुद मेहनत करना पड़ता है।
  • हमें किसी दुसरे के निर्देश के अनुसार काम करना पड़ सकता है।
  • अपने और अपने परिवार के समय नही निकाल पाते।
  • नौकरी में हमें किसी और के लिए काम करना पड़ता है।
  • जब तक हम काम कर सकते हैं तब तक ही हमें पैसे मिलेंगे।

पैसिव इनकम क्या है? (What is Passive Income in Hindi?)

ऐसा कोई काम जिसे हमें सक्रिय रूप से नही करना पड़ता लेकिन फिर भी उस काम से हमें पैसे मिलते हैं तो उस इनकम को पैसिव इनकम कहा जाता है।

बैंक से मिलने वाला ब्याज पैसिव इनकम का एक उदाहरण है। इसके अलावा घर, दफ्तर, वाहन या कोई सामान किराये पर दे कर पैसे कमाना भी पैसिव इनकम का उदाहरण है।

पैसिव इनकम की सबसे ख़ास बात यह है की आपके मेहनत का फल आपको लगातार मिलता रहता है, जब काम नही कर रहे होते तब भी। आपको passive income कमाने के लिए सक्रिय होकर या स्वयं को काम नही करना पड़ता।

पैसिव इनकम कमाने के तरीके

  • बैंक से ब्याज (interest) कमाना
  • शेयर मार्केट में निवेश कर डिविडेंट कमाना
  • घर, मकान, दूकान, वाहन या कोई सामान किराये पर देकर पैसे कमाना
  • किताब लिखकर पैसे कमाना
  • किसी दुसरे के व्यवसाय में पैसा लगाकर
  • डिजिटल प्रोडक्ट जैसे फोटो, विडियो आदि बेचकर

Passive income कमाने के तरीके कई सारे हैं हम आपको इस बारे आगे भी बताते रहेंगे।

पैसिव इनकम के फायदे?

  • आप खुद के मालिक होते हैं आपका कोई बॉस नही होता।
  • आप जहाँ चाहें वहां जा सकते हैं।
  • परिवार के लिए ढेर सारा समय मिलता है।
  • अपने शौक पूरे करने के लिए समय और पैसा दोनों मिलता है।
  • आप अपनी आय बढ़ा सकते हैं।
  • हर रोज ऑफिस जाने की चिंता नही रहती।
  • समय के साथ आपकी इनकम बढती जाती है।
  • अपने बच्चों के भविष्य के लिए बेहतर योजना बना सकते हैं।
  • आपको पैसे के लिए नही बल्कि पैसा आपने लिए काम करता है।

पैसिव इनकम के नुकसान क्या हैं?

  • ज्यादातर पैसिव इनकम के लिए हमें पहले पैसा निवेश करना पड़ता है।
  • पैसिव इनकम कमाने के लिए शुरुआत में बहुत मेहनत करनी पड़ती है।
  • काम शुरू करते ही पैसे नही मिलते।
  • शुरुआत में अपना समय लगाना पड़ता है।
  • हमें धैर्य बनाए रखना पड़ता है।
  • हमें टीम और स्टाफ की जरूरत पड़ सकती है।

एक्टिव इनकम पैसिव इनकम में क्या सही है?

जैसा की हम सभी को पता है की अच्छी जिन्दगी जीने के लिए पैसों के साथ-साथ समय की भी जरुरत होती है। ज्यादातर लोग जिंदगीभर नौकरी करते हैं और एक्टिव इनकम के लिए सभी के लिए निष्क्रिय आय काम करते हैं और सिर्फ उतना ही पैसा कमा पाते हैं जिससे घर चल सके।

नौकरी करना बुरी बात नही है लेकिन नौकरी के साथ-साथ हर किसी को पैसिव इनकम का कोई न कोई सोर्स जरुर बनाना चाहिए। इससे एक्स्ट्रा इनकम तो होगा ही साथ में आप नौकरी से आजादी भी पा सकते हैं।

दुनिया में जितने भी अमीर लोग हैं सभी की यही सलाह है की एक्टिव इनकम की जगह पैसिव इनकम का सोर्स बनाना चाहिए और इसके लिए मेहनत करनी चाहिए।

PAN-Aadhar Link : देरी न करें, इसे आज ही लिंक करें… नहीं तो पैन होंगे निष्क्रिय, आयकर विभाग ने जारी की एडवाइजरी

PAN-Aadhar Link: Don't delay, link it today. Otherwise PAN will be inactive, Income Tax Department issued advisory

नई दिल्ली/नवप्रदेश। PAN-Aadhar Link : आयकर विभाग ने परामर्श जारी किया कि जो पैन अगले साल मार्च के अंत तक आधार से नहीं जुड़ेंगे, उन्हें निष्क्रिय कर दिया जाएगा। आयकर विभाग ने एक सार्वजनिक परामर्श में कहा, “आधार से पैन लिंक करना अनिवार्य है, वह जरूरी है।

देरी न करें, इसे आज ही लिंक करें!” आयकर अधिनियम, 1961 के अनुसार, सभी पैन धारकों के लिए, जो छूट श्रेणी में नहीं आते हैं, उन्हें 31 मार्च 2023 से पहले अपने पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य है। 1 अप्रैल 2023 से आधार से अनलिंक पैन निष्क्रिय हो जाएगा।

मई 2017 में केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से जारी एक अधिसूचना के अनुसार, असम, जम्मू और कश्मीर और मेघालय राज्यों में रहने वाले व्यक्तियों, अनिवासी (आयकर अधिनियम, 1961 के अनुसार ), पिछले वर्ष के दौरान किसी भी समय 80 वर्ष या उससे अधिक की आयु पूरा करने सभी के लिए निष्क्रिय आय वालों और ऐसे व्यक्ति जो भारत के नागरिक नहीं हैं उन्हें ससे छूट मिलेगी।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) की 30 मार्च को जारी एक परिपत्र में कहा गया है कि एक बार पैन निष्क्रिय हो जाने के बाद कोई व्यक्ति आयकर कानून के तहत सभी परिणामों के लिए उत्तरदायी होगा और उसे कई तरह के प्रभाव झेलने होंगे।

निष्क्रिय पैन का उपयोग करके व्यक्ति आयकर रिटर्न दाखिल करने में सक्षम नहीं होंगे। लंबित रिटर्न भी प्रोसेस नहीं नहीं किए जाएंगे, पैन निष्क्रिय होने से लंबित रिफंड भी जारी नहीं किया जा सकेगा। एक बार पैन निष्क्रिय होने के बाद दोषपूर्ण रिटर्न के मामले में लंबित कार्यवाही भी पूरी नहीं की जा सकेगी साथ ही करदाता से उच्च दर पर आयकर की वसूली की जाएगी।

परिपत्र में कहा गया है, ‘इसके अलावा, करदाता को बैंकों और अन्य वित्तीय पोर्टलों से संबंधित कई अन्य जगहों पर भी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि पैन सभी प्रकार के वित्तीय लेनदेन के लिए महत्वपूर्ण केवाईसी मानदंडों में से एक है। सीबीडीटी आयकर विभाग के लिए नीति बनाता है।

आधार भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की ओर से भारत के निवासी को जारी किया जाता है। वहीं, पैन एक 10 अंकों का अल्फान्यूमेरिक नंबर है जो आईटी विभाग (PAN-Aadhar Link) की ओर से किसी व्यक्ति, फर्म या संस्था को आवंटित किया जाता है।

एक साझेदारी में सक्रिय साझेदार को पहले अर्जित लाभ से 30% कमीशन का भुगतान किया जाता है और शेष राशि को 3 : 4 के अनुपात में 3 भाग सक्रिय साझेदार और 4 भाग निष्क्रिय साझेदार में वितरित किया जाता है। यदि लाभ 270,000 रुपये हो जाता है तो सक्रिय साझेदार की कुल आय ज्ञात कीजिए

Hint

पहले कमीशन को कुल लाभ से घटाया जाएगा और उसके बाद अनुपात के अनुसार लाभ वितरित किया जाएगा

Share on Whatsapp

Last updated on Nov 24, 2022

SBI PO Prelims Admit Card was released on 3rd December for the SBI PO Prelims exam. The Prelims exam is scheduled for 17th, 18th, 19th, and 20th December 2022. The State Bank of India (SBI) released the official notification of the SBI PO 2022 Recruitment. A total of 1673 vacancies have been released under SBI PO 2022-23 Recruitment. Candidates who will qualify in the prelims are eligible to attend the mains. The SBI has revised the main exam pattern a bit. The candidates can check out the SBI PO Mains Exam Pattern here.

Let's discuss the concepts related to Profit and Loss and Partnership. Explore more from Quantitative Aptitude here. Learn now!

5 Best online Passive income sources in Hindi 2021

यदि आप घर पर इंटरनेट से निवेश के बिना एक व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं?

और आप आरामदायक जीवन जीने के लिए passive income source बनाना चाहते हैं।

इसके लिये आपको किसी problem-solving बिज़नस आईडिया की जरूरत नहीं है और नाही बहुत बड़े निवेश की आप अपने स्मार्टफ़ोन और इंटरनेट के ज्ञान से शुरुआत कर सकते हैं।

अधिकांश लोगों के पास व्यवसाय शुरू करने और निष्क्रिय आय का स्रोत बनाने के लिए पैसा नहीं होता है।

इसलिए वे “मनी-मेकिंग ऐप्स और वेबसाइट्स” ढूंढते रहते हैं, लेकिन ये अस्थायी हैं और आप केवल अपना समय बर्बाद करेंगे। इनसे आप शायद ही अच्छे खासे लंबे समय तक कमाओगे।

ज्यादातर लोगो को पता होता है कि आपको पैसा कमाने के लिए नौकरी करनी पड़ती है। लेकिन उससे भी आपको passive-income नहीं काम सकते । नॉकरी में आप जितने समय तक काम करते है उतने समय के ही पैसे मिलते है।

लेकिन आज आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बात करने वाला हूँ जिससे आप passive-income source का निर्माण कर सकते हैं यहां तक ​​कि आप इसमें अपना फुल टाइम करियर भी बना सकते हैं।

Online Passive Income Source in Hindi

Passive income in hindi

Passive income – आय का ऐसा स्रोत जहां आप एक बार मेहनत करके एक system का निर्माण करते हैं और फिर आप जीवन भर पैसा कमाते हैं।

उदाहरण के लिए:- mutual funds में निवेश करना, stocks खरीदना, real-estate etc.

Blogging

Blogging passive income sources Hindi

ब्लॉगिंग से आप बिना निवेश किये तथा बहुत ही काम निवेश किये इंटरनेट के माध्यम से आप अपनी passive-income source बना सकते है। यह इन्टरनेट से पैसे कमाने का सबसे आसान और popular तरीका है।

यहां, आप आसानी से 1-2 लाख/महीना कमा सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको ब्लॉग्गिंग को अच्छे से समझना पड़ेगा और इस फील्ड में समय देना पड़ेगा। यह कोई क्विक रिच स्कीम नहीं है कि आप कुछ ही महीनो में ही हजारो लेखों कमाने लग जाओ।

घबराएं नहीं इसमें मैं आपकी सहायता करूंगा,

बहुत से लोग Blogging को एक फुल टाइम करियर के रूप में कर रहे है। और वे महीने में $ 5000 -10000 $ कमा रहे है जो की भारतीय रूपये के अनुसार 3 से 7 लाख रूपये होते है।

जैसे की हर्ष अग्रवाल वो एक भारतीय ही है और सिर्फ ब्लॉग्गिंग से महीने के 10-20 लाख कमाते है।

तो आइये जानते है blogging के बारे में और जानते है कि आप अपना खुदका ब्लॉग कैसे सुरु क्र सकते है और पैसिव इनकम generate कर सकते है।

Blogging क्या है?

ब्लॉग एक ऐसी वेबसाइट होती है जहाँ पर आप अपने नजरिए, राय और इंटरेस्ट से जुड़ी चीजें लिखकर पोस्ट करते है। हर एक व्यक्ति अपने रुचि के हिसाब से एक ऐसा विषय चुनता है जिस पर वह अपना ब्लॉग बना सके।

आप अपने ब्लॉग पर जो भी लिखते हो वो लोगो के किये लाभकारी होना चाहिए ताकि लोग उसे पढ़ने के लिए आपके ब्लॉग लार आये। जैसा की अभी आप मेरे ब्लॉग को पढ़ रहे हो।

आप जरूरी नै की जो मैंने बताया वो भी आप बताओ आप अपने ज्ञान के आधार पर लोगो को कुछ सीखा सकते हो अपनी जानकारी एवं अनुभव लोगो के साथ share कर सकते हो।

आप अपना Blogging business 0 रूपगे से भी कर सकते हो लेकिन मेरी सलाह यही रहेगी की आप थोड़े पैसे लगाकर वर्डप्रेस पर ब्लॉग्गिंग सुरु करो सभी के लिए निष्क्रिय आय इससे आपको बहोत सुविधा होगी।

Blogging के बारे में और जाने के लिए तथा आप अपना ब्लॉग कैसे सुरु कर सकते हो के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस article को पढ़ें इसमें मैंने विस्तार से समजाया है blogging के बारे में।

YouTube

Youtube passive income sources Hindi

Youtube ने बहोत से लोगो के जीवन को बदला है, अगर आपमें भी कुछ हुनर है और आप भी लोगो को कुछ सीखा सकते हो बता सकते हो तो youtube आपके लिए बहुत अच्छा platform है।

लोग वीडियो रिकॉर्ड करते है और उन्हें अपलोड करते थे जो technology, news, entertainment आदि से संबंधित होते हैं। आप भी अपने अनुसार किसी भी छेत्र में वीडियो रिकॉर्ड कर सकते है और यूट्यूब में upload कर सकते है।

YouTube चैनल कैसे शुरू करें?

Youtube में channel create करना बहुत आसान है आपको बस एक ईमेल अकाउंट की जरूरत है जिसका उपयोग करके अपने ज्ञान और intreast के आधार पर एक चैनल बना सकते है।

Youtube चैनल बना लेने के बाद नियमित रूप से अछि अछि वीडियो अपलोड करना शुरू करें। वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए स्टूडियो या महंगा DSLR का होने कोई जरूरी नहीं है, आप अपने स्मार्टफोन का उपयोग करके भी वीडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं।

और ऑडियो के अपने earphone का इस्तेमाल कर सकते है। वैसे तो विडियो में अछि क्वालिटी की ऑडियो का होने बेहद जरूरी है। तो आप Boya M1 mic खरीद सकते है जो की 800-1000 रूपये में आपको amazon पर आसानी से मिल जायेगा।

अगर आप youtube में वीडियो बनाते हो तो ऐसे में आपके famous होने के chances बहुत ज्यादा है। क्यों की youtube विडियो में लोग आपको देख सकते है। और वीडियो ब्लॉग की तुलना में ज्यादा जल्दी वायरल हो जाती है।

नीचे कुछ niche (टॉपिक्स) दिए है जिसमे आप अपना Youtube चैनल बना सकते हो।

पैन से आधार 31 मार्च तक नहीं जुड़ा तो निष्क्रिय हो जाएगा: आयकर विभाग

पैन से आधार 31 मार्च तक नहीं जुड़ा तो निष्क्रिय हो जाएगा: आयकर विभाग

नई दिल्ली (New Delhi), 24 दिसंबर . आयकर विभाग ने करदाताओं के एक परामर्श जारी किया है. अगर आपने पैन को आधार से लिंक नहीं कराया है, तो आपके लिए यह काम की खबर है. आयकर विभाग ने शनिवार (Saturday) को सभी के लिए निष्क्रिय आय ट्वीट कर कहा है कि मार्च, 2023 तक आधार कार्ड से नहीं जुड़े स्थायी खाता संख्या (पैन) को ‘निष्क्रिय’ घोषित कर दिया जाएगा.

आयकर विभाग की ओर से जारी एक परामर्श के मुताबिक आयकर अधिनियम 1961 के अनुसार छूट वाली श्रेणी में आने वाले लोगों को छोड़कर सभी पैन धारकों के लिए 31 मार्च, 2023 से पहले अपने पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य है. आधार से नहीं जोड़े गए पैन कार्ड एक अप्रैल, 2023 से निष्क्रिय हो जाएंगे.

विभाग ने जारी परामर्श में कहा है कि अब इसमें देर मत कीजिए. अपने पैन को आज ही आधार से लिंक कराये. ऐसा करना जरूरी है. जो अनिवार्य है, वह आवश्यक है. हालांकि कुछ लोगों को इसमें छूट दी गई है. इस कैटगरी में असम, जम्मू (Jammu) एवं कश्मीर और मेघालय के लोग नॉन रेजिडेंट, 80 साल या उससे अधिक उम्र के लोग और विदेशी नागरिक शामिल हैं.

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के एक सर्कुलर के मुताबिक अगर किसी का पैन निष्क्रिय होता है, तो उसे आईटी कानून के तहत नतीजे भुगतने होंगे. अगर किसी का पैन निष्क्रिय होता है, तो आयकर रिटर्न नहीं भर पाएगा. उसका पेंडिंग रिटर्न प्रोसेस सभी के लिए निष्क्रिय आय नहीं होगा. साथ ही उसका हाई रेट पर टैक्स कटेगा. इसके साथ ही करदाताओं को टैक्सपेयर को अन्य मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

रेटिंग: 4.27
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 216