अरबपति एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन के तुरंत बाद भारी संख्या में कर्मचारियों को निकाल दिया। अब मस्क टेस्ला कंपनी में भी जल्द ही नौकरियों की कटौती करने वाले हैं। द इलेक्ट्रेक की एक रिपोर्ट के अनुसार, टेस्ला 2023 की पहली तिमाही में हायरिंग फ्रीज और छंटनी करने की योजना बना रही है। गौरतलब है कि इसी साल जून महीने में टेस्ला ने भर्ती पर रोक लगाकर अपने 10% कर्मचारियों को निकाल दिया था।

ट्विटर के बाद एलन मस्क अब टेस्ला में भी करेंगे कर्मचारियों की छंटनी, जानें वजह

Clove Totka : लोन पाने के लिए पूर्णिमा या अमावस्या की रात करें आसान उपाय , झट से हो जाएगा काम

Clove Totka : जीवन में व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए धन की आवश्यकता होती है। पैसे की जरूरत पूरी करने के लिए लोन मिल जाए तो व्यापार चल निकलेगा। अधिकतर व्यापारी बैंको से लोन लेने के लिए आवेदन करते ।लेकिन किन्हीं कारणों क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन वश् कोई अड़ंगा लग जाता है। लोग महीनों महीनों बैंकों के चक्कर काटते है। ज्योतिष में इसका आसान उपाय बताया गया है। आईये जानते है।

पढ़ें :- क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन 25 दिसंबर 2022 राशिफल: सूर्य की तरह चमकेगा क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन इनका भाग्य, इन्हें मिलेगा व्यापार में बड़ा लाभ

1.लौंग का उपयोग ज्योतिषीय उपयोग में भी किया जाता है। लौंग एक सुगंधित खाद्य पदार्थ है। आइये जानते लौंग के टोटके के बारे।

2.मंगलवार या शनिवार को हनुमान जी के सामने सरसों तेल के दीए में लौंग डालकर आरती करें। मान्यता है कि ऐसा करने से कर्ज पाने की मनोकामना पूर्ण होती है। इसके अलावा आर्थिक समस्या दूर होती है।

Year Ender 2022: 5G से लेकर डिजिटल रुपया तक, इस साल टेक जगत में हुए ये बड़े बदलाव

Year Ender 2022: 5G से लेकर डिजिटल रुपया तक, इस साल टेक जगत में हुए ये बड़े बदलाव

Tech Development This Year: साल 2022 भारत के लिए काफी जबरदस्त रहा, खास करके टेक जगत में. इस साल देश ने कई बड़े बदलाव देखे और कई उपलब्धियां भी हालिस की. केवल देश में ही नहीं बल्कि इस साल विदेशों तक भी भारतीय टेक्नोलॉजी की पहुंच बनी. इस साल भारत ने Make in India प्रोजेक्ट की तरफ काफी तेजी से कदम बढ़ाया. बता दें साल 2022 में सबसे बड़ा बदलाव या फिर उपलब्धि 5G लॉन्च को कहा जा सकता क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन है. इस साल कई बड़ी टेलीकॉम कंपनियों ने अपनी 5G सेवाएं भी लॉन्च कर दी. केवल यही क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन नहीं, जानी-मानी कंपनी Apple ने ही इस साल अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट की शुरुआत भारत में की. चलिए साल 2022 में हुए ऐसे ही बदलावों के बारे में विस्तार से जानते हैं.

5G सर्विस लॉन्च

इस साल हुए सबसे बड़े बदलावों की बात करें क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन और उसमें 5G सर्विस लॉन्च की बात न हो ऐसा नहीं हो सकता. इस साल भारत ने 5G सर्विस को लॉन्च कर एक बड़ा मील का पत्थर हासिल किया. इस साल अक्टूबर के महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों देश में 5G सर्विसेज लॉन्च की गयी और इस लॉन्चिंग में देश की कई बड़ी कंपनियों ने हिस्सा लिया. लॉन्चिंग के तीन महीने बाद ही आज देश के करीबन 60 शहरों में यह सर्विस पूरी तरह से क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन पहुंच भी चुकी है. रिपोर्ट्स की अगर मानें तो Reliance Jio ने साल 2023 के अंत तक पूरे देश में 5G सर्विसेज मुहैय्या कराने की बात कही है और वहीं बात करें Airtel ने साल 2024 के मार्च महीने तक इस सर्विस को पेश करने की बात कही है.

जब से देश में UPI सर्विसेज पेश की गयी है यह काफी तेजी से आगे बढ़ा है और समय के साथ उतना ही मजबूत भी होता गया है. NPCI के डेटा रिकार्ड्स की अगर माने तो अक्टूबर क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन महीने में ही करीबन 7.3 बिलियन ट्रांजैक्सन दर्ज किया गया और इनकी कुल वैल्यू 12.11 ट्रिलियन की थी. इसी बात से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आने वाले समय UPI किस हद तक आगे बढ़ने वाला है. बता दें UPI अब केवल भारत में ही नहीं बल्कि भूटान, नेपाल, बेल्जियम, नीदरलैंड्स, लक्सेम्बर्ग, यूनाइटेड किंगडम और स्विट्ज़रलैंड जैसे कई देशों में भी उपलध हो चुके हैं.

भारत में शुरू हुआ सेमीकंडक्टर और iPhone मैन्युफैक्चरिंग प्लांट

इस साल हुए बदलावों की बात करें तो उनमें iPhone मैन्युफैक्चरिंग प्लांट और सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भी शामिल है. साल 2020 के बाद से ही कई बड़ी कंपनियों ने देश में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट की स्थापना की है और कई कंपनियों ने अपने प्लांट्स को बढ़ाया भी है. जानकारी के लिए बता दें Foxconn ने भारत में अपनी iPhone निर्माण क्षमताओं का विस्तार करने के लिए भारत में अतिरिक्त 500 मिलियन डॉलर्स का निवेश भी किया है, ऐसे समय में जब Apple चीन पर अपनी निर्भरता कम करने और दुनिया भर के बाजारों में अपनी क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन को कौन उत्पादन क्षमताओं में विविधता लाने की योजना बना रही है. केवल यही नहीं कंपनी ने भारत में अपनी iPhone मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी की शुरुआत की है.

इसी साल अक्टूबर के महीने में रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने ऑफिशियल तौर पर डिजिटल रुपया या फिर ई-रुपया को पेश किया. डिजिटल रुपया एक तरह का डिजिटल करेंसी है और RBI द्वारा मैनेज किया जाता है. इसका ट्रेडिंग मूल्य संप्रभु मुद्रा या दूसरे शब्दों में फिएट करेंसी के समान होता है और चूंकि यह रुपये द्वारा समर्थित है, यह Bitcoin या Dogecoin या Ethereum जैसी क्रिप्टोकरेंसी के रूप में अस्थिर नहीं है. इस डिजिटल करेंसी को दो तरह से पेश किया गया है. प्राइवेट सेक्टर्स के लिए ई रुपया रिटेल और फाइनेंसियल संस्थान के लिए ई रुपया होलसेल को पेश किया गया है.

रेटिंग: 4.14
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 307