FTT एक्सचेंज के विवाद से हमने क्या सीखा
टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में ताजा विवादों में रहा नाम सैम बैंकमैन-फायड का है जिनके एफटीएक्स एक्सचेंज के धराशायी होने की क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी कहानी बेहद चर्चा में रही. निश्चित तौर पर ये कंपनियां गलत तरीके से कस्टमर्स के ऐसेट्स को गैरकानूनी तरीके से यूज करती रहीं. पैसा निकाला गया तो ऐसे कि जैसे बैंक का पूरा साथ हो. हालांकि इस कंपनी का सबसे बड़ा गुनाह ये था कि अपने खुद के एफटीटी टोकन के सामने इन्होंने पैसा निकाला, इसका कंपनी को कोई फायदा नहीं मिला.

Samarth Yojana benefits and features for textile industry (Jagran File Photo)

Cryptocurrency Rate Today 30 November: बिटकॉइन और इथेरियम के दाम में बढ़त, जानें दोनों के ग्लोबल और इंडियन रेट्स

By: ABP Live | Updated at : 30 Nov 2022 03:40 PM (IST)

Edited By: Meenakshi

बिटकॉइन और इथेरियम (फाइल फोटो) ( Image Source : Quantitatives/Unsplash )

Cryptocurrency Rate Today 30 November: क्रिप्टोकरेंसी के रेट आज तेजी के साथ कारोबार कर रहे हैं और इसका ग्लोबल मार्केट कैप 851,954,297,161 डॉलर पर आ गया है. क्रिप्टो के बाजार में आज बढ़त के साथ कारोबार हो रहा है. कुल क्रिप्टोकरेंसी के बाजार में बिटकॉइन का हिस्सा 38.1 फीसदी पर है और इथेरियम का 18.2 फीसदी पर आ चुका है.

ग्लोबल बाजार में बिटकॉइन के दाम
ग्लोबल बाजार में बिटकॉइन 16,879.54 डॉलर प्रति कॉइन पर आ गई है और ये एक दिन में 2.25 क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी फीसदी बढ़ी है और पिछले 7 दिनों में इसमें 1.90 फीसदी की बढ़त दर्ज की जा चुकी है.

Cryptocurrency: क्या क्रिप्टोकरेंसी की कीमत घटकर रह जाएगी जीरो, जानें क्यों कह रहे हैं ऐसा-क्या कारण हैं सामने

By: ABP Live | Updated at : 05 Dec 2022 10:23 AM (IST)

Edited By: Meenakshi

क्रिप्टोकरेंसी, बिटकॉइन, एफटीटी, क्रिप्टोमार्केट

Cryptocurrency: टेक्नोलॉजी और कर्ज को एक साथ मिलाना कभी भी समझदारी नहीं कही जा सकती है क्योंकि जब टेक्नोलॉजी काम करती है तो उसका मूल्यांकन बहुत ऊंचा होता है. हालांकि जब टेक्नोलॉजी जब अगले कदम की ओर बढ़ती है तो लोन डिफॉल्ट के क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी मामले भी बढ़ने की संभावना रहती है. एफटीएक्स, एलन मस्क और सॉफ्टबैंक इस सबक को सीख रहे हैं. जी हां- हम ये क्रिप्टोकरेंसी के भ्रम के तोड़ने के बारे में बात कर रहे हैं.

ट्विटर के उदाहरण को देखें जहां पैसा खोने की गुंजाइश बन गई है
उदाहरण के लिए आप ट्विटर को देख लें जो साल 2019 में मुनाफा कमाने वाली कंपनी बन गई, लेकिन अब ये एक अरब डॉलर के कर्ज पेमेंट्स के मामले में फंसी दिखाई दे रही है. वॉल स्ट्रीट इस समय ट्विटर के कर्ज को नजरंदाज नहीं कर सकती है जो डॉलर में 60 क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी सेंट के बराबर हो सकता है. बिना पैसा खोए भी ट्विटर के नए मालिक और सीईओ एलन मस्क ने एंप्लाइज से कह दिया है कि 'दिवालियापन' की आशंका का प्रश्न बाहर नहीं है. हालांकि उन्हें अपनी खुद की कंपनी टेस्ला के हाई वैल्यू शेयर (भले ही गिरावट दिखा रहे हैं) बेचने से लाभ हुआ है. एलन मस्क क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी ने कहा है कि ट्विटर फ्री-स्पीच के सिद्धांतो पर काम करेगा. ट्विटर की गिरावट के चलते विज्ञापनदाता से लेकर इसके कर्मचारी भाग रहे हैं. अगर एलन मस्क डिफॉल्ट करते हैं और ट्विटर से चले जाते हैं तो कंपनी के पास पुराने कोड और बेकार की वस्तुओं के अलावा कुछ नहीं बचेगा.

क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी

Cryptocurrency adaptation will boost in the next 3 years, Big firms are continuously investing in Bitcoin, Tornado cash ban cryptocurrency create trouble for normal people who invest.

James Webb Space Telescope , glimpses Earendel, most distant star, Black Holes, Dying Star, Birth Of New Stars pic, James web Spectrum Vision, Difference in Hubble and James web Telescope

China का Long March 5B रॉकेट इस हफ्ते धरती पर CRASH हो सकता है , Long March 5B का 25 Ton Rocket Booster धरती से टकराने वाला ,धरती के वायुमंडल में रीएंट्री करेगा ,China Rocket Crash Hindi

application of Quantum computing, Cloud-based quantum computing, qudits , qubit stock , application of qbits and qudits ,uses of quantum computer , qudits of quantum computer are more power full

Cryptocurrency: क्रिप्टो बाजार में Bitcoin को पछाड़ सकती यह क्रिप्टोकरेंसी, ग्राहक भी हैं उत्साहित

डेटा प्लेटफॉर्म CoinMarketCap के अनुसार क्रिप्टो बाजार में बिटकॉइन का मूल्य इस साल जून के बीच महीने में 47.5 प्रतिशत से गिरकर 39.1 प्रतिशत तक रह गया है। दूसरी ओर ईथीरियम 16 प्रतिशत से बढ़कर 20.5 प्रतिशत हो गया है।

नई दिल्ली, एजेंसी। क्रिप्‍टो मार्केट (Crypto) की शुरुआत के बाद क्र‍िप्‍टोकरेंसी (Cryptocurrency) के रूप में बिटकॉइन (Bitcoin) ने ही इस क्षेत्र में अपना दबदबा कायम रखा है। हालांकि, अब बिटकॉइन को दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी करेंसी एथेरियम (Ethereum) से चुनौती मिली रही है।

समाचार एजेंसी रॅायटर्स के मुताबिक, कुछ दिनों के बाद एथेरियम एक सॉफ्टवेयर अपडेट की योजना बना रहा है। एथेरियम फाउंडेशन इसे 'एथेरियम मर्ज' कहता है। रिपोर्ट के अनुसार संभावित मर्ज (merge) इवेंट के बाद एथेरियम दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी डिफ्लेशनेरी (deflationary) हो जाएगी।

क्रिप्टो बाजार में बढ़ा ईथीरियम का मूल्य

डेटा प्लेटफॉर्म CoinMarketCap के अनुसार, क्रिप्टो बाजार में बिटकॉइन का मूल्य इस साल जून के बीच महीने में 47.5 प्रतिशत से गिरकर 39.1 प्रतिशत तक रह गया है। दूसरी ओर, एथेरियम 16 प्रतिशत से बढ़कर 20.5 प्रतिशत हो गया है। साल 2021 के जनवरी महीने के समय क्रिप्‍टो मार्केट में बिटकॉइन का क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी डोमिनेंस 72 प्रतिशत था जबकि एथेरियम का बाजार में 10 प्रतिशत डोमिनेंस था।

फंड मैनेजमेंट क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी फर्म सोलराइज फाइनेंस में वित्तीय रणनीति के प्रमुख जोसेफ एडवर्ड्स (Joseph Edwards) ने कहा, 'क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी एथेरियम नेटवर्क की सफलता देखते हुए ग्राहक अब एथेरियम को भी अनिवार्य रूप से एक सुरक्षित संपत्ति (Asset) के रूप में देख रहे हैं। बता दें कि बुधवार को मर्ज होने की उम्मीद है। मर्ज के साथ ही संभावित रूप से ईथर की कीमत बढ़ सकती है। हालांकि, क्रिप्टो बाजार में कुछ भी निश्चित नहीं है।

विस्तार

बात करेंसी की हो और क्रिप्टो का जिक्र न हो, ऐसा होना नामुमकिन है। क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बाजार में तो इतने बड़े-बड़े दावे होने लगे हैं कि इसे सोने से भी सोणा कहा जाने लगा है। हालांकि, इन सबसे पहले एक सवाल उठता है कि आखिर क्या है ये क्रिप्टोकरेंसी? कैसे इसे खरीद और बेच सकते हैं? कैसे इनकी माइनिंग होती है और इनकी कीमत लगातार कैसे बढ़ रही है? वैसे ये सवाल काफी पुराने हो सकते हैं, लेकिन अमर उजाला एक खास सीरीज 'कहानी क्रिप्टो की' शुरू कर रहा है। इसकी पहली कड़ी में क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत से उसके क्वाइन बनने तक की कहानी बताई जा रही है। सीरीज की अगली कड़ियों में क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग होने और उनकी कीमतों के आसमान छूने तक के हर किस्से से आपको रूबरू कराया जाएगा।

क्रिप्टोकरेंसी आजकल काफी चर्चा में है, लेकिन यह सुर्खियों में उस वक्त ज्यादा आई थी, जब जुलाई 2010 के दौरान बिटक्वाइन नाम की क्रिप्टोकरेंसी अस्तित्व में आई और उससे लेन-देन भी होने लगा। उस वक्त बिटकॉइन की कीमत 0.0008 डॉलर थी, जो वर्तमान में 58 हजार डॉलर के आंकड़े को पार कर चुकी है। बिटक्वाइन भले ही आज के जमाने की काफी प्रचलित है, लेकिन क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत 1980 से भी पहले हो गई थी।

सबसे पहले बनी थी ब्लाइंडिंग एल्गोरिदम

जानकारी के मुताबिक, 1980 के दौर में अमेरिकन क्रिप्टोग्राफर डेविट चौम ने 'ब्लाइंडिंग' नाम की एल्गोरिदम का अविष्कार किया था, जो सेंट्रल से मॉडर्न वेब-बेस्ड इनक्रिप्शन पर आधारित क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी थी। यह एल्गोरिदम सिक्योर, पार्टियों के बीच अपरिवर्तनीय सूचना के आदान-प्रदान और भविष्य के इलेक्ट्रॉनिक करेंसी ट्रांसफर के लिए आधार तैयार करने के मकसद से बनाई गई थी। हालांकि, इस पर कुछ काम नहीं हुआ।

ब्लाइंडिंग के चर्चा में आने के 15 साल बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर वेई दई ने बी-मनी नाम की वर्चुअल करेंसी को लेकर व्हाइट पेपर तैयार किया। बी-मनी में मॉडर्न क्रिप्टोकरेंसी के कई बेसिक कंपोनेंट्स थे। व्हाइट पेपर में बी-मनी के जटिल प्रोटेक्शन और डिसेंट्रलाइजेशन का जिक्र किया गया था। हालांकि, बी-मनी कभी एक्सचेंज के रूप में बाजार में नहीं आ पाई।

सबसे पहले एलन मस्क ने की थी वर्चुअल करेंसी की वकालत

वर्ष 1990 और 2000 से पहले कई डिजिटल फाइनेंस माध्यम भी सामने आए, जिनमें पेपल (PayPal) आदि शामिल थे। गौर करने वाली बात यह है कि पेपल की शुरुआत टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क ने की थी। उन्होंने ही उस वक्त पहली बार वर्चुअल करेंसी की वकालत भी की थी और 10 साल बाद क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में आए उछाल ने उनकी बात साबित भी की। हालांकि, यह भी सच है कि साल 2000 के बाद जब बिटक्वाइन अस्तित्व में आया, उसके बाद ही सभी तरह की क्रिप्टोकरेंसी में तेजी दर्ज की गई।

नोट: 'कहानी क्रिप्टो की' सीरीज में आज क्रिप्टोकरेंसी के जन्म की दास्तां बताई गई। कल क्रिप्टोकरेंसी वेब स्टोरी हम आपको बिटक्वाइन की शुरुआत होने और इसके शिखर पर चढ़ने के किस्से से रूबरू कराएंगे।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 159