Photo:INDIA TV

राकेश झुनझुनवाला के इस स्‍टॉक ने एक साल के भीतर 1 लाख को बनाया 5 लाख रुपये, क्‍या आपने भी खरीदा है इसे

पिछले एक क्या स्टॉक एक खरीद है साल में इस शेयर में 100 प्रतिशत का उछाल आया है। 19 फरवरी को कंपनी का शेयर बीएसई पर 158.05 रुपये पर बंद हुआ।

Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: February 19, 2021 17:57 IST

This Rakesh Jhunjhunwala stock turned Rs 1 lakh into Rs 5 lakh in less than a year- India TV Hindi

Photo:INDIA TV

This Rakesh Jhunjhunwala stock turned Rs 1 lakh into Rs 5 lakh in less than a year

नई दिल्‍ली। दिग्‍गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) के पोर्टफोलियो में शामिल टाटा मोटर्स (Tata Motors) का शेयर पिछले साल मार्च में 52 हफ्ते के निचले स्‍तर से अब पांच गुना ऊपर आ चुका है। पिछले साल 24 क्या स्टॉक एक खरीद है मार्च को टाटा मोटर्स का शेयर गिकर 63.60 रुपये पर आ गया था। शुक्रवार को दिन के कारोबार में इसने 322 का रिकॉर्ड उच्‍च स्‍तर छुआ। इस शेयर ने एक साल से भी कम समय में अपने निवेशकों को 406 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। 23 मार्च को टाटा मोटर्स के शेयर में निवेश किए गए 1 लाख रुपये आज 5.06 लाख रुपये बन गए हैं।

राकेश झुनझुनवाला ने 87 करोड़ रुपए में खरीदी येस बैंक में हिस्‍सेदारी, बैंक का शेयर 9% उछला

राकेश झुनझुनवाला ने वीआईपी इंडस्‍ट्रीज ने बढ़ाई अपनी हिस्‍सेदारी, शेयरों में आया 10 प्रतिशत उछाल

राकेश झुनझुनवाला ने खरीदे इंडियाबुल्‍स रियल एस्‍टेट में 29 करोड़ रुपए के क्या स्टॉक एक खरीद है शेयर, भाव में आया उछाल

पिछले एक साल में इस शेयर में 100 प्रतिशत का उछाल आया है। 19 फरवरी को कंपनी का शेयर बीएसई पर 158.05 रुपये पर बंद हुआ। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस मामलों की संख्‍या में गिरावट आने, विभिन्‍न कोविड-19 वैक्‍सीन लॉन्‍च होने, निचले स्‍तर पर जमकर खरीदारी होने और कंपनी की आय में निरंतर सुधार के चलते स्‍टॉक में तेजी बनी हुई है।

राकेश झुनझुनवाला ने पहली बार टाटा मोटर्स के शेयरों को पिछले साल सितंबर में खरीदा था। झुनझुनवाला ने चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी के 4,00,00,000 शेयर खरीदे थे। सितंबर तिमाही के शेयरहोल्डिंग डाटा के मुताबिक झुनझुनवाला ने टाटा मोटर्स में 1.29 प्रतिशत हिस्‍सेदारी या 4 करोड़ शेयर खरीदे हैं।

झुनझुनवाला ने टाटा मोटर्स के शेयर उस समय खरीदे थे, जब टाटा मोटर्स के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने घोषणा की थी कि कंपनी अगले तीन सालों में अपने कर्ज को शून्‍य करेगी। उसी तिमाही में कंपनी का घाटा तिमाही आधार पर कम हुआ था।

चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में, टाटा मोटर्स को 314.5 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ, जबकि एक साल पहले समान तिमाही में कंपनी को 216.56 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। हालांकि कंपनी ने अपना घाटा तिमाही आधार पर 8,437.99 करोड़ रुपये से कम करने में सफलता हासिल की। अक्‍टूबर-दिसंबर 2020 तिमाही में टाटा मोटर्स को 2906 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ। इसका मुख्‍य कारण अधिक बिक्री और लागत-बचत उपाय थे।

आईसीआईसीआई सिक्‍यूरिटीज ने टाटा मोटर्स के लिए बाई कॉल दिया है। ब्रोकरेज फर्म ने टाटा मोटर्स के शेयर के लिए 389 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है।

क्या होता है बफर स्टॉक, सरकार कैसे करती है इसके जरिए कीमत को कंट्रोल? जानिए सब बात

बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार (central government) की ओर से बफर स्टॉक जारी किया जाता है, लेकिन ये बफर स्टॉक क्या होता है, हम आपको बताते हैं।

Credit- PTI

वर्तमान में महंगाई चरम है। खाद्य तेलों से लेकर दाल, सब्जी और अन्य जरूरत की चीजें आसमान छू रही हैं। इन बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार (central government) की ओर से बफर स्टॉक जारी किया जाता है। बफर स्टॉक (Buffer stock) का इस्तेमाल लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरण के साथ साथ सूखे या फसल बर्बादी अथवा ऐसी ही किसी और आपात स्थिति से निपटने, मूल्य वृद्धि के समय हस्तक्षेप करने के लिए किया जाता है। लेकिन ये बफर स्टॉक क्या होता है और सरकार कैसे इसके जरिए कीमत को कंट्रोल करती है, इस बारे में जानने की कोशिश करते हैं।

क्या होता है बफर स्टॉक?

दरअसल, एक बफर स्टॉक एक प्रणाली या योजना है, जो एक निर्धारित सीमा (या मूल्य स्तर) से नीचे गिरने वाली कीमतों को रोकने के लिए अच्छी फसल के समय स्टॉक खरीदता है और स्टोर करता है। इसके बाद फसल खराबी के दौरान स्टॉक को निर्धारित सीमा (या मूल्य क्या स्टॉक एक खरीद है स्तर) से ऊपर बढ़ने से रोकने के लिए जारी करता है।

एक बफर स्टॉक योजना एक संपूर्ण अर्थव्यवस्था या एक वस्तु की बाजार में कीमतों को स्थिर करने के उद्देश्यों के लिए वस्तु भंडारण का उपयोग करने का एक प्रयास है। इसका प्रयोग निर्धारित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरण के साथ-साथ सूखे या फसल की बर्बादी अथवा ऐसी ही किसी अन्य आपात स्थिति से निपटने के लिए किया जाता है। बफर स्टॉक को केंद्रीय पूल भी कहते हैं।

सरकार कैसे करती है कीमत कंट्रोल

भारतीय खाद्य निगम अपने उद्देश्यों की पूर्ति के लिए सरकार के लिए खाद्यान्नों की खरीद करता है और खाद्यान्न का बफर स्टॉक बनाए रखता है। इस खाद्यान्न क्या स्टॉक एक खरीद है को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य की दुकानों पर बेचने के लिए उपलब्ध कराया जाता है। यदि केंद्रीय पूल (बफर स्टॉक) में खाद्यान्‍नों का स्टॉक संशोधित बफर मानकों से अधिक होता है तो खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग अतिरिक्‍त स्टॉक को खुली बिक्री के जरिए घरेलू बाजार में बेच सकता है अथवा उसका निर्यात भी कर सकता है।

सीधे तौर पर समझा जाए तो सरकार किसी वस्तु की कीमत कम होने पर उसका भंडारण कर लेती है, लेकिन जब कीमतें उछाल पर होती हैं तो बफर स्टॉक को जारी किया जाता है। इससे क्या स्टॉक एक खरीद है उस वस्तु की कीमत बढ़ने से रोकी जाती है यानी सरकार बफर स्टॉक जारी करके वस्तु की कीमत को कंट्रोल करती है।

Tata Group के इस शेयर से कर सकते हैं बंपर कमाई, एक्सपर्ट सुमित बगड़िया से जानिए Stock खरीदारी का सही समय

स्टॉक टाटा पावर (Tata Power Stock) को लेकर सुमित बगड़िया और उनकी ब्रोकरेज हाउस क्या स्टॉक एक खरीद है चॉइस ब्रोकिंग का कहना है कि यह शेयर आने वाले समय में बेहतर रिटर्न दे सकता है. उम्मीद की जा रही है कि इस शेयर से निवेशकों क्या स्टॉक एक खरीद है क्या स्टॉक एक खरीद है को कम समय में 20 फीसदी तक का रिटर्न मिल सकता है.

Tata Power Stock

Share Market News, Tata Group Stock: शेयर बाजार (Stock Market) में निवेश कर पैसे कमाने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है. आज हम आपको एक ऐसे शेयर के बारे में बता रहे है जो आने वाले समय में आपको बंपर मुनाफा दे सकता है. टाटा कंपनी ग्रुप (Tata Group) के इस शेयर की कीमत आने वाले समय में काफी बढ़ने की संभावना है. जी हां हम बात कर रहे हैं टाटा पावर (Tata Power Share) के शेयरों की. शेयर मार्केट के जाने माने जानकार सुमित बगाड़िया का कहना है कि आने वाले समय में इससे बेहतर रिटर्न मिल सकते हैं.

टाटा पावर के शेयर: मार्केट में टाटा कंपनी के शेयरों में दांव लगाना अच्छा निवेश माना जाता है. ऐसे में अगर कोई टाटा पावर (Tata Power) के शेयर की खरीद कर रहा है तो आने वाले समय में यह मुनाफे का सौदा हो सकता है. शेयर मार्केट के एक्सपर्ट सुमित बगड़िया की राय है कि यह स्टॉक की कीमत अपने 52 वीक हाई से काफी कम है. ऐसे में इसपर निवेश बेहतर रिटर्न दे सकता है.

कब खरीद करें टाटा पावर के शेयर: एक्सपर्ट समित बगड़िया ने टाटा पावर के शेयर को बुलिस शेयर कहा है. और इसे खरीदने की सलाह दे रहे हैं. बात करें इस स्टॉक की तो अभी इसका रेट 215 रुपये के करीब चल रहा है. सुमित बगड़िया का कहना है कि आने वाले समय में इसकी कीमत बढ़कर 230 से 240 या 250 तक जा सकती है. सुमित बगड़िया ने इसे 200 से 210 रुपये तक खरीदारी करने की सलाह दी है. उन्होंने 190 रुपये का स्टॉप लॉस भी लगाने की सलाह दी है.

टाटा ग्रुप (Tata Group) के इस दमदार स्टॉक टाटा पावर (Tata Power) को लेकर सुमित बगड़िया और उनकी ब्रोकरेज हाउस चॉइस ब्रोकिंग का कहना है कि यह शेयर आने वाले समय में बेहतर रिटर्न दे सकता है. उम्मीद क्या स्टॉक एक खरीद है की जा रही है कि यह शेयर कम समय में 20 फीसदी तक का रिटर्न दे सकता है. यानी अगर आप इस शेयर को खरीदते हैं तो आने वाले समय में यह 230 से 240 रुपये का बिक सकता है.

रेटिंग: 4.54
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 739